bihar police vacancy 2019

bihar police vacancy 2019 in hindi

Hello Friends अगर आप बिहार के मूल निवासी है और बिहार प्रसासनिक सेवा मे सेवा मे नौकरी करना चाहते है तो Bihar Police Subordinate Services Commission (BPSSC) ने बिहार पुलिस मे नौकरी तलाश रहे युवकों के लिए 2404 पदों के लिए बहाली निकली है आइये जानते है इस बहाली की पूरी जानकारी -
Share:

what happens to your Facebook account when you die



what happens to your Facebook account when you die
दोस्तो हम सब हर रोज Social Media का इस्त्माल अपने Daily Life मे करते है Social Media मे सबसे प्रचलित Social Platform है Facebook जिसे पूरी दुनिया मे Online Chatting ,Dating और दुनिया के अनजान लोगो से मिलने का एक सही साधन मानते है ।
क्या होगा आपके Facebook Account का जब आप इस दुनिया मे नहीं होंगे। जो आपके जीवन का एक अहम हिस्सा है उसे कौन Use करेगा ।


Facebook दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा उपयोग होने वाली Social Sites है अगर आप भी इसका Use करते है तो आपको अपने Facebook Account मे कुछ सेटिंग्स करने होंगे ताकि आपके जाने के बाद आपका Fcebook Account सुरक्षित रहे ।

आइये जानते है क्या होगा आपके Facebook Account का आपके जाने के बाद ?
इसके लिए आपको कुछ सेटिंग्स बदलने होंगे जो इस प्रकार होंगे -

Step 1- Open Your Facebook Account and Choose Setting 

Step 2 - General Account Settings मे Manage Account को चुनें  



Step 3-  Option 1 मे Choose a Friend Box मे आप ऐसे Friend को चुने जो आपके मरने के बाद आपके 
Facebook का इस्त्माल और देख भाल कर सके  । 

Option 2 मे Request Account Deletion Choose करने पर आपका Facebook Account तब Automatic बंद हो जाएगा जब Facebook को पता चलेगा की अब आप आप इस दुनिया मे नहीं है ।  

Option 3 मे है Account Deactivate  जिसके द्वारा आप अपना Account कुछ दिन या कुछ घंटो के लिए बंद कर सकते है । 



तो अगर आप अपने Facebook Account को मरने के बाद भी जीवित रखना चाहते है तो आज ही ये Settings बदल दे । 
ये जानकारी आपको कैसे लगी हमे Comment Box मे या Email (Knowledgepanel123@gmail.com)  के जरिये जरूर बताए । 




Share:

How to create Facebook profile frame in Hindi



How to create Facebook profile frame template

Agar aap Facebook ke regular user hai to aksar apne apne friends ke Profile Photo ko ek khas design ke Frame ke andar dekha hoga.

kya aap jante hai kaise bante hai Facebook profile frame

Share:

How to earn money online in India best Money Making tips in hindi

आप में से कई लोग ये सोचते है की क्या Online पैसा कमा सकते है ? Is it possible to make money online ? तो जवाब होगा हाँ , जी हाँ बस अपने बड़े से दिमाग पे थोड़ा सा ज़ोर लगाइए और भिड़ जाइए पैसे कमाने।
यहाँ Knowledge Panel मे आप जानेएंगे कैसे आप इंटरनेट और थोड़े से मेहनत से अच्छी ख़ासी कमाई कर सकते है ।

दोस्तो Online Earning के लिए आपको चाहिए एक Smartphone,एक Laptop या Desktop , High Seed  Internet Connection  और एक Creative Mind जो आपके पास तो होगा ही ।

तो आइये शुरुआत करे Online Money Making प्रक्रिया की । दोस्तो यू तो बहुत सारे तरीके है ऑनलाइन पैसे कमाने के लेकिन अगर आपके पास है कुछ खास हुनर तो आप इंटरनेट के जरिये अपने हुनर को आजमा कर कुछ पैसे कमा सकते है।

अगर आपको Photography का शौक है तो आप Online फोटो बेच कर पैसे कमा सकते है ।
अगर आपको कुछ लिखने का शौक है तो बना लीजिये Blogging Website और लिख डालिए वो सब कुछ जो आप दुनिए का बताना चाहते है अगर आपकी सोच दुनिया को पसंद आई तो कमा लेंगे आप ढेर सारे पैसे ।
YouTube के जरिये आप विडियो उपलोड करके भी Earning कर सकते है ।

दोस्तो Online Earning का सबसे बेहतर तरीका Website और YouTube को माना गया है जिसके जरिये बहुत सारे लोग अच्छी कमाई कर रहे है। अक्सर लोग Online Earning को Fake मानते है क्यूकि Internet पे Online Earning के नाम पे बहुत सारे Fraud होते है । दोस्तो इस Fraud उन लोगो के साथ होता है जिनके पास जानकारी की कमी होती है या फिर वैसे लोग जो Online Earning को बहुत आसान और कम समय मे ज्यादा पैसा कमाने का जरिया समझते है।

Mutual funds se paisa kaise kamaye

कैसे शुरुआत करे Online Earning. 
नीचे दिये गए कुछ Online Earning Platform है जहां से आप Online Earning की शुरुआत कर सकते है -



इन दोनों मे आप Google के AdSense Services के जरिये Earning कर सकते है ।
इसके आलवे


  • Amazon , Flip kart Affiliated Marketing - For online Product Promotion  । ये वो Platform है जिसके द्वारा आप Real Cash कमा सकते है । 


कुछ और भी तरीके है जो इस प्रकार है


www.freelancing.com 
www.upwork.com 
www.peopleperhour.com 
www.fiverr.com 


के द्वारा आप Data Entry ,Web Designing , Digital Marketing के जरिये आप Earning कर सकते है ।

आप अपने Android Phone मे Gaming Apps जैसे MPL (Mobile Premier League )Paytm Gamepind ,GamechampDream 11 जैसे कई सारे Gaming App के जरिये Game खेल कर भी Real Cash Earn कर सकते है ।
How to earn money online in India
जिन लोगो को Share Marketing का ज्ञान है वो Online Treading के जरिये भी पैसे Earn कर सकते है । लेकिन ये थोड़ा रिस्की है फिर भी आप इसकी पूरी जानकारी लेकर Earning की शुरुआत कर सकते है ।

Share Marketing मे ट्रेडिंग कैसे करे ? जाने पूरी जानकारी
Warning 
दोस्तो Online Earning Website के द्वारा बहुत सारे Fraud होते है इसलिए किसी भी Website जो ज्यादा पैसा कमाने का लालच देते है उससे आप दूर रहे है । क्यूकि इससे वक़्त और हुनर दोनों का गलत इस्त्माल होगा इसलिए बेहतर होगा आप अपने हुनर कर सही इस्त्माल करे । शुरुआत करने से पहले आप सीखे जानकारी हासिल करे फिर आगे बढ़े । 


दोस्तो अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो Like, Comment और share करना न भूले

आपका दोस्त 
Angesh Upadhyay 
Knowledge Panel 


Share:

Article 371 in Hindi What is Article 371 ?

Article 371 in Hindi
Hello friends आप तो जानते ही है की भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 और अनुच्छेद 35A को निरस्त कर दिया है ,ऐसे मे अब अगर आप जम्मू कश्मीर मे खुद की जमीन खरीदना चाह रहे है तो अब ये मुमकिन है की आप अपना आशियाना वहाँ बना सकते है जबकि धारा 370 के लागू होने के बाद भारत का कोई भी नागरिक जम्मू कश्मीर मे जमीन नहीं ले सकता था ।

लेकिन भारत मे अब भी कैसे ऐसे राज्य है जहां धारा 370 लागू नहीं है लेकिन फिर भी देश का कोई भी नागरिक इन राज्यों मे खुद की जमीन नहीं खरीद सकता है और ऐसा इसलिए है क्यूंकि इन राज्यों को विशेष राज्य का दर्जा हासिल है और यहाँ धारा 371 लागू है ।

तो आइए जानते है ऐसे कौन कौन से राज्य है? और क्या होता है विशेष राज्य का दर्जा? और जानिए क्या है धारा 371(अनुच्छेद 371) ?

Knowledge panel पे विस्तृत रूप से ये सारी जानकारी आपको दी जाएंगी अगर आपके पास इससे जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो comment बॉक्स मे हमे बताएं ।

धारा 371 क्या है ?
What is Article 371 ?

भारत मे कई ऐसे राज्य है जिन्हे कई विशेष अधिकार प्राप्त है जिसके तहत केंद्र सरकार उन राज्यों के विकास,सुरक्षा एवं सेवाओ आदि के लिए विशेष पैकेज एवं अनुदान देती रहती है दूसरी शब्दो मे यूं कहे की ये राज्य,केंद्र सरकार के विशेष संरक्षण मे रहती है और केंद्र सरकार ये सभी दायित्वों को भारत की सविधान के 21वें भाग मे अस्थाई रूप से लिखित अनुच्छेद 371 के तहत करती है । 


किन राज्यों मे लागू है अनुच्छेद 371 ?

भारत के 11 राज्यों मे ये धारा लागू की गई है जिसे 11 अलग अलग भागों मे बांटा गया है जिसमे अनुच्छेद 371 ,371A, 371B, 371C, 371D, 371E, 371F, 371G, 371H, 371I, 371J शामिल है । और इन राज्यों जैसे महाराष्ट्र और गुजरात नागालैंड असम आंध्र प्रदेश और तेलंगाना सिक्किम मिजोरम अरुणाचल प्रदेश गोवा कर्नाटक मे ये लागू की गई है । 


जानिए इन सभी भागों की विस्तृत जानकारी 

अनुच्छेद 371 

संविधान का अनुच्छेद 371 महाराष्ट्र और गुजरात (Maharashtrya and Gujrat) राज्य के लिए है। इसके मुताबिक इन राज्यों के राज्यपाल की यह जिम्मेदारी है कि महाराष्ट्र में विदर्भ, मराठवाडा और शेष महाराष्ट्र के लिए और गुजरात में सौराष्ट्र और कच्छ के इलाके के लिए अलग Development Board (विकास बोर्ड) बनाए जाएंगे,इन बोर्डों का काम इन इलाकों के Developments के लिए एक समान राजस्व का वितरण होगा।  साथ ही राज्य सरकार के अंतर्गत technical education (तकनीकी शिक्षा), रोजगारपरक शिक्षा और रोजगार के मौके प्रदान करने की जिम्मेदारी भी इन बोर्ड के ऊपर ही होगी। 


Click Here - जानिए क्या है अनुच्छेद 370 और 35 A 

अनुच्छेद 371A

ये अनुच्छेद भारत के नागालैंड (Nagaland) राज्य मे लागू है जिसके अनुसार नागालैंड के जमीन पर नागा वासियों का मालिकाना हक हैऔर इससे जुड़े कानून पर केंद्र सरकार का कोई हक नहीं है इसके अलावा नागालैंड के पारंपरिक नियमों ,सामाजिक और धार्मिक रीतिरिवाज,फ़ौजदारी और दीवानी न्याय व्यवस्था पर केंद्र सरकारी कोई कानून नहीं ला सकती जब तक नागालैंड के विधानसभा सदन इस पर फैसला ना सुना दे । इसी अनुच्छेद के तहत नागालैंड के तुएनसांग जिले को भी विशेष दर्जा मिला है, नागालैंड सरकार में तुएनसांग जिले के लिए एक अलग मंत्री भी बनाया जाता है,साथ ही इस जिले के लिए एक 35 सदस्यों वाली स्थानीय काउंसिल बनाई जाती है। 


अनुच्छेद 371 B 

यह अनुच्छेद असम (Assam) के लिए है,इसके मुताबिक भारत के राष्ट्रपति राज्य विधानसभा की आदिवासी इलाकों से चुन कर आए विधानसभा सदस्य समितियों के गठन कर वहाँ विकास कार्यो मे प्रेरित करेंगे जो कार्यों का सारा लेखा जोखा राष्ट्रपति को देंगे । 


अनुच्छेद 371 C

यह अनुच्छेद मणिपुर (Manipur )के लिए है, इसके मुताबिक भारत के राष्ट्रपति विधानसभा में राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों से निर्वाचित सदस्यों की एक समिति का गठन और कार्य करने की शक्ति प्रदान कर सकते हैं, और इसके काम को सुनिश्चित करने के लिए राज्यपाल को विशेष जिम्मेदारी सौंप सकते हैं। राज्यपाल को इस विषय पर हर साल एक रिपोर्ट राष्ट्रपति के पास भेजनी होती है। 


अनुच्छेद 371 D 

इस अनुच्छेद को 32वें संशोधन के बाद 1973 में जोड़ा गया जो पहले सिर्फ आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh )के लिए था, लेकिन 2014 में आंध्र प्रदेश के दो हिस्से करने के बाद ये अनुच्छेद आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के लिए लागू हुआ। इसके अंतर्गत इन राज्यों के लिए राष्ट्रपति के पास यह अधिकार होता है कि वह राज्य सरकार को आदेश दे कि किस नियुक्ति मे किस वर्ग के लोगों को नौकरी दी जाय , इसी तरह शिक्षण संस्थानों में भी राज्य के लोगों को बराबर हिस्सेदारी या आरक्षण मिलता है,राष्ट्रपति नागरिक सेवाओं से जुड़े पदों पर नियुक्ति से संबंधित मामलों को निपटाने के लिए हाईकोर्ट से अलग ट्रिब्यूनल बना सकते हैं। 


अनुच्छेद 371 E 

इसके तहत तहत केंद्र सरकार संसद में कानून बनाकर आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh ) में एक केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना करेगी। ये अनुच्छेद समय के साथ अप्रसांगिक हो गया है यानि इसे हटा दिया गया । 


अनुच्छेद 371 F 

इस अनुच्छेद को संविधान में 36वें संशोधन के बाद 1975 में जोड़ा गया  जो सिक्किम (Sikkim) राज्य के लिए लागू की गई जिसके तहत राज्य के विधानसभा के प्रतिनिधि मिलकर एक ऐसा प्रतिनिधि चुन सकते हैं जो राज्य के विभिन्न वर्गों के लोगों के अधिकारों और रुचियों का ख्याल रखेंगे,संसद विधानसभा में कुछ सीटें तय कर सकता है, जिसमें विभिन्न वर्गों के ही लोग चुनकर आएंगे,राज्यपाल के पास विशेष अधिकार होते हैं जिसके तहत वे सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए बराबर व्यवस्थाएं किए जा सकें,साथ ही राज्य के विभिन्न वर्गों के विकास के लिए प्रयास करेंगे,राज्यपाल के फैसले पर किसी भी कोर्ट में अपील नहीं की जा सकेगी। इसके अलावा भारत के सभी कानून भी सिक्किम में लागू होंगे। 


अनुच्छेद 371 G 

1986 में किए गए संविधान के 53वें संशोधन के बाद मिजोरम (Mijoram )के लिए अनुच्छेद 371 G को जोड़ा गया जिसके अंतर्गत भारतीय संसद मिजोरम विधानसभा के अनुमति के बगैर मिजोरम मे कोई भी कानून पास नहीं करवा सकती । 


अनुच्छेद 371 H 

1986 में 55वें संविधान संशोधन के बाद अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh ) के लिए यह अनुच्छेद जोड़ा गया। जिसके अनुसार अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल के पास कानून व्यवस्था से जुड़े मसलों पर मंत्रिमंडल से चर्चा करने के बाद अपने विवेकानुसार फैसले लेने का अधिकार होगा,अगर कानून व्यवस्था के किसी मुद्दे पर राज्यपाल और सरकार में मतभेद होंगे तो राज्यपाल का निर्णय ही मान्य होगा। 


अनुच्छेद 371 I 

यह अनुच्छेद गोवा (Goa) राज्य के लिए बनाया गया कानून था। गोवा आकार में बेहद छोटा था इसलिए इस अनुच्छेद के मुताबिक गोवा की विधानसभा को कम से कम 30 सदस्यों की विधानसभा बनाने का नियम बनाया गया, हालांकि ये भी समय के साथ निरस्त हो गया है।


अनुच्छेद 371 J 

2012 में संविधान में किए गए 98वें संशोधन के बाद कर्नाटक (Karnataka )के लिए यह अनुच्छेद बनाया गया। यह अनुच्छेद 371 से मिलता जुलता नियम है,इसके मुताबिक कर्नाटक में हैदराबाद-कर्नाटक के इलाके के लिए एक अलग विकास बोर्ड बनेगा जो हर साल राज्य विधानसभा को अपनी रिपोर्ट देगा। साथ ही यह विकास बोर्ड इलाके के विकास के लिए मिलने वाले राजस्व का वितरण भी समान तौर पर करेगा।  साथ ही इलाके के लोगों के लिए शिक्षा और रोजगार के समान मौके प्रदान करेगा। यह बोर्ड किसी भी सरकारी नौकरी में इस इलाके के लोगों के लिए एक अनुपात में आरक्षण की मांग भी कर सकता है और यह व्यवस्था इस इलाके में पैदा हुए लोगों के लिए ही होगी। 


Click Here - जानिए क्या हुआ कश्मीर का हाल अनुच्छेद 371 हटने के बाद  

उपर्युक्त सभी अनुच्छेद मे बताए गए कुछ नियमो को समय के साथ कुछ बदलाव भी किए गए है लेकिन भारत के उत्तर पूर्व राज्यों मे पारंपरिक रीतिरिवाजों के लिए बनाए गए नियम आज भी लागू है जहां आप वहाँ रहने वाले जनजातियों के संपत्ति और उनके अधिकारों के खिलाफ नहीं जा सकते । 

दूसरे शब्दों मे ये कहा जा सकता है की अगर आप इन राज्यों मे रहने का ख्याल बना रहें है तो आपको इन अनुच्छेदों का पालन करना होगा और आपको किराए के मकान मे ही रहना होगा क्योंकि इनमे से किसी राज्यों मे आपको जमीन नहीं मिलेगी । 


आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.



Share:

What will happen after the withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.

What will happen after the withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.

Hello friends बीते कुछ दिनों से एक मुद्दा को काफी चर्चित है वो है भारत सरकार के द्वारा जम्मू और कश्मीर से धारा 370 और 35A को हटा दिये जाने का । knowledge Panel की पिछली आर्टिक्ल मे अपने धारा 370 और 35 A के बारे मे पढ़ा होगा नहीं पढ़ा तो नीचे दिये लिंक के द्वारा आप उस पोस्ट तक जा सकते है -

इस आर्टिक्ल मे आप जानेंगे की कश्मीर से 370 और 35A के हट जाने के बाद क्या होगा। हमे उम्मीद है आप इसे पूरा जरूर पढ़ेंगे ।

भारत मे कुल 29 राज्य है और 7 केंद्रशासित राज्य है इन राज्यों मे कुछ राज्य अत्यंत पिछड़े है तो कुछ अत्यंत विकसित है । भारत के इन सभी राज्यों को विकसित बनाने के लिए भारतीय संविधान मे कई सारे नियम और कानून बनाए गए है ।


अगर वर्तमान स्थिति की बात करें तो वर्तमान मे भारत सरकार ने भारत के सबसे खूबसूरत हिस्सा जम्मू और कश्मीर मे धारा 370 हटा कर उसे पूर्णत भारत मे शामिल करने का फैसला कर लिया है और इसे केंद्रशासित राज्य बनाने की घोषणा की गई है और साथ ही साथ लद्दाख जो पहले जम्मू और कश्मीर का हिस्सा था उसे एक अलग राज्य का दर्जा देने की भी घोषणा की गई है ,इस प्रकार भारत के अब 29 राज्य और 8 केंद्रशासित राज्य हो गए है ।


जम्मू और कश्मीर से धारा 370 और 35A के हट जाने के बाद क्या होगा।
What will happen after the withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.



  • 370 को हटा कर कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलने के साथ ही भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान अब कश्मीर को अपना हिस्सा नहीं कह पाएगा। 
  • कोई special powers (खास अधिकार ) प्राप्त नहीं होंगे 
  • कश्मीर का अपना झण्डा नहीं होगा 
  • कश्मीर मे रहने वाले नागरिकों को दोहरी नागरिकता प्राप्त नहीं होगी वो अब सिर्फ भारतीय कहलाएंगे । 
  • भारत को कोई भी नागरिक अब कश्मीर मे अपनी जमीन खरीद पाएगा 
  • हिन्दू और सिखों के लिए 16% का आरक्षण लागू होगा । 
  • RTI (सूचना का अधिकार) कानून लागू होगा जिसके तहत J&K (जम्मू और कश्मीर )के नागरिक को कोई भी सरकारी और गैर सरकारी सूचना पाने का अधिकार होगा । 
  • जम्मू कश्मीर की महिला अब देश के किसी भी राज्य मे शादी कर पाएंगे । 
  • RTE (शिक्षा लेने का अधिकार) कानून लागू जिसके तहत अब J&K के बच्चे और नौजवान कहीं भी शिक्षा ले पाएंगे । 
  • पंचायत को फैसला करने का पूरा अधिकार प्राप्त होगा । 
  • देश के बढ़े निवेशक J&K मे निवेश कर सकेंगे जिससे प्रदेश का विकास होगा । 
  • विधानसभा का कार्यकाल 5 वर्षो का होगा । 
  • धारा 370 हटाने के बाद अब कश्‍मीर के लोग सिर्फ भारतीय नागरिक हैं. अगर कोई पाकिस्‍तानी भारतीय नागरिकता लेना चाहता है तो उसे पूरी प्रक्रिया से गुजरना होगा। 
  • अब जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख में भी भारत के उच्चतम न्यायालय के आदेश मान्‍य होंगे । 
withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.

आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.



Share:

What is Act 370 and 35 A? read Details in hindi


धरती का स्वर्ग कहे जाने वाला भारत की खूबसरत राज्य जम्मू कश्मीर पुरे दुनिया में अपनी खूबसूरती के लिए  मशहूर है हर कोई रहना चाहता है इस शहर में लेकिन हर कोई नहीं रह सकता इस खूबसूरत शहर में तो आइये जानते है क्या आप रह सकते है अपने ही देश भारत के इस खूबसूरत शहर में ?


भारतीय संविधान में अपना विशेष स्थान रखने वाला यह राज्य का अपना कानून है आइये जानते है कुछ महत्वपूर्ण नियम,धाराएं ,एक्ट जो जम्मू कश्मीर में लागु है। इन्हीं नियमो और धारा में एक धारा है 370 और 35 A जो भारत पाकिस्तान के बंटवारे के बाद लागू की गई



क्या है धारा 370? जानिए इसकी विस्तृत जानकारी


  1. जम्मू कश्मीर को इस धारा के अंतर्गत कुछ विशेष दर्जा प्राप्त है जो भारत के बांकी राज्यो को नहीं है ।
  2. जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के पास दोहरी नागरिकता होती है।
  3. जम्मू-कश्मीर की कोई महिला यदि भारत के किसी अन्य राज्य के व्यक्ति से विवाह कर ले तो उस महिला की नागरिकता समाप्त हो जायेगी। इसके विपरीत यदि वह पकिस्तान के किसी व्यक्ति से विवाह कर ले तो उसे भी जम्मू-कश्मीर की नागरिकता मिल जायेगी।
  4. जम्मू-कश्मीर का राष्ट्रध्वज अलग होता है। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का यहां कोई महत्व नहीं है ।
  5. जम्मू-कश्मीर के अन्दर भारत के राष्ट्रध्वज या राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान अपराध नहीं होता है।
  6. कश्मीर में महिलाओं पर शरियत कानून लागू है। इस कानून के अंतर्गत महिलाओ को कोई विशेष अधिकार नहीं प्राप्त है । इस कानून के अंतर्गत मुसलमानों के घरेलू, पारिवारिक, उसमें भी खासकर शादी, तलाक, बच्चों से संबंधित मामलों और पति-पत्नी, माता-पिता के बीच सभी मामलों का शरीयत कानून के हिसाब से ही समाधान निकाला जाता है। भारतीय कानून उसमें हस्तक्षेप नहीं कर सकता। इस्लामिक समाज इसी शरीयत कानून या शरीया कानून के हिसाब से चलता है। 
  7. कश्मीर में पंचायत को अधिकार प्राप्त नहीं है।
  8. जम्मू - कश्मीर की विधानसभा का कार्यकाल 6 वर्षों का होता है जबकि भारत के अन्य राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है।
  9. भारत के उच्चतम न्यायालय के आदेश जम्मू-कश्मीर के अन्दर मान्य नहीं होते हैं।
  10. भारत की संसद को जम्मू-कश्मीर के सम्बन्ध में अत्यन्त सीमित क्षेत्र में कानून बना सकती है।
  11. धारा 370 की वजह से कश्मीर में आरटीआई (RTI) और सीएजी (CAG) जैसे कानून लागू नहीं होते है।
  12. कश्मीर में चपरासी को 2500 रूपये ही मिलते है।
  13. कश्मीर में अल्पसंख्यकों [हिन्दू-सिख] को 16% आरक्षण नहीं मिलता।
  14. धारा 370 की वजह से कश्मीर में बाहर के लोग जमीन नहीं खरीद सकते हैं।
  15. धारा 370 की वजह से ही कश्मीर में रहने वाले पाकिस्तानियों को भी भारतीय नागरिकता मिल जाती है।
  16. धारा 370 के प्रावधानों के अनुसार, संसद को जम्मू-कश्मीर के बारे में रक्षा, विदेश मामले और संचार के विषय में कानून बनाने का अधिकार है लेकिन किसी अन्य विषय से सम्बन्धित क़ानून को लागू करवाने के लिये केन्द्र को राज्य सरकार का अनुमोदन चाहिये।
  17. इसी विशेष दर्ज़े के कारण जम्मू-कश्मीर राज्य पर संविधान की धारा 356 लागू नहीं होती। इस कारण राष्ट्रपति के पास राज्य के संविधान को बर्ख़ास्त करने का अधिकार नहीं है।
  18. 1976 का शहरी भूमि क़ानून जम्मू-कश्मीर पर लागू नहीं होता। इसके तहत भारतीय नागरिक को विशेष अधिकार प्राप्त राज्यों के अलावा भारत में कहीं भी भूमि ख़रीदने का अधिकार है। यानी भारत के दूसरे राज्यों के लोग जम्मू-कश्मीर में ज़मीन नहीं ख़रीद सकते। लेकिन अगर वहाँ के निवासी किसी अन्य राज्यो मे जमीन लेना चाहे तो वो धारा 370 के तहत निजी कार्य के लिए जमीन ले सकता है । 
  19. भारतीय संविधान की धारा 360 जिसके अन्तर्गत देश में वित्तीय आपातकाल लगाने का प्रावधान है, वह भी जम्मू-कश्मीर पर लागू नहीं होती।

कैसे शुरुआत हुई इस धारा की ?

आजादी से पहले पाकिस्तान और भारत दोनों एक थे लेकिन जब पाकिस्तान और हिंदुस्तान का बटवारा हुआ तो उस दौरान जम्मू कश्मीर की सत्ता राजा हरीसिंह के हाथ मे थी वो कश्मीर का पूर्ण रुपेण स्वतंत्रा चाहते थे लेकिन उसी दौरान पाकिस्तानी देश के समर्थक कालीबाइ ने जम्मू कश्मीर पर भरी आक्रमण कर दिया और राजा के सामने प्रस्ताव रखा की वो पाकिस्तान मे शामिल हो जाए । उस दौरान ही भारतीय संविधान सभा मे गोपालस्वामी अयांगर ने धारा 306 A को पेश किया जो बाद मे 370 मे तब्दील हो गई और 26 जनवरी 1957 को इस विशेष धारा को लागू कर दिया गया जिसके साथ ही जम्मू कश्मीर को भारत के अन्य राज्यो के अपेक्षा अलग अधिकार प्राप्त हुये । 


अब जानिए क्या है धारा 35 A?



  • यह धारा 370 का ही हिस्सा है जिसे अनुच्छेद 35A कहा गया है जिसे भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद 14 मई 1954 को लागू किया था। इस आदेश के राष्ट्रपति द्वारा पारित किए जाने के बाद भारत के संविधान में इसे जोड़ दिया गया।इस धारा के तहत जम्मू-कश्मीर के अलावा भारत के किसी भी राज्य का नागरिक जम्मू-कश्मीर में कोई संपत्ति नहीं खरीद सकता इसके साथ ही वहां का नागरिक भी नहीं बन सकता। 
  • इस संविधान के मुताबिक स्थायी नागरिक वो व्यक्ति है जो 14 मई 1954 को राज्य का नागरिक रहा हो या फिर उससे पहले के 10 वर्षों से राज्य में रह रहा हो. साथ ही उसने वहां संपत्ति हासिल की हो। 
  • अनुच्छेद 35A से जम्मू-कश्मीर सरकार और वहां की विधानसभा को स्थायी निवासी की परिभाषा तय करने का अधिकार मिलता है. इसका मतलब है कि राज्य सरकार को ये अधिकार है कि वो आजादी के वक्त दूसरी जगहों से आए शरणार्थियों और अन्य भारतीय नागरिकों को जम्मू-कश्मीर में किस तरह की सहूलियतें दे अथवा नहीं दे। 
  • अनुच्छेद 35A के मुताबिक अगर जम्मू-कश्मीर की कोई लड़की किसी बाहर के लड़के से शादी कर लेती है तो उसके सारे अधिकार खत्म हो जाते हैं. साथ ही उसके बच्चों के अधिकार भी खत्म हो जाते हैं। 


यानि अगर आप धरती के जन्नत मे रहना चाहते है तो आपको 10 वर्ष पहले जाकर फिर से जन्म लेना होगा जो संभव नहीं है । 


दोस्तो बीते कुछ दिनों से सभी राजनीतिक दलों ने इसे हटाने की बात कर रही है आइये जानते है क्यौ हटाया जा रहा है इस अनुच्छेद को । 



क्यों हटाया जा रहा है? 


इसे खत्म करने की बात इसलिए हो रही है क्योंकि इस अनुच्छेद को संसद के जरिए लागू नहीं किया गया है, दूसरा कारण ये है कि इस अनुच्छेद के ही कारण पाकिस्तान से आए शरणार्थी आज भी राज्य के मौलिक अधिकार और अपनी पहचान से वंचित हैं।

शायद इसीलिए कश्मीर मे पाकिस्तानियों ने अपना अधिकार आसानी से जमा लिया है ।  



Click and Read - End of Article 370 and 35A 




Also Subscribe Our YouTube Channel-  Click and Subscribe

ये जानकारी आपको कैसी लगी अपना जरूरी सुझाव या आपके पास हो कोई जरूरी जानकारी तो आप भी हमारे जरिये अपनी जानकारी साझा कर सकते है Like, Comment और share करना न भूले इससे हमे और भी बेहतर आर्टिक्ल लिखने की प्रेरणा मिलेगी । अपना जरुरी सुझाव और ऐसी जानकारी आप जानना चाहते है हमें knowledgepanel123 @gmail.com पर भेजें।
Information Sources - Google,News and Books 



Share:

live streaming websites free top website of internet

live streaming websites free

Hello Friends दुनिया मे बहुत चीजें ऐसे है जो हर मिनट हर सेकंड घटती बढ़ती रहती है अक्सर हम इनमे से बहुत सी चीजें इंटरनेट मे खोजते है लेकिन हर खोजी हुई बातें बिलकुल नई नहीं होती यानि वो Live नहीं होती तो आइये जानते है कुछ महत्वपूर्ण चीजें जो आपको Internet मे Websites के जरिये मिलेगी बिलकुल Live वो भी Free मे -

1. दुनिया की बढ़ती जनसंख्या Live
    World Population Live 
क्या आप जानते है जब आप ये Article पढ़ रहे उस वक़्त दुनिया मे हजारो लोगो ने जन्म ले लिया होगा और ना जाने कितने लोगो ने अपनी जान गवाई होगी । Internet पे एक ऐसा ही website है जहां आप दुनिया मे बढ़ रही Population को Live देख सकते है कितने लोग हर मिनट मर रहे है कितने जन्म ले रहे है,किस देश की कितनी population है वो सब कुछ Just Click Below this Link

World Population Live
Click Here and get - world Population Live 

2. Internet Live stats 
  • हर सेकंड कितने लोग Smartphone खरीदते है ?
  • कितने सिगरेट पी जाते है लोग एक दिन मे ?
  • एक दिन मे Google मे कितने Search होते है ?
  • एक दिन मे Twitter पे कितने post Tweet होते है ?
  • कितने Emails हर रोज भेजे जाते है ?
  • कितने कार बनाए जाते है ?
  • कितने Internet User है Online ?
जानिए social Media पे क्या हो रहा है कितने Websites बन रहे है YouTube पे कितने Videos Upload हो रहे है कितने लोग अभी Computer बेच और खरीद रहे है Social Media से जुड़ी सारी जानकारी बिलकुल Live -



Internet Live stats


3.Internet Map Live
क्या आप पूरे World का website Activity देख सकते है ?
अगर आप Worlds Internet को एक Map के जरिये देखना चाहते है तो ये website आपको बताएगी की World मे कौन कौन से Websites है टॉप है जिसमे सबसे ज्यादा Traffic है 

Internet Map Live

इस तरह के Map जरिये आप देख पाएंगे की जो बड़े सर्कल मे है उसमे सबसे ज्यादा Visitors है इस Map मे आप अपने Website को भी खोज सकते है तो खोजिए


4. Live World Radio
दोस्तो क्या आप रेडियो सुनते है अगर सुनते है तो क्या आप रेडियो मे दुनिया का सभी Radio Channel को सुन पाते है । अगर नहीं सुन पाते तो इंटरनेट पे आपको एक रेडियो मिलेगा जिसमे आप दुनिया के किसी भी Radio Channel को सुन पाएंगे वो भी Live इस रेडियो को आप खरीद नहीं सकते बस देख सुन सकते है वो भी Free मे और बिलकुल Live -


Live World Radio


ये Green Dots ये बताता है की कितने radio Station वर्तमान मे चालू है 




5. Exact Time Live 
क्या आपके  घड़ी की समय सही है अगर नहीं तो कहाँ का टाइम बिलकुल सही होगा जिससे आप अपने घड़ी के टाइम को मिला सकते है अक्सर हम News Channel के टाइम को सही मानते है लेकिन वहाँ भी हर News Channel मे अलग अलग Time दिखता है तो ये Website आपको Help करेगा आपके घड़ी के Time मिलाने मे इतना ही नहीं आप पूरे World के Time को देख पाएंगे । तो देखिये क्या आपके घड़ी का time सही है या फिर जानिए अभी America,Koriya,Pakistan जैसे देशो मे क्या Time होगा - 

Exact Time Live
आप इसे अपने समझ के अनुसार 12 Hr Watch को 24 Hr Watch मे बदल सकते है - 


6. World के सभी News Channel को देखे Live 


World के सभी News Channel को देखे Live

इस Website से आप दुनिया के सभी News Channel,Movies Channel,Music Channel जैसे कई channels का Live Video देख पाएंगे बिलकुल Live 


7. Universe Live 
Internet के जरिये आप Universe (ब्रह्मांड ) के live footage  देख सकते है यहाँ आप देख सकते है की कैसे NASA के Scientist Satellite को Repair करते है - 

Universe Live


8. Indian Loksabha Election Voting Live
भारत मे चुनाव का माहौल है ऐसे मे आने वाले दिनों मे जब Results की बारी आएगी तो आप हर News channels पे Live Voting देख पाएंगे लेकिन क्या इंटरनेट मे ऐसी कोई Websites जहां सभी सीटो के Live Updates मिले ? जी हाँ बिलकुल है 

Indian Loksabha Election Voting Live

ये वो websites है जहां आप live Streaming Footage देख सकते है 



ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए VIsit करे www.knowledgepanel.in




Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here

Like our Entertainment Page -  Thik HaiClick Here

Our Job Panel - Job Panel - Click Here




Share:

Featured Post

Navratri Quotes in Hindi Happy Navratri wishes

Hello friends नवरात्र प्रारम्भ होने जा रहा है इस पवित्र नौ दिन मे हिन्दू धर्म मानने वाले लोग बारे धूम धाम से माता रानी की पुजा अर्चना करते...

Translate