Smart City Schemes of India . क्या आपका शहर है स्मार्ट ?


जब भी हम बात करते है Smart City की तो हमारे  मन मे एक ही सवाल उठती है की क्या है Smart city, कहाँ है ये Smart City, कैसे जाए हम Smart  city

प्रस्तुत है इसके बारे मे पूरा विवरण जिसे पढ़ कर आपके मन बहुत सारे सवाल उठेंगे आप ये भी  सोचने लगेंगे की ये तो असंभव है लेकिन जो भी हो ये काल्पनिक दुनिया सच होगी यही तो मिसन है Smart City की


Smart City Schemes Indian Government की वह योजना है जिसके अंतर्गत 2022 तक भारत तकरीबन 100 शहर को Smart स्मार्ट बनाना है, Smart बनाने से तात्पर्य यह है की इन शहरो मे हर वो सुविधा होगी जिसका उपयोग लोग अपने दैनिक जीवन मे करते है।

आप ऐसे city की कल्पना कर सकते है जहां सड़क के हर तरफ कैमरे लगे हो जहां आप रात्री को पैदल चले तो सड़क पर लगे बल्ब खुद बख़ुद डीम हो जाए या जल जाए , सूर्य के रोशनी के अनुसार घर की रोशनी घटाई बढ़ाई जा सके , स्कूल मे शिक्षक के अनुपस्थिति पर दूसरे स्कूल के शिक्षक Video Conference के जरिये पढ़ा सके । जी हाँ ऐसे होने की ही कल्पना की गई है ।   

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली National Democratic Alliance (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) NDA सरकार ने शहरी भारत को रहन-सहनपरिवहन और अन्य अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस करने के इरादे से तीन महत्वाकांक्षी योजनाओं- Smart Cities (स्मार्ट सिटीज) , Atal Mission for Rejuvenation and Urban Transformation (AMRUT) (अमृत) और सभी को आवास योजना (इसके बारे मे आप हमारे अगले पोस्ट मे पढ़ सकते है) का शुभारम्भ किया है। इन परियोजनाओं से देशवासियों की उम्मीदों को नयी उड़ानें मिलती नजर आ रही है और सपनों मे नई जोश जागते दिख रही है ।


क्या-क्या हैं स्मार्ट सिटी के मकसद 
what is the main view of Smart City Schemes 
  • शहरी जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाना
  • स्वच्छ पर्यावरण उपलब्ध कराना
  • परिवहन व्यवस्था को बेहतरीन बनाना
  • शहरों की छवि खराब करती झुग्गी झोपड़ियों को हटाना
  • झुग्गी में रहने वाले लोगों को वैकल्पिक सुविधा मुहैया कराना 
  • शहरी संसाधनोंस्रोतों और बुनियादी संरचनाओं का सक्षम ढंग से विकास करना
  • 2022 तक सभी को आवास उपलबध कराना
क्या-क्या है स्मार्ट सिटी मिशन में
Full Details of Smart City Schemes of India

इस मिशन में 100 Cities को शामिल किया जाएगा। इसकी अवधि पांच साल (2015-16 से 2019-20) की होगी। पांच साल पूरे होने पर Ministry (मंत्रालय) द्वारा मूल्यांकन किया जायेगा और तब तय किया जायेगा कि इस Mission को कहां-कहां चलाया जाये। 100 Smart Cities की कुल संख्या एक समान मापदंड के आधार पर States और Union Territories के बीच वितरित किया गया है। इस वितरण फार्मूला का इस्तेमाल कायाकल्प और शहरी परिवर्तन के लिए AMRUT Schemes के तहत धनराशि के आवंटन के लिए भी किया गया है। smart City Mission एक केन्द्र प्रायोजित योजना के रूप में संचालित किया जाएगा। पांच साल में 48,000 करोड़ रुपयेकरीब प्रति वर्ष प्रति शहर 100 करोड़ रुपये औसत दिये जायेंगे।

किस शहर का पहले लगेगा नंबर?

किस शहर का नंबर पहले लगेगाये Enter City Competition में शहरों के Smart city Plan पर निर्भर करेगा। 2016  के आखिर तक 20 शहरों को Smart Cities के लिए चुना जाएगा। बाकी 80 शहरों के चयन का काम 2017-18 तक पूरा कर लिया जाएगा। रैंकिंग में सबसे ऊपर आए 20 Smart Cities  के बाद बाकी 80 Cities को खुद के प्लान में सुधार का मौका दिया जाएगा। काम शुरू होने के बाद कार्यों की समीक्षा मिशन के कार्यान्वयन के दो साल बाद की जाएगी। जिन States / City स्थानीय निकायों का प्रदर्शन अच्छा होगा उन राज्यों को शेष Possibilities Smart Cities में से कुछ का पुनःआवंटन किया जायेगा। यानि जितना Smart States उतनी Smart cities 

Smart City शब्द सुनते ही सबसे पहले जो तस्वीर उभरती है वह कुछ ऐसी होती है:

  • एक शहर जहां की जलवायु शुद्ध हो लोग खुली हवा में सांस ले सकें।
  • बिजली-पानी की सप्लाई 24 घंटे सुचारू हो।
  • बिजली कटौती कतई न हो।
  • दिनभर लोगों को ट्रैफिक में न जूझना पड़ेसार्वजनिक यातायात उपलब्ध हो जो विश्व स्तरीय हों।
  • बुनियादी सुविधाएं जैसे किसी चीज की बुकिंगबिल जमा करनाआदि बेहद सुगम हो।
  • सड़केंइमारतेंशापिंग मालसिनेप्लैक्स सब कुछ योजनाबद्ध तरीके से बने हों।
  • अनाधिकृत कालोनियों की सड़ांध मारती गलियां न हों।
  • झुग्गी-बस्तियां न हों।
  • कुछ ऐसा शहर दिखे जहां लोगों के रहन-सहन में समानता दिखे।
  • सड़कों पर कूड़ा-करकट कतई न दिखे।
  • सड़कें एकदम साफ हों।
  • स्कूल-कॉलेजअस्पतालआदि अत्याधुनिक सुविधओं से लैस हों।
  • शहर में बिजली के ग्रिड से लेकर सीवर पाइप सब कुछ अच्छे नेटवर्क में हों।
  • सड़केंकारें और इमारतें हर चीज़ एक एक नेटवर्क से जुड़ी हों।
  • इमारत अपने आप बिजली बंद करेंस्वचालित कारें खुद अपने लिए पार्किंग ढूंढें।
  • शहर ऐसा जिसका कूड़ादान भी स्मार्ट हो।
  • गैस सिलेंडर के लिये लाइन लगने के बजायेपाइपलाइन घर तक आये।
  • ऐसी व्यवस्था हो जिससे अपराध कम हों और लोग चैन से रह सकें।

अगर आप भी अपने शहर की स्मार्ट सिटि का दर्जा देना चाहते है तो सरकार की Smart City Mission को सफल बनाए स्मार्ट बने और स्मार्ट बनाए
सरकार के योजनाओ का फायदा उठाए । 
Friends if want to get exciting News and Thought Please Subscribe,Share and Like my post





Share:

Who is the person Behind the Railways Stations Announcements


दोस्तो आप Knowledge Panel मे आज आप जानेंगे एक ऐसे Indians के बारे मे जिसके बारे मे आपको इंटरनेट पे बहुत कम ही जानकारी मिलेगी ।
अपमे से बहुत से लोगों ने भारतीय रेल(Indian Rail),मेट्रो ट्रेन (Indian Metro) से सफर अवश्य ही किया होगा और इस दौरान जब भी आप रेलवे स्टेशन या मेट्रो स्टेशन पे गए होंगे तो आपको आपके ट्रेन के स्थिति बताने के लिए स्टेशन मे बहुत ही मधुर आवाज मे आकाशवाणी (Announcements ) होती है—
In Hindi – यात्रीगण कृपया ध्यान दे गाड़ी संख्या 12431 राजधानी एक्सप्रेस प्लेटफॉर्म न 1 पर आ रही है, धन्यवाद
In English - May I have your Attention Please Train No 12431 rajdhani Express is arrived on Platform No 1, thank you

जिसे सुनकर आप जान पाते है की आपकी ट्रेन की वर्तमान स्थिति क्या है और दोस्तो ये आवाज इतनी सुरीली होती है की हर कोई इसे सुनने वाला ये जानना चाहता है की इतनी मधुर आवाज के पीछे कौन है ।

आज Knowledge Panel आपको बताएगा इस सुरीली आवाज के पीछे कौन है ।
दोस्तो हमारे देश मे 1853 से रेल यातायात(Railway Traffic System) की शुरुआत हुई और उसके बाद समय के साथ भारतीय रेल की सूरत बदलती गई। इन्ही बदलाओ मे एक था Automatic Announcement System जो समय के साथ इसकी तकनीक बदलती ।  
दोस्तो हम चर्चा कर रहे है एक ऐसे सख्स के बारे मे जिनकी मधुर आवाज आज भी सुनते है ।
Sarla Coudhary
Sarla Choudhary
इनकी आवाज का चुनाव सेंट्रल रेलवे ने 1982 मे किया उसके बाद 1986 मे इन्हे परमानेंट Voice Announcer के रूप मे रख लिया गया और 1991 मे इनके recorded वॉइस System मे नियुक्त कर लिया गया जिसे को हम सब ने 20 साल तक Railway Stations मे सुना, करीब 12 साल पहले इनहोने ने परिवारिक कारणो से railway को छोर दिया लेकिन आज भी हम इनकी मधुर आवाज को सेंट्रल रेलवे मे सुनते है ।  

आजकल ये आवाज Train Management System (TMS) के द्वारा अलग अलग तरीके से Computer द्वारा मिक्स करके Announcement की जाती है । 

दोस्तो अगर अपने कभी मेट्रो ट्रेन पर सफर किया होगा हो तो ये जरूर सुना होगा –
the Next Station Is Rajeev Chowk doors will open on the left Please mind the gap.
अगला स्टेशन राजीव चौक है दरवाजे बाई तरफ खुलेगी कृपया दरवाजे से हट कर खड़े हो । 
Female Voice मे ये मधुर आवाज की मल्लिका है Rini Simon Khanna 
Rini Simon Khanna
ये कोई और नहीं दूरदर्शन(Doordarshan) की वरिष्ठ एंकर है पूरी दिल्ली मेट्रो मे अग्रेजी भाषा मे इनकी मधुर आवाज गूँजती है दिल्ली मेट्रो ने जब 2002 मे ये सर्विस स्टार्ट किया । इन्होने ने अपने केरियर की शुरुवात दूरदर्शन से की दूरदर्शन पर ये दिव्यंगों के लिए समाचार पढ़ती थी इसके अलावा आप इनकी आवाज गणतन्त्र दिवस (Republic Day ) स्वतन्त्रता दिवस ( Independence Day ) पर भी सुन सकते है । 

Shammi Narang
दूसरी एक दमदार आवाज Male Voice मे Shammi Narang का है जो की दूरदर्शन के जानेमने एंकर है। इन्हे भारतीय Broadcast का Walter Cronkite भी कहा जाता जो दुनिया के सबसे चर्चित Broadcast Journalist है इन्होने 19 साल की उम्र मे Indian Institute of Technology से डिग्री हासिल कर ली और इन्हे United States of Information Service मे sound director की नियुक्ति भी मिल गई और इन्होने समूचे वॉइस ऑफ अमेरिका(Voice Of America) मे हिन्दी भाषा का परचम लहराया और 1982 मे इनको दूरदर्शन(Doordarshan) के साथ जुड़ गए 20 साल तक करार साइन किया । 


तो अगली बार जब आप ट्रेन मे सफर कर तो Announcement पे ध्यान जरूर दीजिएगा ।
So the next time you travel on Delhi metro, you now know who the two amazing individuals behind the Announcement are! 
ऐसे ही और भी Knowledgeable Thought and News के लिए Subscribe जरूर करे। subscribe करने के लिए Subscribe Box मे अपने Email ID डाले। Friends if want to get exciting News and Thought Please Subscribe,Share and Like my post



Share:

How to Earn Money from csc?


दोस्तो हम सभी अक्सर बाजारो मे,अपने दोस्तो से,रिस्तेदारों से CSC के बारे मे सुनते आ रहे है और कई लोग तो इससे काफी सारे पैसे भी कमाए है कई लोगो ने तो अपने भविष्य को सुधारने के लिए भी इसे अपनाया है ।
तो दोस्तो अगर अप भी अगर CSC के दुवारा अपना भविष्य सुधारणा चाहते है तो Knowledge Panel मे आप जानेगे की कैसे आप इससे पैसे कमा सकते है और कैसे इसकी शुरुआत कर सकते है ।

Learn Hindi Typing Without any Typing Traning


CSC यानि Common Service Center (कॉमन सर्विस सेंटर) अगर आपके पास थोरे बहुत पैसे है और कम्प्युटर और सरकारी योजना को समझने की काबिलियत है तो आप CSC अपना कर अपना भविष्य सवार सकते है ।
आज मैं आपको बताऊंगा की कैसे आप CSC से जुड़ सकते है । दोस्तो इसके लिए आपको CSC जो की अब डिजिटल सेवा के नाम से जाने जाती है के Official Website http://register.csc.gov.in/register/fresh पे जाकर अपना नामांकन करवाना होगा नामांकन करने के 15 दिन के अंदर आपको एक User ID और password दी जाएगी जिससे आप CSC Portal https://digitalseva.csc.gov.in/ पर Login कर पाएंगे ।
दोस्तो CSC मे registration के लिए आपके पास आधार कार्ड होना आवश्यक है और आपका आधार नंबर से आपका मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी लिंक होना चाहिए तभी आप Registration के पहले पड़ाओ को पास कर पाएंगे ।



इसके आलवे आपको कुछ चीजों की जरूरत होगी जिससे आप Registration के process को पूरा कर पाएंगे ।
1.   आधार कार्ड
2.   पैन कार्ड
3.   बैंक अकाउंट नंबर
4.   IFSC code
5.   Cancel Chaque
6.   आपके शॉप या ऑफिस की अंदर और बाहरी तस्वीर

( ये तस्वीर लेते समय आपको ध्यान रखना होगा की आपके कैमरे की लोकेशन ऑन हो और मोबाइल डाटा ऑन हो ।)





Registration करने के बाद आपको CSC की तरफ से एक ईमेल प्राप्त होगी जिसमे आपको Application reference Number दी जाएगी जिससे आप अपने Application की status जान पाएंगे ।
Registration करने के तकरीबन 15 दिन बाद आपको OMT आईडी और DIGIMAIL Credential प्राप्त होगा । उसके बाद आप CSC यानि डिजिटल सेवा के पोर्टल का इस्त्माल कर पाएंगे ।


इसमे आपको 200 से अधिक काम करने का अधिकार प्राप्त होगा जिसे आपको अलग अलग तरीको से बारीकी से  समझना होगा फिर उसमे बताए गए निर्देश का पालन करना होगा ।




Like us on Facebook -  Facebook Click Here



Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here



Like our Entertainment Page -  Thik HaiClick Here



Our Job Panel - Job Panel - Click Here

MI Mobile Phone -MI Mobile Phones

Certified Refurbished Mobiles- Buy Old Smartphones  

High Quality Products at Low Price Best Product you never missed

Mobile Accessories at Low PriceLow price mobile accessories


Share:

rrb recruitment apply online


RRC Group D Recruitment 2019 103769 Posts: एक बार फिर रेलवे ग्रुप डी (लेवल-1) की बंपर भर्तियां निकली है। 10वीं पास (या आईटीआई) उम्मीदवार इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। पिछले साल फरवरी-मार्च माह में जहां करीब 63 हजार पदों पर ग्रुप डी भर्तियां निकली थीं, वहीं इस साल 103769 पदों पर भर्तियां निकली हैं। इस बार रेलवे भर्ती में General Category  के गरीब लोगों के लिए 10% सीटें आरक्षित की गई हैं। कुल 103769 वैकेंसी में से 10381 वैकेंसी General Category के गरीब लोगों (सवर्ण कोटा या Economically Weaker Sections (EWS) कोटा) के लिए आरक्षित की गई हैं। इस बार ग्रुप डी की भर्ती प्रक्रिया व उसकी परीक्षाओं का संचालन RRB (Railway Recruitment Board) नहीं, बल्कि RRC (Railway Recruitment Cell ) कर रही हैं। उम्मीदवार 12 April,2019 तक Online Registration करवा सकते हैं।

जानें गरीब जनरल कैटेगरी के लोगों के लिए कहां कितनी सीटें हैं आरक्षित नीचे दिये गए Data मे आप
Economically Weaker Sections (EWS) सेक्शन मे General Category को दिये गए आरक्षित सीटो को देख सकते है -




How to Apply RRC Group D? 

आप Online Application Submit कर इस बहाली का हिस्सा बन सकते है इसके लिए आपको जिस भी RRB मे Application Apply करना है आप नीचे दिये गए लिंक पे Click करे -


Important Dates



कितने पैसे लगेंगे Online Apply मे ? 
Application Fee for all Eligible Candidate 

  • सामान्य श्रेणी के लिए - 500/- 
  • SC/ ST/ ExSM/ PWD/ Female/ Transgender/ Minorities/ EBC candidates के लिए - 250/- 
  • आप Online/Offline दोनों तरीके से Payment कर सकते है । 

Note - इस Fee मे सामान्य को  400/- और अन्य को 250/-  वापस हो जाएगी लेकिन आपको उसके लिए CBT मे शामिल होना होगा । 


Selection Process
उम्मीदवारों का चयन Computer Based Test (CBT) और Physical Eligibility Test (PET) के आधार पर किया जाएगा।  CBT में सफल उम्मीदवारों को PET में बुलाया जाएगा। CBT  में  Marks Normalization  की पद्धति अपनाई जाएगी। कुल वैकेंसी के तीन गुना उम्मीदवारों को PET के लिए बुलाया जाएगा। CBT में Negative Marking  होगी। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काट लिया जाएगा।

Railway Group D CBT में जो उम्मीदवार पास होंगे, उन्हें PET Exam में बुलाया जाएगा।
Female and Male Candidate के लिए PET की शर्तें-

पुरुष उम्मीदवारों के लिए 

  • एक बार में 35 किलोग्राम वजन के साथ 100 मीटर की दूरी 2 मिनट में कवर करनी होगी।
  • 4 मिनट 15 सेकेंड में 1000 मीटर की दौड़ पूरी करनी होगी। 

महिला उम्मीदवारों के लिए

  • एक बार में 20 किलोग्राम वजन के साथ 100 मीटर की दूरी 2 मिनट में कवर करनी होगी।
  • 5 मिनट 40 सेकेंड में 1000 मीटर की दौड़ पूरी करनी होगी। 

12 April . 2019 तक इन पदों के लिए Online Application कर सकते हैं। Total - 1,03,769 Vacancy निकाली गई हैं।

इस भर्ती के लिए 18 से 33 आयु के लोग आवेदन कर सकते हैं। OBC के लिए 3 वर्ष और SC /ST Category के लिए 5 वर्ष की छूट दी गई है।

पहली बार General Category i.e Economically Weaker Sections (EWS) के गरीब लोगों को 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा। 

10 फरवरी को निकली गई इस भर्ती मे कुछ दिन पहले कुछ बदलाव किए गए है आइये जानते है क्या है वो बदलाव 
पहला बदलाव   नए बदलाव के तहत RRC Notification  के पैरा नंबर 14.2 - Physical Eligibility Test (PET) में एक और प्वॉइंट जोड़ा है। PET  में जोड़े गए नए प्वाइंट में लिखा गया है - PET दो चरणों में होगा। पहले चरण में उम्मीदवार को एक तय वजन को एक निश्चित दूर तक लेकर जाना होगा। इसमें सफल उम्मीदवारों को ही अगले चरण (दौड़) में भेजा जाएगा। वजन उठाने वाले टेस्ट के कुछ देरी के बाद ही दौड़ वाला टेस्ट होगा। दोनों टेस्ट के बीच उचित रिकवरी गैप होगा। वजन उठाने वाले टेस्ट में परीक्षार्थियों को कमर की ऊंचाई वाले एक बेंच/प्लेटफॉर्म से एक रेत का कट्टा या बोरी उठानी होगी और उसे उठाकर तय दूरी तक ले जाना होगा। परीक्षार्थी रेत की बोरी को कैसे भी पकड़ सकता है, लेकिन उसे लक्ष्य तक पहुंचने से पहले जमीन पर नहीं रख सकता। यानी बोरी जमीन पर टच नहीं होनी चाहिए।'

दूसरा बदलाव
RRC Group D Notification के पैरा नंबर 16.1 में एक और प्वाइंट जोड़ा गया है। नए प्वॉइंट में कहा गया है कि अगर 10वीं के Certificate या Marks-sheet मार्कशीट पर Registration Number नहीं लिखा हुआ है तो उम्मीदवार Online Registration के दौरान Registration Number की जगह Roll Number लिख सकते हैं। इसी तरह अगर ITI/NAC  के Certificate या Marks-sheet पर Registration Number नहीं लिखा हुआ है तो उम्मीदवार Online Registration के दौरान Registration Number की जगह Roll Number लिख सकते हैं।


उम्मीदवारों को Document Verification डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के दौरान इस Certificate/Marks-sheet को जरूर दिखाना होगा होगा जिसका Roll Number या Registration Online Application form  में दिया गया होगा।





Share:

international woman's day


दोस्तो 8 March को पूरी दुनिया International women's day के रूप मे मनाती है आइये जानते है इसके पीछे की पूरी कहानी की क्यू मनाई जाती है ये Day और कितना सुरशित है दुनिया की महिलाए ।

International women's day  अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस हर वर्ष,8 March को मनाया जाता है। विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर मनाया जाता है।

कैसे हुई शुरुआत International women's day की ? 
इसकी शुरुआत, America के New York City  में 23 February 1909 में एक समाजवादी राजनीतिक कार्यक्रम के रूप में आयोजित किया गया था। सन 1910 में Socialist International के कोपेनहेगन सम्मेलन में इसे अन्तर्राष्ट्रीय दर्जा दिया गया। उस समय इसका प्रमुख उदेश्य था महिलाओं को वोट देने का अधिकार दिलवाना  ,क्योंकि उस समय अधिकतर देशों में महिला को वोट देने का अधिकार नहीं था।





1917  में रूस की महिलाओं ने, महिला दिवस पर रोटी और कपड़े के लिये हड़ताल पर जाने का फैसला किया। यह हड़ताल भी ऐतिहासिक थी। तत्कालीन सरकार ज़ार ने सत्ता छोड़ी, अन्तरिम सरकार ने महिलाओं को वोट देने के अधिकार दिया। उस समय रूस में जुलियन कैलेंडर चलता था और बाकी दुनिया में ग्रेगेरियन कैलेंडर। इन दोनों की तारीखों में कुछ अन्तर है। जुलियन कैलेंडर के मुताबिक 1917  की फरवरी का आखिरी इतवार 23  फ़रवरी को था जब की ग्रेगेरियन कैलैंडर के अनुसार उस दिन 8 मार्च थी। इस समय पूरी दुनिया में (यहां तक रूस में भी) ग्रेगेरियन कैलैंडर चलता है। इसी लिये 8 March को International women's day  के रूप में मनाया जाने लगा। 1917 में सोवियत संघ ने इस दिन यानि 8 March को एक National Holiday घोषित किया, और यह आसपास के अन्य देशों में फैल गया। इसे अब कई पूर्वी देशों में भी मनाया जाता है।



कुछ क्षेत्रों में, संयुक्त राष्ट्र द्वारा चयनित राजनीतिक और मानव अधिकार विषयवस्तु के साथ महिलाओं के राजनीतिक एवं सामाजिक उत्थान के लिए International women's day  को बड़े जोर-शोर से मनाया जाता हैं। कुछ लोग बैंगनी रंग के रिबन पहनकर इस दिन का जश्न मनाते हैं।

इस Woman's Day आइये जानते है कितना सुरक्षित है धरती की महिलाये -
World बैंक के आंकड़े बताते है की  पूरी दुनिया मे तकरीबन 7,632,819,325 ( सात अरब से भी ज्यादा ) लोग रहते है जिसमे 49.55 % महिलाए है और धरती के 81 देश ऐसे है जहां महिला की जनसंख्या अधिक है और 36 देश को पुरुष प्रधान देश बताया गया है । प्रत्येक 107 पुरुष पर 100 महिला का अनुपात का अनुमान है ।

अब आइए जानते है धरती पे 10 ऐसे देश का नाम जहां महिला सुरक्षित है - 
The world's 10 safest countries For Woman , according to the World Economic Forum (WEF).

  1. Finland
  2. UAE 
  3. Iceland 
  4. Oman 
  5. Hong Kong 
  6. Singapore
  7. Norway 
  8. Switzerland 
  9. Rwanda
  10. Qatar 
अब जानिए कुछ ऐसे भी देश जहां महिला बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है -
  1. India
  2. Afghanistan
  3. Syria
  4. Somalia
  5. Saudi Arabia
  6. Pakistan
  7. Democratic Republic Of Congo
  8. Yemen
  9. Nigeria
  10. USA

इन आकड़ों से आप इतना समझ गए होंगे की धरती के इंसान की के उत्पत्ति करने वाली कितनी असुरक्षित है । आइये इस Woman's Day हम सब  ये शपथ ले की महिला की सुरक्षा ही हमारी सुरक्षा है । - 

इस Woman's Day कुछ पंक्तियाँ उन महिलाओ के नाम जो अशुरक्षित है और उन महिलाओ के नाम जो हर कुरुतियों का सामना कर के दुनिया मे अपनी अलग पहचान बनाई ।

ज़िन्दगी का सार है तू ज़िन्दगी का आधार है तू ,
हर पल हर पग मिलती बयार है तू,
संस्कार हो या सादगी ममता हो या मीत,
अपने दामन में सबको संजोयी है तू,
समाज की सच्ची शिल्पकार है तू,
दुर्गा है तू काली है तू 
खुदा की अनोखी बनावट है तू,
चाहे कैसा हो रूप हर रूप में खुद को संभाली है तू,
कभी माँ बनकर ममता के आंचल में रखा ,
कभी मीत बनकर जीवन को संवारा,
कभी साथ चल कर जीना सिखाया,
कुदरत की खूबसूरत बनावट है तू,
ज़िन्दगी देने वाली जीवनदायनी है तू,
नारी है तू महिला है तू बेटी है तू संगनी है तू
तभी तो कहते है
ज़िन्दगी का सार है तू ज़िन्दगी का आधार है तू ,
हर पल हर पग मिलती बयार है तू,

 By Angesh Upadhyay 


International women's day पे लिखी ये Article कैसा लगा आपको हमे अपना विचार Comment या ईमेल knoweldgepanel123@gmail.com जरिये हमे जरूर बताए . 
Share:

Could not save earnings settings in Blogger. Solve this Issue



दोस्तो अगर आप Google AdSense का इस्तमाल Blogger के लिए करते है तो आपको कुछ दिनों से अपने Blogging Website पे Add लगाने मे प्रॉबलम हो रही होगी जब भी आप Add के सेटिंग्स को बदल कर सेभ कर रहे होंगे तो आपको Could not save earnings settings का Notification आपके पेज के टॉप मे आ रहा होगा और आप अपने Website मे Add नहीं लगा पा रहे होंगे । तो Knowledge Panel मे आज मे जानेंगे How solve this Error- Could not save earnings setting OR parsing error while you add AdSense widget in Blogger Layout . 

Follow this Steps and solve These error . 

1. Open Blogger - Earnings - Switch AdSens Account -  





2.  Choose Your Gmail Account

3. Accept Association



4. Wait Or Redirect 






5. And Continue


इसे भी पढे - कैसे करे हिन्दी Typing वो भी बिना किसी हिन्दी Typing नॉलेज के । 
मुझे उम्मीद है आपको मैं जरूरी जानकारी दे सका इससे जुड़े और भी जानकारी या सुझाव के लिए हमे Comment Box मे लिखे या knowledgepanel123 @gmail.com पे Email करे.



Share:

Featured Post

Chhath Puja Kyun Manate Hai Happy Chhath Puja 2020

Happy Chhath Puja हैलो दोस्तो वर्ष का अंतिम महिना पर्व त्योहारों से भरा होता है Deshara Diwali, भैया दूज , छठ , Christmas जैसे कई सारे Fes...

Translate