cheque bounce reasons.Cheque bounce hone par kya kare in hindi

How to protect myself from cheque bounce

Hello Friends वर्तमान मे Digital Payment का चलन बहुत बढ़ गया है हर कोई पैसे के लेन देन के लिए Digital Platform जैसे UPI,Mobile Banking,Internet Banking etc का इस्त्माल करते है और कई लोग Payment Transfer के लिए Cheque कर प्रयोग भी करते है लेकिन कभी कभी Digital Technology दगा दे जाती है और आपका Cheque Bounce कर जाता है ।

Share:

How to use vlookup formula in excel जानिए MS-Excel मे कैसे लगाए VLOOKUP and HLOOKUP


Agar aap kisi Office me Data Base Managements se jude work karte hai to aap MS Excel jarur use karte honge  MS Excel ke Important Formula jo Aksar har Office me Use hota wo hai VLOOKUP and HLOOKUP
Share:

most heart touching love story of purnia,bihar

most heart touching love story of purnia,bihar
हम सभी के जीवन मे कुछ पल ऐसे आते है जिसे हम ना चाहते हुये भी कभी भूल नहीं सकते वो खास पल परछाई की तरह हमेशा हमारे साथ जुड़ी रहती है जिसे हम कुछ देर के लिए छुपा तो सकते है लेकिन उसे कभी हटा नहीं सकते ।
Share:

father's day kyu manate hai Fathers day in india

जिस प्रकार माँ को इस सृष्टि का आधार माना गया है वही पिता को इस धरती का सहारा मनाया गया है इसलिए हर वर्ष सहनशीलता की मूर्ति कहे जाने वाले दुनिया के हर पिता (Father) के सम्मान मे Fathers Day मनाया जाता है। आइये जानते है क्यूँ और कब मनाते है Fathers Day और जीवन मे पिता का साया क्यूँ जरूरी है । 

Father's Day


father's day kyu manate hai

Share:

What is Encephalitis,cause,symptoms and treatment - chamki bukhar in hindi

Encephalitis



Encephalitis यानि चमकी बुखार 


बीते कुछ दिनों मे भारत के बिहार राज्य मे चमकी बुखार (Encephalitis) का कहर है बिहार के मुजफ्फरपुर और इसके आस पास के इलाको मे चमकी बुखार का प्रकोप है जिसमे तकरीबन 150 से भी ज्यादा बच्चे की मौत हो चुकी है जिनकी उम्र तकरीबन 15 वर्ष तक बताए गए है । ये प्रकोप दिनों दिन फैलती जा रही है यहाँ के अस्पताल पीड़ित बच्चो से भरा पड़ा है । इसके पीछे मुजफ्फरपुर का विश्वप्रसिद्ध लीची को वजह माना जा रहा है। 


आइये जानते है क्या है,चमकी बुखार और कैसे अपने बच्चों को इस गंभीर बीमारी से बचाएं  

चमकी बुखार को दिमागी और जापानी बुखार के नाम से भी जाना जाता है। दरअसल, चमकी बुखार को डॉक्टरी भाषा में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) या Encephalitis कहा जाता है। अब तक उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और उसके आस-पास जिलों से दिमागी बुखार से बच्चों की मौत होने के मामले सामने आते थे लेकिन पहली बार बिहार के मुजफ्फरपुर एवं अन्य जिलों में चमकी बुखार ने अपना रौद्र रूप दिखाया है।

यह बीमारी आम तौर गर्मी एवं उमस के दौरान 0 से 15 साल के बच्चों को अपनी चपेट में लेती है। खास बात यह है कि यह बीमारी ज्यादातर उन बच्चों को अपनी चपेट में लती है जो कुपोषित होते हैं। कई मामलों में इस चमकी बुखार का कारण लीची खाना भी बताया गया है। चिंता की बात यह है की इतने गंभीर रूप से फैलने के बाद भी चिकिसक इस बीमारी को रोकने मे असमर्थ दिख रहें है और नतीजा ये हो रहा है की इलाज के अभाव मे बच्चे मौत के मुह मे समा रहे है । 

Doctors के अनुसार हर्प्स वायरस, इंट्रोवायरस, वेस्ट नाइल, जापानी इंसेफलाइटिस, इस्टर्न इक्विन वायरस, टिक-बोर्न ,इंसेफलाइटिस बैक्टीरिया, फुंगी, परजीवी, रसायन, टॉक्सिन ये कुछ ऐसे Virus है जिसके वजह से चमकी बुखार बच्चे के मस्तिष्क के कोशिकाओं एवं तंत्रिकाओं में सूजन आ जाती है जिसे दिमागी बुखार होने लगता है जिसमे बच्चे के पूरे शरीर मे अकड़न सी होने लगती है भारत में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम(AES) यानि चमकी बुखार का मुख्य वजह जापानी वायरस को माना जाता है।


लीची खाने से क्यूँ होती है चमकी बुखार

लीची को इसकी खास वजह इसलिए बताई जा रही है की जो बच्चे कुपोषण का शिकार है वो अक्सर भूखे पेट कुछ पक्के और अधपके लीची का सेवन कर रहे है और खास बात ये है की जिस इलाके (मुजफ्फरपुर) मे चमकी बुखार का सबसे अधिक कहर है वह पूरी दुनिया मे लीची के लिए प्रसिद्ध है । 

दरअसल लीची में प्राकृतिक रूप से हाइपोग्लाइसिन ए एवं मिथाइल साइक्लोप्रोपाइल ग्लाइसिन टॉक्सिन पाया जाता है। अधपकी लीची में ये टॉक्सिन अपेक्षाकृत काफी अधिक मात्रा में मौजूद रहते हैं। ये टॉक्सिन शरीर में बीटा ऑक्सीडेशन को रोक देते हैं और हाइपोग्लाइसीमिया (रक्त में ग्लूकोज का कम हो जाना) हो जाता है एवं रक्त में फैटी एसिड्स की मात्रा भी बढ़ जाती है। चूंकि बच्चों के लिवर में ग्लूकोज स्टोरेज कम होता है, जिसकी वजह से पर्याप्त मात्रा में ग्लूकोज रक्त के द्वारा मस्तिष्क में नहीं पहुंच पाता और मस्तिष्क गंभीर रूप से प्रभावित हो जाता है। इस तरह की बीमारी का पता सबसे पहले वेस्टइंडीज में लीची की तरह ही 'एकी' फल का सेवन करने से पता चला था। इसलिए ध्यान रखे बच्चों को खाली पेट लीची ना खिलाएँ 


चमकी बुखार (एईएस) के लक्षण 

What is the symptoms of spinal fever


  1. मिर्गी जैसे झटके आना (जिसकी वजह से ही इसका नाम चमकी बुखार पड़ा)
  2. बेहोशी आना
  3. सिर में लगातार हल्का या तेज दर्द
  4. अचानक बुखार आना
  5. पूरे शरीर में दर्द होना
  6. जी मिचलाना और उल्टी होना
  7. बहुत ज्यादा थका हुआ महसूस होना और नींद आना
  8. दिमाग का ठीक से काम न करना और उल्टी-सीधी बातें करना
  9. पीठ में तेज दर्द और कमजोरी
  10. चलने में परेशानी होना या लकवा जैसे लक्षणों का प्रकट होना।

अगर बच्चे को बुखार आ जाए तो क्या करें

  1. बच्चे को तेज बुखार आने पर उसके शरीर को गीले कपड़े से पोछते रहें.ऐसा करने से बुखार सिर पर नहीं चढ़ेगा.
  2. Paracetamol की गोली या Syrup डॉक्टर की सलाह पर ही रोगी को दें.
  3. बच्चे को साफ बर्तन में एक लीटर पानी डालकर ORS का घोल बनाकर दें. याद रखें इस घोल का इस्तेमाल 24 घंटे बाद न करें. 
  4. बुखार(Fever) आने पर रोगी बच्चे को दाएं या बाएं तरफ लिटाकर अस्पताल ले जाएं.
  5. बच्चे को बेहोशी की हालत में छायादार स्तान पर लिटाकर रखें.
  6. बच्चों को रात में अच्छी तरह से खाना खिलाकर सुलाएं। खाना पौष्टिक होना चाहिए।
  7. बुखार आने पर बच्चे के शरीर से कपड़े उतारकर उसे हल्के कपड़े पहनाएं. उसकी गर्दन सीधी रखें


क्या न करें 


  1. बच्चे को खाली पेट लीची न खिलाएं.
  2. अधपकी या कच्ची लीची का सेवन करने से बचें.
  3. बच्चे को कंबल या गर्म कपड़े न पहनाएं.
  4. बेहोशी की हालत में बच्चे के मुंह में कुछ न डालें.
  5. मरीज के बिस्तर पर न बैठें और न ही उसे बेवजह तंग करें.
  6. मरीज के पास बैठकर शोर न मचाएं.

सावधानी 

गर्मी के मौसम में फल और खाना जल्दी खराब हो जाता है आप इस बात का खास ख्याल रखें कि बच्चे किसी भी हाल में जूठे और सड़े हुए फल नहीं खाए। बच्चों को गंदगी से बिल्कुल दूर रखें। खाने से पहले और खाने के बाद हाथ जरूर धुलवाएं,साफ पानी पिएं, बच्चों के नाखून नहीं बढ़ने दें। बच्चों को गर्मियों के मौसम में धूप में खेलने से भी मना करें। रात में कुछ खाने के बाद ही बच्चे को सोने के लिए भेजें। डॉक्टरों की मानें तो इस बुखार की मुख्य वजह सिर्फ लीची ही नहीं बल्कि गर्मी और उमस भी है। 


Encephalitis


150 बच्चो की मौत का कारण बनी ये बुखार हर वर्ष गर्मी के मौषम मे पूरे देश मे फैलती है हर वर्ष भारत के तकरीबन 18 से भी ज्यादा राज्य बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, त्रिपुरा, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल मे इस चमकी बुखार यानि Encephalitis से हर वर्ष 20000 बच्चे इस बीमारी के चपेट मे आते है 

सिर्फ भारत ही नहीं दुनिया के 24 देश इस Encephalitis बीमारी से ग्रस्त है इसमे दक्षिण-पश्चिम एशिया और पश्चिमी प्रशांत के देश शामिल है WHO (World Health Organisation) के अनुसार इन देशों मे 300 करोड़ लोगो पे इस Virus का खतरा है भारत मे 2011 से अब तक तकरीबन 92000 मामले सामने आए है जिसमे 12000 की मौत हो चुकी है । 

इन सब के बावजूद Doctors अब तक ये पता नहीं लगा पाये की ये Virus आती कहाँ से है और कैसे फैलती है ।
स्वक्छ्ता ही इसका बचाव है इसलिए स्वक्छरहे और स्वक्छ खाना खाएं और अपने बच्चों को भी स्वक्छ रहने की सलाह दें । 

ये आर्टिक्ल कैसे लगा हमे बताएं और ऐसे ही जरूरी और knowledgeable Articles पढ़ने के लिए Visit करें 
www.knowlegepanel.in

Share:

blogging website se paise kaise kamaye.


Hello Friends agar aap blogging website design karna chahte hai aur kuch money earning karna chahte hai to bina kisi coding knowledge ke aap bhi khud ka blogging website bana sakte hai 

Share:

Top amazing facts in hindi its amazing facts of life

क्या आप जानते है की कोई भी इंसान अपनी सांस रोक कर खुद को नहीं मार सकता ! नींबू मे स्ट्रोबेरी से ज्यादा शक्कर होती है ?


आज Knowledge Panel मे ऐसे ही चौका देने वाले facts को जानेगे 
Top 40 Facts जो आपके होंश उड़ा दे

Top 40 Facts जो आपके होंश उड़ा दे 


Share:

childhood is the happiest moment of a person's life

childhood is the happiest moment of a person's life

दोस्तो आज कल की इन आधुनिक और  सवेदनशील दुनिया मे शायद ही कभी हुमे कुछ ऐसे पल को याद करने का मौका मिलता है जिस पल के साथ कभी हमारा अटूट रिश्ता हुआ करता था । आज Knowledge Panel  मे हम  ऐसे ही कुछ अनोखे और कभी न भूल पाने वाले पलों की चर्चा करेंगे।
Share:

Unforgettable Memories of India Top Memories of 2019

Hello friends कैसे हो आप,उम्मीद करता हूँ आप जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश मे लगे होंगे लेकिन हर पल हर वक़्त आपके दिल मे एक ही ख्याल आता होगा की थोड़ा और बेहतर हो जाता तो अच्छा होता इसी इंतजार और चाहत मे हम सब ज़िंदगी जीते रहते है और वक़्त को पीछे छोड़ते रहते है और वक़्त कैसे गुजर जाता है हमे पता ही नहीं चलता।
unforgettable memories

बीते वक़्त मे खोने और पाने का सिलसिला जारी रहता है इसी दौरान हम ऐसे नगीने को खो देते है जिसे हम हमेशा सुनना देखना और महसूस करना पसंद करते है,आइये जानते है ऐसे ही कुछ प्रसिद्ध,खास और बेहतरीन व्यक्तित्व के धनी शखासियत के बारे मे जिन्हे हमने वर्ष 2019 मे हमेशा के लिए खो दिया ।

Share:

Bootable Pendrive kaise banayeCreate Bootable Pen drive


How to install windows Software through Pen drive

How to Create Bootable Pendrive 

Hello Friends अगर आपके पास Computer  है तो आपको समय समय पर उसे फॉर्मेट करने की जरूरत जरूर पड़ती होगी आज Knowledge panel मे आप जानेंगे की कैसे आप बड़े आसान तरीके अपना computer को Restore या नई operating system software चढ़ा सकते है ।
Share:

youtube facts in hindi amazing facts of youtube

youtube facts

दोस्तो अगर आप इंटरनेट का इस्त्माल करते है तो YouTube का नाम तो सुना ही होगा और इसका इस्त्माल रोजाना आप अलग अलग विडियो देखने के लिए करते होंगे ।
दोस्तो आज Knowledge Panel मे आप जानेंगे YouTube के बारे मे कुछ अनोखे और Most Knowledgeable  facts
दोस्तो आप YouTube मे विडियो तो देखते है लेकिन क्या आपको पता है इसका इसमे कितने विडियो उपलोड है और ये विडियो आते कहाँ से ? YouTube बनाया किसने ?
Share:

How to add twitter cards to blogger

How to add twitter cards to blogger

अगर आप एक ब्लॉगर है तो जाहीर है आप traffic पाने के लिए अपने पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा Share करते होंगे Social Media पर Post Share करना किसी Blog मे Traffic लाने के लिए बेहतरीन तरीका है । ऐसे मे आपअपने Post को Facebook ,Twitter ,Linkdin, Pinterest जैसे Platform पर Share करते है। 
Share:

Beautiful Tricks of NotePad


Friends आज हम जानेयेंगे आपके Computer या laptop के सबसे छोटे मगर बेहद रोमांचक System Software के बारे मे जिसका नाम है Notepad.
जि हां दोस्तों Notepad एक ऐसा Computer Application है जो हर कम्प्यूटर और लैपटॉप मे Default रहता है लेकिन हम मे से बहुत कम लोग इसका इस्त्माल करते हैं .  
आपके कम्प्यूटर या लैपटॉप मे उपलब्ध Notepad ऐसा जदुइ काम करता कि  शायद आप सोंच भी नहीं सकते है
Share:

what happens to your Facebook account when you die



what happens to your Facebook account when you die
दोस्तो हम सब हर रोज Social Media का इस्त्माल अपने Daily Life मे करते है Social Media मे सबसे प्रचलित Social Platform है Facebook जिसे पूरी दुनिया मे Online Chatting ,Dating और दुनिया के अनजान लोगो से मिलने का एक सही साधन मानते है ।
क्या होगा आपके Facebook Account का जब आप इस दुनिया मे नहीं होंगे। जो आपके जीवन का एक अहम हिस्सा है उसे कौन Use करेगा ।


Facebook दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा उपयोग होने वाली Social Sites है अगर आप भी इसका Use करते है तो आपको अपने Facebook Account मे कुछ सेटिंग्स करने होंगे ताकि आपके जाने के बाद आपका Fcebook Account सुरक्षित रहे ।

आइये जानते है क्या होगा आपके Facebook Account का आपके जाने के बाद ?
इसके लिए आपको कुछ सेटिंग्स बदलने होंगे जो इस प्रकार होंगे -

Step 1- Open Your Facebook Account and Choose Setting 

Step 2 - General Account Settings मे Manage Account को चुनें  



Step 3-  Option 1 मे Choose a Friend Box मे आप ऐसे Friend को चुने जो आपके मरने के बाद आपके 
Facebook का इस्त्माल और देख भाल कर सके  । 

Option 2 मे Request Account Deletion Choose करने पर आपका Facebook Account तब Automatic बंद हो जाएगा जब Facebook को पता चलेगा की अब आप आप इस दुनिया मे नहीं है ।  

Option 3 मे है Account Deactivate  जिसके द्वारा आप अपना Account कुछ दिन या कुछ घंटो के लिए बंद कर सकते है । 



तो अगर आप अपने Facebook Account को मरने के बाद भी जीवित रखना चाहते है तो आज ही ये Settings बदल दे । 
ये जानकारी आपको कैसे लगी हमे Comment Box मे या Email (Knowledgepanel123@gmail.com)  के जरिये जरूर बताए । 




Share:

how to delete Facebook account permanently.

Hello Friends Agar ap apni koi Facebook Account ko Hamesa ke liye Delete karna chahte hai to niche diye gaye jankari apke liye bilkul sahi hai .
So lets start how to Delete Facebook Account Permanently. नीचे दिये गए Steps Follow करें - 

Share:

Free Domain Kaise Kharide How to get free domain name

Hello friends अगर आप खुद की Blogging website शुरू करना चाहते है लेकिन आप कोई Expensive Domain नहीं खरीद पा रहे है है तो आज knowledge Panel मे आप जानेंगे कैसे आप एक बेहतरीन Domain खरीद सकेंगे वो भी free मे आइये जानते है कैसे खरीदे free Domain



Share:

Bihar Diwas Special


आज भारत के एहम राज्य बिहार Bihar Diwas माना रहा है आज ही के दिन 22 March 1912 को Bihar को बंगाल से अलग किया गया था इसलिए 22 March को Bihar Diwas मनाया जाता है । पहले विहार ,मगध और अंत मे बिहार के नाम से जाने वाला राज्य की जनसंख्या लगभग 10 करोड़ से भी ज्यादा है 75 % लोग खेती करते है 38 जिलो (District) 9 प्रमंडल (Division ) इन 38 जिलों को 101 अनुमंडल (Subdivision) ,534 प्रखंड (Block) ,8471 पंचायत (Panchayat ) ,45103 गावों (Village) मे बांटा गया है प्राचीन काल मे बिहार का नाम शिक्षा जगत मे सबसे ऊपर था नालंदा विश्वविद्यालय (Nalanda University ) विक्र्म्शिला विश्वविध्यालय (vikarmshila University ) का नाम पूरी दुनिया मे आज भी लोग जानते है । लेकिन दुर्भाग्यवश आज बिहार शिक्षा मे सबसे पीछे है । 


आज Bihar Diwas पर हम बात करेंगे प्रदेश की सबसे गंभीर समस्या शिक्षा के बारे मे । 
भारत के सबसे पिछड़े राज्य बिहार  के बारे में क्योँकि देश में जब भी शिक्षा की चर्चा होती है तो हम बिहार को नहीं भूल सकते है। 


दोस्तो बिहार (Bihar) भारत का एक ऐसा राज्य है जो शिक्षा के स्तर मे भारत के 38 राज्यो मे सबसे नीचे है आइये इस गंभीर विषय पर एक चर्चा करे और जाने क्यू है बिहार मे शिक्षा का ये हाल ।



दोस्तो Knowledge Panel ने इंटरनेट,अखबारो,टीवी चैनल के माध्यम से ली गई जानकारी को इकठ्ठा कर के आपके लिए एक आर्टिक्ल तैयार किया है । पसंद आए तो इसे Share जरूर कीजिये ताकि सब मिल कर बिहार के शिक्षा को सुधारने मे आगे आए । 

दोस्तो देश मे हमेसा से कुछ अलग तरह की बातों के लिए चर्चा मे रहने वाला राज्य बिहार मे कुल 17 State Universities है जिसमे ( Patliputra University, Bihar Animal Science University ,Purnea university and Munger University जिसे 2016 मे खोली गई ),9 central universities, 2 Deemed universities और 5 Private university है यानि कुल मिला कर 27 विश्वविध्यालय है इसके आलवे अगर हम बात करे Engineering Colleges की तो कुल 4 Central Governments,13 पब्लिक सैक्टर के Governments engineering College और 17 Privet Engineering College है जो हर साल तकरीबन 9000 छात्रो को Engineering की शिक्षा देती है  10 Government medical College 3 Private Medical College साथ ही dental College , Agriculture College, MBA College, MCA College, Art & Fashion, law etc ये सब मिला कर कुल 134 Colleges है बिहार मे ।
इन सब के आलवे अगर हम बात करे निचले स्तर के शिक्षा की अर्थात प्राथमिक मध्यमिक और उच्य स्तर के शिक्षा की तो बिहार मे कुल 71,832 विद्यालय है जिसमे 2 करोड़ 34 लाख बच्चे शिक्षा ग्रहण करने जाते है। दूसरी तरफ हर साल सैकड़ो छात्र IAS,IPS,IFS,CA,IIT जैसे कठिन परीक्षा मे बिहारी छात्र अपना दबदबा बनाए रखते है । देश के अलग अलग हिस्सो के सरकारी और गैर सरकारी विभागो के शीर्ष स्थान मे भी बिहारी छात्रो का वर्चश्व बना रहता है ।

ये तो सब आकड़े को देखने के बाद हमारे मन मे एक ही सवाल उठता है
क्या सच मे ये वही बिहार है ?
पूरे भारत मे सबसे परिश्रमी माने जाने वाले ये बिहारी आज पीछे क्यू है ? 
देश को सबसे ज्यादा IAS देने वाला राज्य आज शिक्षा के क्षेत्र मे सबसे पीछे क्यू है ?  

ये सवाल हर किसी के मन मे उठता है ।

दोस्तो ऊपर दिये आकड़ों को देखने के बाद आप सोचेंगे की सब कुछ तो बिलकुल ठीक है फिर कमी है कहाँ............

कमी है दोस्तो अब आगे आप कुछ आकड़ों देखने के बाद आपको समझ आ जाएगा गलती कहाँ है ।

दोस्तो 1961 से 2011 तक बिहार मे साक्षारता दर कुछ इस प्रकार है
वर्ष
कुल
पुरुष
महिला
1961
21.95
35.85
8.11
1971
23.17
35.86
9.86
1981
32.32
47.11
16.61
1991
37.49
51.37
21.99
2001
47.53
60.32
33.57
2011
63.82
73.39
53.33

आकड़ों को देखे तो बिहार की साक्षारता दर बढ़ी है और सरकार इसके लिए कई तरह के योजना भी लेकर आती रहती है अब देखना ये है की 2021 मे होने वाले जनगणना मे इन आकड़ों मे कितनी बढ़ोतरी होती है ।
वर्तमान समय की बात करे तो बिहार मे शिक्षा जगत कई सारे समस्या से घिरी है यहाँ मांग और आपूर्ति यानि Demand and Supply का तालमेल कुछ अच्छा नहीं है तेजी से बढ़ती जनसंख्या और इतने सारे सुविधाओ के बाबजूद उचयस्तरीय शिक्षा के लिए छात्रो का दूसरे राज्यो मे जाना ये सब शिक्षा के गंभीर समस्या मे से है ।
शिक्षा को आगे बढ़ाने वाले शिक्षक की बात करे सरकार के मुताबिक पूरे बिहार मे तकरीबन 4,67,877 शिक्षक है जो 2 करोड़ 34 लाख छात्रो को पढ़ते है यानि हर 50 छात्रो पर 1 शिक्षक 

अब सबसे चौकने वाली बात ये है की कुल शिक्षक मे तकरीबन 37.8 % शिक्षक स्कूल मे अनुपस्थित रहते है यानि 2,91,019 शिक्षक अक्सर पढ़ाने नहीं जाते जो देश मे ही नहीं विश्व मे अपने आप मे एक अनोखी घटना है । 

दोस्तो अबतक तो आप समझ ही गए होंगे की बिहार की शिक्षा मे कमी कहाँ है । जी हाँ दोस्तो कमी यहाँ की शिक्षा वयवस्था मे है । कमी बिहार सरकार के द्वारा चलाई जा रही शिक्षा योजना पे है ।

इन सब से मतलब साफ है की सरकार को बिहार मे निचले स्तर की पढ़ाई  पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है ।

शिक्षा के क्षेत्र मे कुछ जरूरी और ध्यान देने वाले तथ्य अक्सर बिहार को लेकर देश के सामने आती है..
  • साल 2017 मे आए बिहार बोर्ड 12वी का परिणाम आपको चौका देगा जिसमे 70% छात्र फ़ेल हो गए ! इतने खराब रिज़ल्ट का कारण
  • साल 2016 मे बिहार बोर्ड के  Toppers घोटालो को पूरा देश जानता है जिसमे सभी Faculty मे Top किए छात्र शिक्षा के सबसे बारे घोटाले का शिकार हुए जिसने बिहार शिक्षा व्यवस्था  को हिला के रख दिया ।
  • Toppers घोटाले के बाद सरकार ने तुरंत एक्शन लेते हुये Bihar Education Board मे भारी फेरबदल किया ।
  • इतने फेरबदल के बाद भी साल 2017 मे फिर Topers मे घोटाले की बात सामने आ रही है  जिसमे 12 कक्षा के आर्ट्स Topers गणेश कुमार पर इंल्ज़ाम लगा की वे बिहार बोर्ड के साथ मिल कर अपनी उम्र छिपा कर परीक्षा दी  है और छानबीन मे ये सामने आया की इस प्रक्रिया मे शिक्षा विभाग के बारे अधिकारी शामिल है ।
  • इसके आलवे 2017 के आए 12वी के परिणाम मे कुछ ऐसे छात्र भी है जिन्होने ने आईआईटी जैसे कठिन परीक्षा पास की है लेकिन बिहार बोर्ड के 12वी के परिणाम ने उन्हे फ़ेल कर दिया वो भी किसी विषय मे 0 अंक आने के कारण ।
उपर्युक तथ्यो से ये साफ है की बिहार शिक्षा की पूरी सिस्टम ही खराब है और ये बिहार के के लिए गंभीर समस्या का विषय है  ।
इस खराब सिस्टम को सुधारने के लिए राज्य सरकार को कुछ कड़े फैसले लेने होंगे ।
  • सबसे पहले बिहार मे  शिक्षक की 9 लाख खाली पदो पर अनुभवी और प्रतिभाशील शिक्षक की बहाली करनी होगी ।
  • वर्तमान मे बहाल शिक्षक बच्चो को किस प्रकार की शिक्षा दे रहे है इसकी बराबर जांच होनी चाहिए
  • शिक्षक का वेतन उसके डिग्री पर नहीं बल्कि उसके शिक्षा शैली पर देनी चाहिए ।
  • शिक्षक का कार्यकाल घाटा कर इतनी करनी चाहिए की ताकि शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए नए पीढ़ी अपना योगदान दे सके । क्योकि वर्तमान मे स्कूल मे कुछ ऐसे शिक्षक भी कार्यरत है जो कई सालो से एक ही तरह के ज्ञान बच्चो को दे रहे है न उन्हे वर्तमान घटनाओ का ज्ञान है न वे उस लायक है की अपनी ज्ञान बढ़ा सके ।
  • बिहार मे कुछ स्कूल के पास प्रायप्त बिल्डिंग नहीं है जहां बच्चे ठीक से पढ़ाई कर सके ,निजी स्कूल मे दी जाने वाली सुविधा से ज्यादा सुविधा सरकार बच्चो को दे सकती है इस बात पर सरकार को विशेष ध्यान देना चाहिए ।


बिहार का भविष्य बिहार के शिक्षक के हाथ मे उन्हे आगे आकर खुद इसका पहल करना होगा तभी वो सच्चे शिक्षक कहलाएंगे ।
  • शिक्षक को अगर वेतन नहीं मिलता तो पूरे प्रदेश मे आंदोलन और हड़ताल होता है लेकिन जरा सोचिए अगर छात्र अपने लिए आंदोलन और हड़ताल करे तो क्या होगा !
  • जितने आंदोलन और हड़ताल शिक्षक वेतन पाने के लिए करते है अगर थोड़ा भी आंदोलन हड़ताल बच्चो के भविष्य के लिए दे तो शायद सरकार वेतन देने मे कोताही नहीं बरतेगी ।
  • बिहार का भविष्य बिहार के शिक्षक के हाथो मे है दोस्तो अगर आप एक शिक्षक और सच्चे बिहारी है तो खुद को आगे लाइए और बिहार का नाम शिक्षा मे आगे बढ़ाइए ।

Written By- Angesh Upadhyay
Sources- Google



Friends if want to get exciting News and Thought Please Subscribe,Share and Like my post


Share:

Featured Post

Diwali Quotes in Hindi and English- Happy Diwali 2021

Hello Friends दिवाली आने वाली है हर तरफ रोशनी और खुशियों का माहौल होने वाला है । दिवाली भारत का सबसे प्रमुख त्यौहारों मे से एक है , वर्ष के...

Translate