Showing posts with label Special Articles. Show all posts
Showing posts with label Special Articles. Show all posts

India's journey from 1947 to 2020 Most Historical Moments Ajadi to Ram Mandir

Independence day of india

भारत अपना 74वा Independence day स्वतंत्रता दिवस मना रहा है आज से 74 साल पहले हमारा देश अंग्रेज़ो से लड़ते लड़ते आजाद हुआ तब से आज तक भारत की कुछ महत्वपूर्ण घटनाक्रम पे नजर डालते है । आजादी से लेकर श्री राम मंदिर का शिलान्यास तक कितना बदला हमारा भारत । 

74Th Independence Day of India

India in 1947 to 2020

आइये जानते है इन 74 सालों मैं हमारा देश कितना बदला है और क्या हुआ 1947 से 2020 तक जानिए इन 74  साल मे घटित कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे मे

वर्ष 1947

  • 14 और 15 अगस्त के मध्यरात्रि को भारत को एक स्वतंत्र देश घोषित किय गया

वर्ष 1948

  • 30 जनवरी को हिंदु राष्ट्रवाद के दहिने विंग के वकिल नाथूराम गोडसे ने महत्मा गाँधी कि हत्या कर दी

वर्ष 1949

  • भारतीय सविधान मे अनुछेद 370 को सामिल किया गया जिसमें जम्मु और कश्मीर राज्य को शामिल किय गया .
  • 26 नवंबर 1949 को संविधान को अंतिम रुप दे दिया गया।

वर्ष 1950

  • 26 जनवरी 1950 संविधान को पुरे देश मे लाघु कर दिया गया और भारत अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी ने भारत गणराज्य के जन्म की घोषणा की घोषणा की।

वर्ष 1951

  • पहले भारतीय प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू ने भारत की संसद में पहली पंचवर्षीय योजना प्रस्तुत की। योजना मुख्य रूप से प्राथमिक क्षेत्र के विकास पर केंद्रित था ।

वर्ष 1952

  • भारत मे पहला आम चुनाव हुआ । मतदान 25 अक्टूबर, 1951 और 27 मार्च, 1952 के बीच हुआ था।

वर्ष 1956

  • दूसरी पंचवर्षीय योजना भारत की संसद को प्रस्तुत की गई जो तेजी से औद्योगिकीकरण पर केंद्रित थी। और इसी साल दिसंबर मे भारतीय संविधान के जनक कहे जाने वाले बाबा साहेब भीम राव  अंबेदकर का निधन हो गया ।

वर्ष 1957

  • जम्मू-कश्मीर अपने स्वयं के संविधान को मंजूरी देता मिली . दूसरा आम चुनाव हुआ .

वर्ष 1959

  • 14 वे दलाई लामा भारता छोड़ चीन चले गये जिसे चीन भारत के युद्ध प्रमुख्य कारण माना जाता है

वर्ष 1960

  • काफी विरोध के बाद बॉम्बे को महाराष्ट्र और गुजरात मे विभाजित किया गया

वर्ष 1962

  • चीन भारत युद्ध जिसमें भारत ने 1300 से अधिक सेना शहीद हुये और हजारों घायल हुये ,नागालैंड राज्य का गठन हुआ

वर्ष 1964

  • 27 मई को नेहरू गुजर गये , मृत्यु का कारण दिल का दौरा माना जाता था । नेहरू की मृत्यु के बाद, गुलजारिलाल नंद ने अभिनय प्रधान मंत्री के रूप में शपथ ली

 वर्ष 1965

  • भारत-पाकिस्तानी युद्ध पाकिस्तान और भारत के बीच अप्रैल 1965 और सितंबर 1965 के बीच होने वाली झड़पों की समाप्ति थी। दोनों देशों को भारी हताहतों का सामना करना पड़ा।

 वर्ष 1966

  • पंजाब राज्य को तीन अलग अलग राज्यों विभाजित किया गया हरियाणा हिमाचल और पंजाब
  • लाल बहादुर शास्त्री और पाकिस्तानी राष्ट्रपति अयूब खान सोवियत संघ के प्रधान मंत्री कोसिजिन के साथ टास्केंट में मिले, और ' टास्केंट समझौते ' पर हस्ताक्षर करते हैं। उसी रात, लाल बहादुर शशत्री नींद में मर जाते हैं, कहा जाता है कि साँस रुकने के कारण उनकी मौत हो गई इनके मौत के बाद गुलजारी लाल नंदा को फिर से प्रधानमंत्री बनाया गया .

वर्ष 1969

  • ISRO का गठन

वर्ष 1971

  • भारत पाकिस्तान के साथ तीसरे युद्ध। पूर्वी पाकिस्तान पाकिस्तान से विभाजित हुआ , और बांग्लादेश एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में पैदा हुआ।

वर्ष 1972

  • राज्य मेघालय का निर्माण

वर्ष 1974

  • भारत का पेहला परमाणु परीक्षण पोखरण मे किया गया

वर्ष 1975

  • कोंग्रेस सरकार ने देश मे Emergency लागू किया

वर्ष 1977

  • Emergency खत्म होते हि देश मे पेहला नॉन कोंग्रेस कि सरकार बनी

वर्ष 1979

  • मदर टेरेसा को नोबेल पुरुस्कार से सम्मानित किया गया

वर्ष 1980

  • तत्कालीन सरकार का पतन और भारतीय जनता पार्टी BJP का गठन ,संजय गाँधी का निधन

वर्ष 1983

  • कपिल देव के नेतृत्व मे भारत ने क्रिकेट मे पहला World Cup जीता

सन 1984

  • इंदिरा गाँधी को उसके हि बॉडीगार्ड ने गोली मार दी 
  • इसी साल भोपाल में Union Carbide India Limited के प्लांट से जहरीली गैस के रिसाव से तकरीबन 4000 लोग मारे गये

सन 1985

  • आतंकवादी ने Air India के Flight को बम से उड़ाया जिसमें 268 कनाडा 27 ब्रिटिश और 24 भारत के नागरिक मारे गये

वर्ष 1987

  • राज्य गोवा का निर्माण

वर्ष 1988

  • प्रधानमंत्री राजीव गांधी चीनी नेता डेंग ज़ियाओपिंग से मिलने के लिए चीन गये

वर्ष 1989

  • जम्मु कश्मीर मे आतंकवाद का प्रकोप

वर्ष 1990

  • कर्नाटक और तमिलनाड़ु के बीच कावेरी तत्बंध बनाया गया

वर्ष 1991

  • राजीव गाँधी की चुनावी रैली के दौरन सुसाइड बम द्वारा हत्या

वर्ष 1992

  • अयोध्या मे बाबरी मस्जिद तोड़ा गया जिसे तोड़ कर भगवान राम का भव्य मँदिर बनाने कि कोशिश कि गई और वर्ष 2020 एमडबल्यू भव्य राम मंदिर का शिलान्यास किया गया । 

वर्ष 1993

  • मुम्बई मे बम ब्लास्ट जिसमें 500 लोग मारे गये और तकरीबन 700 लोग घायल हुये

वर्ष 1994

  • सुष्मिता सेन और ऐश्वर्या राय क्रमश मिस यूनिवर्स और मिस वर्ल्ड खिताब जीते ।

 वर्ष 1999

  • कारगिल युद्ध

 वर्ष 2000

  • उत्तराखंड ,झारखंड और छत्तीसगढ़ ये तीन नये राज्य क विभाजन

 वर्ष 2001

  • लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) और जयश-ए-मोहम्मद (जेएम) के पांच आतंकवादियों ने 13 दिसंबर को भारत की संसद पर हमला किया था। हमले में 14 लोगों की मौत हुई - 6 दिल्ली पुलिस कर्मियों, 2 संसद सुरक्षा सेवा कर्मियों, 1 माली, और 5 आतंकवादी

वर्ष 2002

  • गुजरात में सांप्रदायिक हिंसा टूट गई गोधरा रेलवे स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस का एक कोच आग लगा दिया गया

वर्ष 2005

  • सूचना का अधिकार कानून लागू जिसमें देश के नागरिक को किसी प्रकार का सूचना पाने का अधिकार दीया गया

वर्ष 2007

  • प्रतिभा पाटिल भारत की पहली महिला राष्ट्रपति बनी

वर्ष 2008

  • अभिनव बिंद्रा ( shooting )  बीजिंग मे पहला स्वर्ण पदक जीता
  • इसी साल मुम्बई के हॉटल ताज छत्रपति शिवजी टर्मिनल और Leo pod cafe मे आतंकवादी हमला हुआ

वर्ष 2011

  • 28 साल के बाद भारतीय क्रिकेट टीम ने विश्व कप जीता

वर्ष 2012

  • दिल्ली मे  लड़की के साथ गैंग रेप किया गया जिसकी 13 दिन के बाद मौत हो गई ये घटना पूरे देश के सुरक्षा व्यवस्था को हिला के रख दी

वर्ष 2013

  • उत्तराखंड मे भीषण बाढ़ जिसमें तकरीबन 6000 लोग बेघर हो गये

वर्ष 2014

  • नेहरू-गांधी राजवंश को समाप्त करते हुए नरेंद्र मोदी देश के 15 वें प्रधान मंत्री बने। 
  • इसी साल देश के 29 राज्य  तिलंगाना बना

 वर्ष 2015

  • अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने दिल्ली में भारत के गणतंत्र दिवस परेड में भाग लिया है, ऐसा करने  वाले वे देश का पहला अमेरिकी प्रमुख बने

वर्ष 2016

  • नवंबर 2016 मोदी सरकार ने पुरे देश मे 500 और 1000 के नोट क़े इस्तिमाल पर बैंड लगा दी

वर्ष 2017

  • 1 जुलाई 2017 से पुरे देश मे GST लागू कर दीया गया
  • पंजाब सरकार ने सभी सरकारी संस्था मे लड़कियों की शिक्षा नर्सरी से पीएचडी तक कि पढ़ाई मुफ्त कर दी
  • पुरुष hockey Team ने 2017 एशिया कप जीता
  • सुप्रीम कोर्ट ट्रिपल तालाक के अभ्यास पर प्रतिबंध लगा दिया ।

वर्ष 2018

  • भारत के अंडर -19 क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड में फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर अंडर -19 क्रिकेट विश्व कप जीता

वर्ष 2019

  • चंद्रयान के द्वारा भारत ने चाँद पर अपना उपग्रह भेजा ,
  • तीन तलाक पर पूर्णत प्रतिबंध
  • जम्मू कश्मीर से धारा 370 हमेशा के लिए हटाने का एतिहासिक फैसला लिया गया ।

वर्ष 2020

  • ये साल सिर्फ भारत के लिए ही नहीं बल्कि पूरे दुनिया के लिए बेहद कष्टदायक रहा ।
  • 30 January को भारत ने माना की China से फैला Coronavirus (COVID-19) देश मे फैलने का Alert जारी कर दिया और इसे महामारी घोषित कर दिया गया ।
  • February मे दिल्ली मे CAA और NRC के विरोध मे दंगे हुये जिसमे सैकड़ो लोगों ने जान गवाई ।
  • 23 मार्च 2020 को देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने Coronavirus महामारी के फैलने से 21 दिन का देशव्यापी Lockdown की घोषणा की और देखते ही देखते ये Coronavirus पूरे देश मे फ़ेल गया और July आते आते ये तकरीबन 10 लाख से भी अधिक लोगों को अपने चपेट मे ले लिया ।
  • इसी वर्ष 5 अगस्त को भारत के आजादी के 74 वें साल का सबसे बड़ा फैसला हुआ 500 वर्ष बाद अयोध्या मे भव्य राम मंदिर का शिलान्यास किया गया जिसे एक एतिहासिक उपलब्धि मणि गई ।

 

इस प्रकार इन 74  सालों मे बदला हमारा भारत । दुनिया मे सबसे तेजी से बढ्ने वाली अग्रणी विकासशील देशो मे शामिल हो गया और इस आधुनिक भारत मे लोगों को बेहतर जिंदगी बनाए रखने के लिए भारत सरकार पुरजोर कोशिश करती आ रही है । 








इसे भी जानें



Sources - Google.com



दोस्तो अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो Like, Comment, Subscribe और share करना न भूले इससे हमे और भी बेहतर आर्टिक्ल लिखने की प्रेरणा मिलेगी । 


Share:

Value of your language A beautiful Motivational Story in Hindi

दोस्तों दोस्तों अक्सर कम बोलने वाले लोग चर्चित नहीं होते लेकिन कम बोल कर अच्छा बोलने वाले को सभी याद रखते है। पेश है एक ऐसे ही बेहद संदेशात्मक कहानी जो आपको ये भी बताएगी की अगर आपको कुछ बोलना है तो आपको पहले सुनना सीखना होगा । आपसे आग्रह है की आप इसे पूरा पढे --Value of your language A beautiful Motivational Story in Hindi

Share:

most heart touching love story of purnia,bihar

most heart touching love story of purnia,bihar
हम सभी के जीवन मे कुछ पल ऐसे आते है जिसे हम ना चाहते हुये भी कभी भूल नहीं सकते वो खास पल परछाई की तरह हमेशा हमारे साथ जुड़ी रहती है जिसे हम कुछ देर के लिए छुपा तो सकते है लेकिन उसे कभी हटा नहीं सकते ।
Share:

Dreams comes True a Beautiful Short story in hindi

short story in hindi

कहते है सपने कभी अपने नहीं होते लेकिन फिर भी हर इंसान अपने जीवन मे अपनी ख्वाइश पूरी करने की जद्दोजहज मे लगा रहता है लेकिन कभी कभी इंसान के सपने पारिवारिक और सामाजिक रीति रिवाजों के बोझ तले दब जाता है तो कभी कभी इंसान इन कुरुतियों से लड़ते हुये अपने दिली ख्वाइश पूरी कर लेता है चाहे वो इत्तिफ़ाक से हो या उन रीतिरिवाजों के दायरे मे हो लेकिन सच तो ये है की काश ये रीतिरिवाज जात पात धर्म का बंधन ना होता तो शायद इंसान धरती पर सबसे ज्यादा सुखी होता । ऐसे ही सामाजिक भावनाओ से जुड़ी है आज की ये लघु कथा जिसे KnowledgePanel के नियमित  Reader Mr. Sourav AnkitChourasia ने भेजा है जो अपने भावनाओं को शब्दों मे पिरो कर पेश किया है, आप इनकी लिखी और भी रचनाओं जैसे कविता,कहानी आदि को इनके Personal Blog - https://blogbyankit.blogspot.com पर पढ़ सकते है

सपने हुये अपने 


कहानी की शुरुआत होती है एक माध्यम वर्गीय परिवार से जहां ठाकुर साहेब अपने धर्मपत्नी और अपनी चार पुत्री और एक पुत्र के साथ बड़े खुशी खुशी ढेर सारे सपने सँजोये अपना जीवन व्यतीत कर रहे थे और अपनी दवा की दुकान से अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे थे , वक्त के साथ जीवन अपनी दूरी तय कर रही थी और एक वक्त ऐसा आ गया जहां ठाकुर साहेब को अपनी पुत्री भारती की शादी की चिंता सताने लगी और बहुत असरे बाद वो वक्त भी आ गया जब उनकी पुत्री भारती के रिश्ते के लिए लड़के वाले उनके घर आने वाले थे ये खबर बिना किसी देरी के वो अपनी धर्मपत्नी को देना चाहत थे और ठाकुर साहेब अपने दवा की दुकान से सारे काम निपटा के घर आए

"अजी सुनती हो ठकुराइन !! -  कहां हो ?? ज़रा फ्रिज से ठंडा पानी लेती आओ, बड़ी प्यास लगी है और सुनों अपनी भारती के लिए रिश्ता आया है। लड़का परिवहन विभाग में काम करता है। ज़रा मेरे कमरे में पानी लेकर जल्दी  आओ "--- ये कहते हुए ठाकुर साहब भरी दोपहरीया में पसीना पोंछते हुए अपने कमरे में चले गए (उनकी धर्मपत्नी शिक्षिका हैं।) 

और 2-3 के बाद उनके घर लड़के वाले का आगमन होता है ठाकुर साहेब सारे काम निपटा कर जल्दी घर लौट आए ताकि मेहमानो के खातिरदारी मे कोई कमी ना रह जाए और सच मे मेहमानों की खातिरदारी में ठाकुर साहब ने कोई कसर नहीं छोड़ी। महंगे से महंगे स्वादिष्ट मिठाइयाँ तरह तरह के पकवान परोसे गए। लड़के और उसके परिवार वालों ने भारती को देखा। भारती उन्हें पसंद आ गई।

इसके बाद दौर शुरू हुआ लेनदेन की बातों का। चूंकि लड़का सरकारी नौकरी में था तो हर लडकी के पिता की भांति भारती के पिता भी इस रिश्ते को हाथ से जाने नहीं देना चाहते थे। लेकिन लड़के वालों की मांग सुनकर भारती ने कड़े शब्दों में मना कर दिया था। भारती की मां को भी ये रिश्ता दहेज के कारण मंजूर न था और आखिर में रिश्ते के लिए ठाकुर साहब ने 'ना' कह दिया।


भारती अपने चार बहनों और एक भाई में मंझली थी। उस लड़के से शादी ना होना शायद भारती के लिए अच्छा ही हुआ क्यूंकि वह आगे पढ़ना चाहती थी और कुछ बनना चाहती थी भारती अत्यन्त सुलझी हुई शांत स्वभाव की लडकी थी । हाई स्कूल पास करने के बाद उसने कॉमर्स में अपनी रुचि जताई और इसी में अपना भविष्य ढूंढने में लग गई। हालांकि उसने स्नातक में कॉमर्स की पढ़ाई के साथ- साथ बैंकिंग और अन्य परीक्षाओं के लिए खुद को तैयार करने की कोशिश की ताकि कोई नौकरी पा सके और आगे पीएचडी की पढ़ाई और रिसर्च करने में कोई आर्थिक समस्या न हो। बरहाल, पढ़ाई के दौरान उसके कई दोस्त बने जो उसे काफ़ी अजीज होते थे। इसी दौरान हर लड़की के जैसे भारती के भी कुछ ख्वाब पलने लगे मन किसी लड़के पर आ गया ।

इन्ही मे से एक लड़का था ' भारत' , बहुत मैच्योर, पारिवारिक और व्यवहारिक। इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ साथ पार्ट टाइम जॉब भी कर रहा था। बातचीत थोड़ी आगे बढ़ी पहले दोस्ती फ़िर प्रेम के आगोश मे डूबते गए , फ़िर घर वाले और समाज, जात पात, उंच नीच का भय दोनों के मन में आने लगा । भारती इस रिश्ते में आगे बढ़ने से पहले अपने पैरों पर खड़ी हो जाना चाहती थी ताकि उसके परिवार वाले राजी खुशी उन दोनों को अपना लें।

खैर समय अपनी गति से चलता है कुछ दो-तीन सालों के बाद भारती यूजीसी नेट क्वालीफाई करती है और कुछ टाइम बाद उसका सलेक्शन गेस्ट लेक्चरर के तौर पर पास के ही कॉलेज में हो जाता है। इधर भारत भी अपनी पढ़ाई पूरी कर एक अच्छे मल्टीनेशनल कंपनी में काम कर रहा थ ।

पढे सच्ची घटना पर आधारित एक सच्ची प्रेम कहानी

कुछ महीने बैंगलोर में काम करने के बाद उसे कंपनी विदेश भेजने की तैयारी में थी ,लेकिन विदेश जाने से पहले वो भारती के साथ घर बसा लेना चाहता था लेकिन परिवार वालों से कहने में संकोच भी करता था । लेकिन
आपसी तालमेल के बाद दोनों एक दिन मुकर्रर करते हैं और अपने परिवार जनों के सामने अपने अपने दिल की बात रखते हैं। काफी मान मनौवल के बाद भारती के माता पिता भारत और उसके माता पिता से मिलने को राजी हो जाते हैं। इधर भारत भी अपने माता पिता को जैसे तैसे कर के मना लेता है। तय दिन में दोनों परिवार वाले मिलते हैं बातों और मुलाकातों के शीलशिला मे आखिरकार जीत 'भारती और भारत' के प्रेम की होती है और शादी तय हो जाती है।


तय तारीख पर दोनों की शादी हो जाती है। दोनों परिवारों के बीच भी धीरे धीरे तालमेल बैठ जाता है और सभी लोग प्रेम से रहने लगते हैं। 

और इस प्रकार ठाकुर साहेब के सपने भी पूरे हो जाते है और भारती अपने मोहब्बत को पाने मे कामयाब भी हो जाती है सपने हकीकत मे बदल तो जाते है।

ये कहानी तो यहीं अपने एक सुखद अंत तक पहुंच गई। लेकिन काश!! ये कहानी वर्तमान मे हर भारती और भारत की होती तो समाज मे फैली इस जात-पात,धर्म,रीतिरिवाज जैसे दूषित बीमारी का निदान हो जाता।

रिश्ते चाहे जैसे भी बने अगर वे प्रेम और संस्कार के प्रांगण मे हो तो उसे कोई रीतिरिवाज और जात पात नहीं रोक सकती ।

Edited By - Mr. Angesh Upadhyay
Presented By - Knowledge Panel


Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in
Share:

Economy of Bihar- fasted growing state of india


नमस्कार दोस्तो ,भारत,एक ऐसा देश जहां दुनिया के हर रंग देखने को मिलते है  देश के 28 States (राज्य) और 8 Union Territories (केंद्रशासित प्रदेश)और यहाँ 130 करोड़ से भी ज्यादा रहने वाले लोग भारत को अपनी एक अलग पहचान दिलाती है । भारत की पौराणिक सभ्यता, संस्कृति, भाषा व दुनिया की सबसे बड़ी लोकतंत्र ही इसे विविधिताओ का देश बनाता है।



Share:

Hindi typing without any typing knowledge



दोस्तो अगर आपके पास कम्प्युटर या लैपटाप है और आपको अक्सर हिन्दी लिखने मे परेशानी आती है तो आज Knowledge Panel मे आप जानेगे की कैसे आप हिन्दी टायपिंग बिना जाने भी हिन्दी मे आसानी से टाइप कर सकते है । 
Share:

Mutual Funds Kya hai and how to earn money from mutual funds in India

Hello Friends अक्सर हम Bank मे या अपने दोस्तो रिस्तेदारों से Mutual Funds , SIP, Lumpsump जैसे investment करने के तरीकों के बारे मे सुनते रहते है लेकिन इसके बारे मे जानकारी ना होने के कारण हम इसे ignore कर देते है तो Knowledge Panel के इसी Segments मे जानते है क्या होता है Mutual Fund और कैसे करते है इसमे Investment ?


how to earn money from mutual funds in india

What is Mutual Funds ?

Share:

childhood is the happiest moment of a person's life

childhood is the happiest moment of a person's life

दोस्तो आज कल की इन आधुनिक और  सवेदनशील दुनिया मे शायद ही कभी हुमे कुछ ऐसे पल को याद करने का मौका मिलता है जिस पल के साथ कभी हमारा अटूट रिश्ता हुआ करता था । आज Knowledge Panel  मे हम  ऐसे ही कुछ अनोखे और कभी न भूल पाने वाले पलों की चर्चा करेंगे।
Share:

father's day kyu manate hai Fathers day in india

जिस प्रकार माँ को इस सृष्टि का आधार माना गया है वही पिता को इस धरती का सहारा मनाया गया है इसलिए हर वर्ष सहनशीलता की मूर्ति कहे जाने वाले दुनिया के हर पिता (Father) के सम्मान मे Fathers Day मनाया जाता है। आइये जानते है क्यूँ और कब मनाते है Fathers Day और जीवन मे पिता का साया क्यूँ जरूरी है । 

Father's Day


father's day kyu manate hai

Share:

International Yoga Day 2020

International Yoga Day

Hello Fiends स्वास्थ्य ही धन है अगर इंसान इस कहावत को अपने जीवन मे शामिल कर ले तो उसे अपने पूरे जीवन मे धन की कभी कमी नहीं होगी क्यूंकि एक स्वास्थ्य इंसान ही धन अर्जित कर सकता है, लेकिन वर्तमान परस्थिति मे कोई कितना भी प्रयास कर ले बीमारी से खुद को दूर तो रख सकता है लेकिन उससे दूर नहीं भाग सकता इसी स्वास्थ्य को ध्यान मे रखते हुये आज हम चर्चा करेंगे Yoga (योग) की जिसमे हर बीमारी को दूर करने की ताकत है ।



लोगों को योग के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए ही प्रत्येक वर्ष 21 जून को International Yoga Day (अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस) मनाया जाता है ।
Share:

World Thalassemia Day celebrated on May 8 every year


Hello Friends पुरानी कहावत है "स्वास्थ्य ही धन है" Health is Wealth ,एक स्वस्थ व्यक्ति किसी अमीर व्यक्ति से ज्यादा धनी माना जाता है ,इसलिए  आज हम चर्चा करेंगे आपके Health की ,आज आप जनाएंगे दुनिया की एक गंभीर लाइलाज बीमारी Thalassemia (थेलेसीमिया ) के बारे मे ।

हर साल 8 May को पूरी दुनिया मे International Thalassaemia Day के रूप मे मनाई जाती है जो सभी करोड़ो Thalassemia (थेलेसीमिया ) पीड़ित को समर्पित होता है ।

World Health Organisation (WHO) के अनुसार Thalassemia (थेलेसीमिया) दुनिया के गंभीर लाइलाज आनुवांशिक बीमारी (genetic disorders) मे से एक है । 

आइये जानते है क्या है Thalassemia (थेलेसीमिया) और कैसे बचे इस गंभीर बीमारी से ।



What is Thalassemia (थेलेसीमिया) ?



Thalassemia (थेलेसीमिया) एक गंभीर आनुवांशिक बीमारी (genetic disorders)  है जो किसी को विरासत मे अपने माता पिता से मिलती है,इसका अर्थ ये हुआ की अगर कोई माँ बाप के शरीर मे Thalassemia (थेलेसीमिया) जैसी कोई Blood Diseases है तो उनके होने वाले  बच्चे  मे इस रोग के होने का खतरा बढ़ जाता है ।

इस रोग के होने पर शरीर की Hemoglobin (हीमोग्लोबिन) निर्माण प्रक्रिया में गड़बड़ी हो जाती है जिसके कारण रक्तक्षीणता (Anemia)के लक्षण प्रकट होते हैं। इसकी पहचान बच्चे के तीन माह की आयु के बाद ही होती है। इसमें रोगी बच्चे के शरीर में रक्त की भारी कमी होने लगती है जिसके कारण उसे बार-बार बाहरी खून चढ़ाने की आवश्यकता होती है।


Hemoglobin (हीमोग्लोबिन) की मात्रा कम हो जाने से शरीर दुर्बल हो जाता है तथा अशक्त होकर हमेशा किसी न किसी बीमारी से ग्रसित रहने लगता है। जिसे 
Thalassemia (थेलेसीमिया) कहा जाता है । 



Thalassemia (थेलेसीमिया) का इलाज और होने के कारण 


ये एक लाइलाज बीमारी है जिसका अब तक कोई इलाज उपलब्ध नहीं । Hemoglobin (हीमोग्लोबीन) दो तरह के Protein से बनता है Alpha Globin and Bita Globin,Thalassemia (थेलेसीमिया) से पीड़ित व्यक्ति के शरीर मे इन प्रोटीन में ग्लोबिन निर्माण नहीं होता,जिसके  कारण Red blood cells तेजी से नष्ट होने लगती है , रक्त की भारी कमी होने के कारण रोगी के शरीर Hemoglobin (हीमोग्लोबिन) की कमी हो जाती है जिस कारण बार-बार रक्त चढ़ाना पड़ता है एवं बार-बार रक्त चढ़ाने के कारण रोगी के शरीर में अतिरिक्त Iron जमा होने लगती है, जो Heart,Kidney और Lungs में पहुँचकर मौत का कारण बन जाता है ।

यह बीमारी उन बच्चों में होने की संभावना अधिक होती है, जिनके माता-पिता दोनों के Genes (जींस) में Thalassemia (थैलीसीमिया) होता है। अगर समय रहते Pregnancy (ग्रभावस्था) का दौरान समय समय पे जांच की जाय तो होने वाले बच्चे को इस गंभीर बीमारी से बचाया जा सकता है । 

Medicine Thalassemia पर पूरे विश्व मे अनुसंधान प्रयास जारी है और इसी अनुसंधान ने इस बीमारी को कंट्रोल करने की दावा बनाई है  भारत मे यह Asunra  के नाम से जाना जाता है वेदेशों मे Exjade के नाम से प्रसिद्ध है ये दवाई शरीर मे Iron की मात्रा को Control करने मे सहायक है जिससे Thalassemia के Patient को Extra Iron से होने वाले खतरो से बचाया जा सकता है । 
ये बिलकुल नई दवा है इससे पहले दो तरीको से शरीर से Iron की मात्रा कम करके इसका इलाज होता था । 


पहला Deferasirox injection के जरिए आठ से दस घण्टे तक लौह निकाला जाता है। यह प्रक्रिया बहुत महंगी और कष्टदायक होती है। इसमें प्रयोग होने वाले एक इंजेक्शन की कीमत 135 रुपए होती है। इस प्रक्रिया में हर साल पचास हजार से डेढ़ लाख रुपए तक खर्च आता है। 

दूसरी प्रक्रिया में kelfer नामक दवा (Capsule) दी जाती है। यह दवा सस्ती तो है लेकिन इसका इस्तेमाल करने वाले 30% रोगियों को जोड़ों में दर्द की समस्या हो जाती है। साथ ही इनमें से 1% बच्चे गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं।ऐसे में नई दवा Asunra काफ़ी लाभदायक होगी। यह दवा फलों के रस के साथ मिलाकर पिलाई जाती है और इसकी कीमत 100 रुपये प्रति डोज है।


Thalassemia (थेलेसीमिया) के प्रकार 

Type of Thalassemia 


मुख्यतः यह रोग दो वर्गों में बांटा गया है। Minor और Major 

जब ये रोग किसी बच्चे मे माता पिता मे किस एक से प्राप्त होता है तो इसे Minor Thalassemia कहा जाता है अगर माता पिता दोनों Thalassemia से पीड़ित है तो उसे Major Thalassemia कहते है । 


Thalassemia (थेलेसीमिया) के लक्षण । 


अगर कोई व्यक्ति या बच्चे का सूखता चेहरा, लगातार बीमार रहना, वजन ना ब़ढ़ना और इसी तरह के कई लक्षण दिखाई दे तो वह बच्चों या व्यक्ति में थेलेसीमिया रोग होने पर होने के लक्षण है।


Thalassemia से बचाव 

किसी Thalassemia पीड़ित बच्चे की उम्र 12 से 15 साल होती है इस बीमारी का इलाज करने पर लगभग 25 वर्ष तक जीने की उम्मीद रहती है उम्र के बढ़ते ही Blood की जरूरत ज्यादा लगने लगती है ।  

इससे बचने के लिए स्त्री पुरुष विवाह से पहले Blood Test करा लें तभी आने वाली पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचा जा सकता है। नजदीकी रिस्तेदारों मे विवाह करने से बचें और जिस प्रकार विवाह से पहले स्त्री पुरुष अपने जन्म कुंडली का मिलान करते है उसी प्रकार स्वास्थ्य कुंडली का भी मिलान करना चाहिए ताकि वो खुद को और आने वाले पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचा सके । 


World Health Organisation (WHO) के अनुसार भारत मे प्रत्येक वर्ष 5 से 7 हजार Thalassemia पीड़ित बच्चे का जन्म होता है । केवल Delhi और उसके आसपास के क्षेत्र में ही यह संख्या करीब 1500  है। भारत की कुल Population का 3.5 % Thalassemia (थैलेसीमिया) से पीड़ित है।England में केवल 350 बच्चे इस रोग के शिकार हैं, जबकि पाकिस्तान में 1लाख  और भारत में करीब 10 लाख बच्चे इस रोग से ग्रसित हैं।

आइये इस International Thalassaemia Day के दिन ये संकल्प ले की आने वाले पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचाएंगे क्यूंकी  ये एक जानलेवा बीमारी है जिसका कोई इलाज नहीं सिर्फ बचाव ही इसका इलाज है इसलिए समय समय पर खून की जांच करवाले और अपने आने वाले पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचाए । 

click Here and Get WHO Reports


आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.


Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here


Share:

Featured Post

How Create Copy Box in Blogger Post

Hello Friends अगर आप एक Blogger है तो जाहीर सी बात है आप हर रोज Post लिखते होंगे ऐसे मे कभी कभी आप अपने Readers को कुछ दिखाना चाहते होंगे जो...

Translate