Is chapati good for health so Don’t use leftover dough to make chapati

Hello Friends अगर आप स्वस्थ है या स्वस्थ रहने के पीछे आपके खान पान का उतना ही योगदान रहता है जितना किसी बच्चे के परवरिश पर उसके माँ बाप का, इसलिए अक्सर किसी मोटे ताजे स्वस्थ व्यक्ति को देख कर आप कहते होंगे की ये तो किसी खाते पीते घर से लगता है और जब आप किसी दुबले और बीमार सा दिखने वाले व्यक्ति को देखते होंगे तो आपके मन मे यही ख्याल आता होगा लगता है इसे खाना नहीं मिलता ।


तो मतलब साफ है ,एक अच्छा भोजन न सिर्फआपको स्वस्थ रखता है बल्कि आपके व्यक्तित्व पर भी अच्छा प्रभाव बनाए रखता है ।


इसलिए आज हम बात करेंगे भोजन से जुड़ी एक ऐसे Topic पर जो अक्सर हर घर मे देखने को मिलती है । दोस्तों इस भाग दौड़ भरी जीवन मे हम अक्सर वो काम करते है जो हमे जाने अनजाने मे बीमार करता है और हमे पता भी नहीं चलता । आइये इस बात को बारीकी से समझते है –

हम सब को Chapati यानि रोटी खाना बेहद पसंद है भारतीय भोजन मे रोटी बड़े चाव से खाया जाता है Fibers ,Protein, Minerals और अन्य कई तरह के Vitamins इसमे मौजूद होते है ।

गेहूं (Wheat) या अन्य दूसरे Food Item के आटें से रोटी (Chapati) बनाई जाती है इसमे गेहूं के आटें की रोटी हर कोई खाता भी है और पसंद भी करता है,इस आटें को गूँथ कर और बेल कर रोटी बनाई जाती है कभी बिना बेले हाथ से भी रोटी बना कर आग मे सेक कर इसे बनाया जाता है ।

लेकिन अक्सर हम जल्दबाज़ी मे इस आटें को गूँथ कर फिर्ज मे रख देते है और दूसरे दिन सुबह इसकी रोटी बना कर खाते है अगर आप ऐसा करते है तो ये आपके स्वस्थ पर बुरा असर डाल सकता है ।

गूँथे हुये आटें की रोटी है खतरनाक !

Don’t use leftover dough to make chapati


इसके नुकसान और प्रमुख बातें(Point to be Know)

गूँथे हुये आटें मे Fermentation की प्रक्रिया जल्दी शुरू हो जाती है ऐसे मे इसमे कई तरह के हानिकारक Comical Reaction और Bacteria बनते है जो पेट के लिए नुकसानदेह होता है।

 बासी आटें से बनी रोटी बासी रोटी के समान होती है जो शरीर मे नुकसान पहुँचती है ।

 गेहूं का आटा मोटा अनाज होता है यानि इसे Heavy Food मे गिनी जाती है जिसे Digest होने मे वक्त लगता है इसलिए कब्ज के मरीज को रोटी खाने से माना किया जाता है ऐसे मे बसी आटें की रोटी खाने से सामान्य लोगों को भी धीरे धीरे कब्ज की शिकायत होने लगती है ।

 शास्त्रो के अनुसार बासी आटा पिंड के समान होता है जिसमे नकारात्मक शक्तियों का समावेश होता है साथ मे यह भी माना जाता है की बासी भोजन भूत प्रेतों का भोजन होता है और अक्सर जिस घर मे बासी भोजन की अधिकता होने लगती है तो नकारात्मक शक्तियाँ घर मे प्रवेश करने लगती है ।

 जिस घरों मे ऐसी आदतें होती है वहाँ हमेशा कोई न कोई बीमार रहता है,इसलिए भूल के भी fridge(फ्रिज) मे रखी गूँथे हुये आटें की रोटी नहीं बनानी चाहिए ।

 इसके पीछे वैज्ञानिक कारण भी होती है माना जाता है की गूँथे हुये आटें को जितनी जल्दी हो इस्त्माल कर लेनी चाहिए क्यूंकि इसमे रसायनिक बदलाव बहुत जल्द होने लगते है जो सेहत के लिए नुकसान है।


रोटी खाने के फायदे और नुकसान

ऊपर अपने जाना बासी आटें की रोटी (Chapati) कितनी नुकसान होती है आइये अब जानते है सामान्य तौर पर रोटी खाने के नुकसान और फायदे क्या है ?

नुकसान


 अगर आप तीनों समय यानि सुबह दोपहर और रात को रोटी खाते है तो आज अपनी आदत बदल दें क्यूंकि ये आपके शरीर के लिए नुकसान साबित हो सकती है ।

 रोटी मे Carbohydrate (कार्बोहाइड्रेट) की मात्रा अधिक होती है और हर इंसान को हर रोज तकरीबन 25 ग्राम Carbohydrate चाहिए लेकिन अगर आप तीनों वक्त रोटी खाते है तो आपको हर रोज 400 ग्राम Carbohydrate मिलेगी जो नुकसानदेह होगा ।

 अधिक कार्बोहाइड्रेट शरीर मे Fat बनती है और इंसान का वजन बढ़ता है हालांकि आप अगर नियमित Exercise करते है तो वजन बढ्ने की संभावना कम होगी ।

फायदा

 रोटी के Calcium और Protein की मात्रा भी पाई जाती है जो हड्डियों को मजबूत करती है इसलिए अगर वे लोग जो जोड़ों के दर्द से परेशान है उन्हे नियमित सीमित मात्रा मे रोटी का सेवन करना चाहिए ।


अब आप समझ गए होंगे की रोटी हमारे लिए कब कैसे और कैसे नुकसानदेह है लेकिन इतना साफ है की रोटी (Chapati) सेहत के लिए नुकसानदेह तब होगा जब आप इसका अनियमित सेवन करेंगे लेकिन अगर इसे नियमित और सीमित मात्रा मे लिया जाए तो ये बेहद फायदेमंद है । 



हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in
Share:

0 comments:

Post a Comment

अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी या फिर कोई संदेह हो तो हमे बताएं. If you have any doubts please let me know.

Featured Post

Chhath Puja Kyun Manate Hai Happy Chhath Puja 2020

Happy Chhath Puja हैलो दोस्तो वर्ष का अंतिम महिना पर्व त्योहारों से भरा होता है Deshara Diwali, भैया दूज , छठ , Christmas जैसे कई सारे Fes...

Translate