Showing posts with label News Panel. Show all posts
Showing posts with label News Panel. Show all posts

Bijli kaise Girti hai and Thunder kya hai janiye Hindi me


बारिश का मौसम,प्रकृति का ऐसा रूप जो कभी बेहद खूबसूरत लगता है तो कभी भयावह,हमे हर वर्ष प्रकृति का ये रूप देखने को मिलता है इस दौरान निचले इलाके मे अत्यधिक बारिश बाढ़ (Flood) का रूप लेती है तो कही बिजली गिरने की घटना कई लोगों की जान ले लेती है । बाढ़ आने का कारण तो हम सब जानते है और इससे आप खुद को बचा भी सकते है लेकिन बारिश की बिजली जिसे आसमानी बिजली या बज्रपात, ठनका ,तड़का भी कहते है,अगर आप इसके चपेट मे आ गए तो आपका बच पाना नामुमकिन है । 

तो आइये बेहद आसान और सरल भाषा मे जानते है और समझते है की बज्रपात क्या है ? क्यूँ गिरती है ? कैसे बनती है ये आसमानी बिजली ? इन्सानों के लिए ये कितना खतरनाक है ? कैसे करे इससे बचाव ? इस Article मे आपको इन सभी सवालो के जवाब सरल तरीके से मिलेगी ।

Share:

Interesting Facts About A P J Abdul Kalam


Dr. A P J Abdul Kalam 

दोस्तो डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम एक ऐसा नाम जो भारत के हर नागरिक बड़े शान से लेता है हमे गर्व है की अब्दुल कमाल हमारे का जन्म हमारे देश मे हुआ ।

दोस्तो उनके जीवन के बारे मे तो हर कोई जानना चाहता है हर कोई उनके तरह बनना चाहता है । आज मैं आपको बताऊंगा डॉ अब्दुल कलाम के जीवन की कुछ रोचक जानकारी जिसे पढ़ कर आपको गर्व होगा और सायद आप इन्हे अपने जीवन मे ग्रहण भी करने लगे । और कलाम साहेब के लिए सम्मान और बढ़ जाए और हमे नाज होने लगेगा अपने भारतीय होने पर हमे गर्व होगा के हम उस देश मे रहते है जहां कलाम जैसे महान रहते है । 

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का  भारत के अंतरिक्ष और रक्षा विभाग के लिए किए गए योगदान को, किसी भी विश्लेषण द्वारा समझाया नहीं जा सकता। इनके इस अतुलनीय योगदान के कारण ही  इन्हें मिसाइल मैन (Missile Man of India) के नाम से भी जाना जाता है। विज्ञान की दुनिया में चमत्कारिक प्रदर्शन के कारण ही डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के लिए राष्ट्रपति भवन के द्वार स्वत: ही खुल गए थे। और हम उन्हे भारत के पूर्व राष्ट्रपति के रूप मे भी जानते है ।
उनेक जीवन के कुछ अति शोभनीय तथ्य कुछ इस प्रकार है –
Share:

What is Jio Giga fiber? jio gigafiber kya hai

jio gigafiber kya hai

Hello Friends अगर आप High Speed Internet चलाने के शौकीन है और तैयार हो जाइए भारत के सबसे तेज Internet सेवा के लिए जहां आपको मिलेगा 1 GBS की बेहतरीन Speed यानि 1 GB की डाटा पलक झपकते ही Download हो जाएगी ।
Share:

Chines Products in India & Why are chines products cheaper ?

Chines Products in India

Hello Friends,बीते कुछ दिनों से भारत और चीन के बीच तनाव का माहौल बन गया है भारत के लोग China के Products को Boycott कर रहे है इसके कई कारण है ,भारत के सीमा मे चीनी सेना से नोक झोक होना,भारत के कई जबाज़ सैनिक का शहीद होना और china द्वारा Coronavirus के बारे मे कई सारे जानकारी को छुपना,दुनिया के कई देश china को इस वैश्विक महामारी का जिम्मेदार मान रहा है और सबसे एहम बात चाइना के Products की Quality खराब होना ।
Share:

World Thalassemia Day celebrated on May 8 every year


Hello Friends पुरानी कहावत है "स्वास्थ्य ही धन है" Health is Wealth ,एक स्वस्थ व्यक्ति किसी अमीर व्यक्ति से ज्यादा धनी माना जाता है ,इसलिए  आज हम चर्चा करेंगे आपके Health की ,आज आप जनाएंगे दुनिया की एक गंभीर लाइलाज बीमारी Thalassemia (थेलेसीमिया ) के बारे मे ।

हर साल 8 May को पूरी दुनिया मे International Thalassaemia Day के रूप मे मनाई जाती है जो सभी करोड़ो Thalassemia (थेलेसीमिया ) पीड़ित को समर्पित होता है ।

World Health Organisation (WHO) के अनुसार Thalassemia (थेलेसीमिया) दुनिया के गंभीर लाइलाज आनुवांशिक बीमारी (genetic disorders) मे से एक है । 

आइये जानते है क्या है Thalassemia (थेलेसीमिया) और कैसे बचे इस गंभीर बीमारी से ।



What is Thalassemia (थेलेसीमिया) ?



Thalassemia (थेलेसीमिया) एक गंभीर आनुवांशिक बीमारी (genetic disorders)  है जो किसी को विरासत मे अपने माता पिता से मिलती है,इसका अर्थ ये हुआ की अगर कोई माँ बाप के शरीर मे Thalassemia (थेलेसीमिया) जैसी कोई Blood Diseases है तो उनके होने वाले  बच्चे  मे इस रोग के होने का खतरा बढ़ जाता है ।

इस रोग के होने पर शरीर की Hemoglobin (हीमोग्लोबिन) निर्माण प्रक्रिया में गड़बड़ी हो जाती है जिसके कारण रक्तक्षीणता (Anemia)के लक्षण प्रकट होते हैं। इसकी पहचान बच्चे के तीन माह की आयु के बाद ही होती है। इसमें रोगी बच्चे के शरीर में रक्त की भारी कमी होने लगती है जिसके कारण उसे बार-बार बाहरी खून चढ़ाने की आवश्यकता होती है।


Hemoglobin (हीमोग्लोबिन) की मात्रा कम हो जाने से शरीर दुर्बल हो जाता है तथा अशक्त होकर हमेशा किसी न किसी बीमारी से ग्रसित रहने लगता है। जिसे 
Thalassemia (थेलेसीमिया) कहा जाता है । 



Thalassemia (थेलेसीमिया) का इलाज और होने के कारण 


ये एक लाइलाज बीमारी है जिसका अब तक कोई इलाज उपलब्ध नहीं । Hemoglobin (हीमोग्लोबीन) दो तरह के Protein से बनता है Alpha Globin and Bita Globin,Thalassemia (थेलेसीमिया) से पीड़ित व्यक्ति के शरीर मे इन प्रोटीन में ग्लोबिन निर्माण नहीं होता,जिसके  कारण Red blood cells तेजी से नष्ट होने लगती है , रक्त की भारी कमी होने के कारण रोगी के शरीर Hemoglobin (हीमोग्लोबिन) की कमी हो जाती है जिस कारण बार-बार रक्त चढ़ाना पड़ता है एवं बार-बार रक्त चढ़ाने के कारण रोगी के शरीर में अतिरिक्त Iron जमा होने लगती है, जो Heart,Kidney और Lungs में पहुँचकर मौत का कारण बन जाता है ।

यह बीमारी उन बच्चों में होने की संभावना अधिक होती है, जिनके माता-पिता दोनों के Genes (जींस) में Thalassemia (थैलीसीमिया) होता है। अगर समय रहते Pregnancy (ग्रभावस्था) का दौरान समय समय पे जांच की जाय तो होने वाले बच्चे को इस गंभीर बीमारी से बचाया जा सकता है । 

Medicine Thalassemia पर पूरे विश्व मे अनुसंधान प्रयास जारी है और इसी अनुसंधान ने इस बीमारी को कंट्रोल करने की दावा बनाई है  भारत मे यह Asunra  के नाम से जाना जाता है वेदेशों मे Exjade के नाम से प्रसिद्ध है ये दवाई शरीर मे Iron की मात्रा को Control करने मे सहायक है जिससे Thalassemia के Patient को Extra Iron से होने वाले खतरो से बचाया जा सकता है । 
ये बिलकुल नई दवा है इससे पहले दो तरीको से शरीर से Iron की मात्रा कम करके इसका इलाज होता था । 


पहला Deferasirox injection के जरिए आठ से दस घण्टे तक लौह निकाला जाता है। यह प्रक्रिया बहुत महंगी और कष्टदायक होती है। इसमें प्रयोग होने वाले एक इंजेक्शन की कीमत 135 रुपए होती है। इस प्रक्रिया में हर साल पचास हजार से डेढ़ लाख रुपए तक खर्च आता है। 

दूसरी प्रक्रिया में kelfer नामक दवा (Capsule) दी जाती है। यह दवा सस्ती तो है लेकिन इसका इस्तेमाल करने वाले 30% रोगियों को जोड़ों में दर्द की समस्या हो जाती है। साथ ही इनमें से 1% बच्चे गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं।ऐसे में नई दवा Asunra काफ़ी लाभदायक होगी। यह दवा फलों के रस के साथ मिलाकर पिलाई जाती है और इसकी कीमत 100 रुपये प्रति डोज है।


Thalassemia (थेलेसीमिया) के प्रकार 

Type of Thalassemia 


मुख्यतः यह रोग दो वर्गों में बांटा गया है। Minor और Major 

जब ये रोग किसी बच्चे मे माता पिता मे किस एक से प्राप्त होता है तो इसे Minor Thalassemia कहा जाता है अगर माता पिता दोनों Thalassemia से पीड़ित है तो उसे Major Thalassemia कहते है । 


Thalassemia (थेलेसीमिया) के लक्षण । 


अगर कोई व्यक्ति या बच्चे का सूखता चेहरा, लगातार बीमार रहना, वजन ना ब़ढ़ना और इसी तरह के कई लक्षण दिखाई दे तो वह बच्चों या व्यक्ति में थेलेसीमिया रोग होने पर होने के लक्षण है।


Thalassemia से बचाव 

किसी Thalassemia पीड़ित बच्चे की उम्र 12 से 15 साल होती है इस बीमारी का इलाज करने पर लगभग 25 वर्ष तक जीने की उम्मीद रहती है उम्र के बढ़ते ही Blood की जरूरत ज्यादा लगने लगती है ।  

इससे बचने के लिए स्त्री पुरुष विवाह से पहले Blood Test करा लें तभी आने वाली पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचा जा सकता है। नजदीकी रिस्तेदारों मे विवाह करने से बचें और जिस प्रकार विवाह से पहले स्त्री पुरुष अपने जन्म कुंडली का मिलान करते है उसी प्रकार स्वास्थ्य कुंडली का भी मिलान करना चाहिए ताकि वो खुद को और आने वाले पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचा सके । 


World Health Organisation (WHO) के अनुसार भारत मे प्रत्येक वर्ष 5 से 7 हजार Thalassemia पीड़ित बच्चे का जन्म होता है । केवल Delhi और उसके आसपास के क्षेत्र में ही यह संख्या करीब 1500  है। भारत की कुल Population का 3.5 % Thalassemia (थैलेसीमिया) से पीड़ित है।England में केवल 350 बच्चे इस रोग के शिकार हैं, जबकि पाकिस्तान में 1लाख  और भारत में करीब 10 लाख बच्चे इस रोग से ग्रसित हैं।

आइये इस International Thalassaemia Day के दिन ये संकल्प ले की आने वाले पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचाएंगे क्यूंकी  ये एक जानलेवा बीमारी है जिसका कोई इलाज नहीं सिर्फ बचाव ही इसका इलाज है इसलिए समय समय पर खून की जांच करवाले और अपने आने वाले पीढ़ी को इस गंभीर बीमारी से बचाए । 

click Here and Get WHO Reports


आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.


Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here


Share:

What is Crowdfunding ? How to Collect fund through Crowdfunding ?



Hello Friends भारत मे Lokshabha Election का माहौल है ऐसे मे हर रोज आप News Channels मे तरह तरह की बाते सुन रहे होंगे कभी नेताओ की नोक झोक तो कभी जनता की शिकायत। इन सभी बातों के बीच अपने एक शब्द सुना होगा Crowdfunding (क्राउडफंडिंग)
Share:

cheque bounce reasons.Cheque bounce hone par kya kare in hindi

How to protect myself from cheque bounce

Hello Friends वर्तमान मे Digital Payment का चलन बहुत बढ़ गया है हर कोई पैसे के लेन देन के लिए Digital Platform जैसे UPI,Mobile Banking,Internet Banking etc का इस्त्माल करते है और कई लोग Payment Transfer के लिए Cheque कर प्रयोग भी करते है लेकिन कभी कभी Digital Technology दगा दे जाती है और आपका Cheque Bounce कर जाता है ।

Share:

World Environment day Stop Air Pollution

Hello Friends क्या आप जानते है दुनिया भर मे 92 % लोग स्वक्छ हवा मे सांस नहीं लेते है यानि हमारे चारो तरफ की हवा स्वक्छ  नहीं है इसी थीम पे हम सब एक अच्छे और स्वक्छ Environment (वातावरण) मे रहना पसंद करते है लेकिन वर्तमान मे एक स्वक्छ माहौल का मिलना बड़ी मुश्किल है हर तरफ प्रदूषित हवा गंदगी जो अच्छे Environment को भी खराब कर रही है।

World Environment Day Special 

इस खराब माहौल के जिम्मेदार हम खुद है जाने अनजाने मे हम वो कर गुजर जाते है जिसका सीधा असर हमारे Environment पे पड़ता है और हम गंभीर बीमारी का शिकार हो जाते है ।

Air Pollution, Water Pollution, Noise Pollution ये सब  खराब Environment होने के लक्षण है इन सब को कंट्रोल करना भी हमारे जिम्मे है । इसी बात को ध्यान मे रखते हुये प्रत्येक वर्ष 5 June को World Environment Day मनाया जाता है ।

तो आइये इस World Environment Day मे ये संकल्प करे और अपने Environment को स्वक्छ करने की पहल करें।


सबसे पहल आइये जानते है क्यूँ मानते है World Environment Day और कब हुई इसकी शुरुआत ?Why we are celebrate World Environment Day ?


United Nation (UN) के प्रतिनिधित्व मे प्रत्येक वर्ष 5 June को World Environment Day(WED) मनाया जाता है इसकी शुरुआत मे 1972 मे सयुंक्त राष्ट्र महासभा (UN General Assembly) के द्वारा की गई । इसके दो साल बाद 1974 मे पहले सम्मेलन मानव पर्यावरण पर स्टॉकहोम सम्मेलन (Stockholm Conference on the Human Environment) मे मानव संबंधो और पर्यावरण के सुरक्षा की चर्चा हुई और इसके साथ ही Only One Earth थीम के साथ दुनिया का पहला World Environment Day (WED) मनाया गया उसके बाद इसे प्रत्येक वर्ष एक खास थीम के साथ मनाने की घोषणा की गई ।

प्रत्येक वर्ष 143 देश इस कार्यक्रम मे शामिल होती है और ये कार्यक्रम अलग अलग देशों मे मनाया जाता है जहां बीते साल 2018 मे भारत इसकी मेजबानी Plastic Pollution के थीम से कर रहा था वही इस बार 2019 मे चीन इसकी मेजबानी कर रहा है जिसका थीम है Air Pollution


World Environment day Thames 2019

इस बार WED का थीम Air Pollution रखा गया है और जिसकी मेजबानी चीन (China)कर रहा है। 1974 से लेकर अब तक आयोजित कार्यक्रम और इसके थीम की जानकारी कुछ इस प्रकार है -



इन सभी आयोजन का मकसद धरती के Environment को जीवन जीने के लिए बरकरार रखना है क्यूंकि हर पल हमारे चारों तरफ की हवा दूषित होती जा रही है जो हमारे लिए खतरनाक है।


Air Pollution को WED का थीम क्यूँ रखा गया ?

WHO के अनुसार हर वर्ष पूरे धरती पर तकरीबन 70 लाख लोग Air Pollution का शिकार होते है , अकेले सिर्फ एशिया-प्रशांत मे 40 लाख लोग प्रत्येक वर्ष Air Pollution के चपेट मे आकार गंभीर बीमारी का शिकार हो जाते है । इसलिए इसी आंकड़ो को देखते हुये इस बार United Nations Environment Programme मे Air Pollution को world Environment Day 2019 का थीम रखा गया है ,जिसकी मेजबानी (Hosting) China कर रही है ।

वर्तमान मे चाइना दुनिया मे Climate Change को लेकर सबसे ज्यादा अग्रसर है इसलिए  World’s Electric vehicles मे सबसे ज्यादा चाइना की भागीदारी है पूरी दुनिया मे 99 % Electric Bus चाइना बनाती है । ये Electric Bus,Air Pollution को कंट्रोल करने मे काफी मददगार है ।



World Environment Day in India

भारत मे इस बार Ministry of Environment ने World Environment Day के मौके पर Hawa Aane de नाम से Song Release किया है जो 2019 मे लागू World Environment Day के Global थीम Air Pollution पे आधारित है । 


इस गाने को Shankar Mahadevan, Sunidhi Chauhan, Shaan and Shantanu Mukherjee  ने गाया है और इसके विडियो मे आप अक्षय कुमार को भी देख सकते है जो अक्सर नागरिक सुरक्षा को लेकर अग्रसर रहते है । 

इस गाने का जरिये ये संदेश दी जा रही है की हमारे चारों तरफ हो रही दूषित हवा को रोका जाए ताकि हम खुली हवा मे सांस ले सके । 




तो संकल्प लीजिये इस World Environment Day पर,हवा को दूषित होने से बचाएंगे ताकि हम सब एक स्वक्छ हवा मे सांस ले सके याद रखे दुनिया मे 92 % लोग दूषित हवा मे सांस लेते है ये कहीं 100 न पहुँच जाये इसलिए 

हवा आने दे 

आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in


Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here


Like our Entertainment Page -  Thik HaiClick Here


Our Job Panel - Job Panel - Click Here



MI Mobile Phone -MI Mobile Phones

Certified Refurbished Mobiles- Buy Old Smartphones  

High Quality Products at Low Price Best Product you never missed

Mobile Accessories at Low PriceLow price mobile accessories

Share:

What Article 30 and 30(1A) in hindi

What Article 30 and 30(1A) in hindi

भारतीय संविधान दुनिया के ऐसे संविधानों मे एक है जो एक लिखित संविधान है यानि इसके सभी अनुछ्छेद(Article) और Acts को लिख कर एक Documents तैयार की गई है , जो दुनिया के कुछ ही देश ऐसे है जिसका संविधान लिखित रूप मे उपलब्ध है और इन्हे बिना किसी कानूनी प्रक्रिया से बदला नहीं जा सकता । भारत इनमे से ही एक है जिसका संविधान देश को एक मजबूत आधार प्रदान करता है । और देश वासियों को कानूनी तरीके से जीवन यापन करने का मार्गदर्शन करता है ।

Share:

World Milk Day Drink Milk and increase your immune system



अपने जीवन मे हर इंसान स्वस्थ और तंदरुस्त रहना चाहता है उसके लिए वह अपने प्रतिदिन लिए गए आहार मे ऐसे पोषक तत्व युक्त भोजन खाता है जो उसे स्वस्थ रहने और रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करें क्यूंकि अच्छा और स्वक्छ भोजन ही इंसान को एक स्वस्थ रख सकता है। ऐसे मे हमे ऐसा भोजन करना चाहिए जो स्वक्छ तो हो ही साथ ही विटामिन्स और मिनरल्स से भरपूर हो जिससे शरीर मे रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास हो ।
Share:

Whts is NRC,CAB and CAA in Hindi

Hello Friends भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है जिसकी सभ्यता इसकी संस्कृति संविधान व कानून की सरलता ही इसे दुनिया मे अपनी एक अलग पहचान बनाए रखती है । भारत सरकार देश की इस गरिमा को बरकरार रखने की भरकस प्रयास करती रहती है और बहुत हद तक देश की गरिमा एक नई उचाइयों मे पहुँच चुकी है ।
what is nrc
Share:

Bihar board 10th result 2020

अगर अपने इस साल Bihar School Examination Board यानि BSEB की परीक्षा दिया है तो Bihar 
Board जल्द ही result जारी करने वाला है । इस बार BSEB की परीक्षा मे पिछले वर्ष के मुताबिक परिणाम अच्छे आने की संभावना जताई जा रही है । इस बार Coronavirus के कारण Social Distancing का पालन करते हुये कोई भी Press Confrence नहीं की गई । कार्यालय मे ही Result घोषित की जाएगी और इसकी सूचना सभी Press मीडिया को दे दी जाएगी ।  
Share:

which Country has Zero Cases of COVID19


Hello दोस्तो वर्तमान मे पूरी दुनिया एक ऐसे मुसीबत से गुजर रही है जिसके कल्पना मात्र से रूह कांप जाती है Coronavirus (COVID19) पूरी दुनिया को अपने अगोस मे ले रखा है एक देश China से शुरू हुआ ये Virus आज विश्व के 213 Countries and Territories मे तकरीबन 46 लाख से भी ज्यादा लोगों को संक्रमित कर चुका है और 3 लाख से भी ज्यादा लोगों ने अपनी जान गवां ली है और ये आंकड़े दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रही है क्यूंकि दुनिया इससे Virus से लड़ तो रही है लेकिन इसे रोक नहीं पा रही और ये वाइरस अपना प्रसार करती ही जा रही है । दुनिया के सभी Top Doctor’s ,Scientists और मेडिकल टीम इस Virus का इलाज ढूँढने मे लगे है ताकि इसे रोका जा सके ।

Share:

How to do bike insurance online

how to do two wheeler insurance,
Hello Friends भारत मे नए यातायात नियमों मे हुये बदलाओ को आप अक्सर परेशान रहते होंगे नए यातायात नियमों के अनुसार अगर आप सड़क पर किसी वाहन के साथ चल रहे है तो आपके पास उससे जुड़ी कुछ जरूरी कागजात होने चाहिए जिसे सबसे एहम documents मे वाहन की insurance यानि गाड़ी का बीमा से जुड़ी दस्तावेज़ अतिआवश्यक Documents मे सुमार है । आइये जानते है कैसे बनाए सस्ते मे गाड़ी का insurance 

Share:

Google Birthday Celebration

Hello  Friends 27 सितम्बर को दुनिया के सबसे बड़े Search Engine Google का जन्मदिन है यानि 27 सितंबर 1998 को शुरू हुई Google 27 सितम्बर 2019 को पूरे 21 वर्ष का हो गया है,आइये जानते है गूगल के 21 साल का रोमांचक  सफर कैसा रहा।

Share:

How to apply voter ld card

How to apply voter ld card वोटर कार्ड कैसे प्राप्त करे

Hello Friends भारत मे विधानसभा Election (चुनाव) का माहौल है ऐसे मे Indians Voters वोट देने के लिए तैयार है जो लोग  पहली बार Vote दे रहे हो वो Vote देने के लिए ज्यादा उत्सुक है India मे Vote देने के लिए आपकी उम्र 18 साल  होना जरूरी है और आपका नाम Indian Voter List मे होना चाहिए । अगर आप भी पहली बार Vote दे रहे है और आपका नाम Voter List  मे नहीं है तो आइए जानते है
Share:

bihar police vacancy 2019

bihar police vacancy 2019 in hindi

Hello Friends अगर आप बिहार के मूल निवासी है और बिहार प्रसासनिक सेवा मे सेवा मे नौकरी करना चाहते है तो Bihar Police Subordinate Services Commission (BPSSC) ने बिहार पुलिस मे नौकरी तलाश रहे युवकों के लिए 2404 पदों के लिए बहाली निकली है आइये जानते है इस बहाली की पूरी जानकारी -
Share:

best Hindi quotes of atal bihari vajpayee and top poems of atal ji

best Hindi quotes of atal bihari vajpayee and top poems of atal ji


जब भी हों निराश, पढ़ें अटल जी के 5 Quotes और कविता 


दोस्तों भारत ने 16 अगस्त को जो खोया शायद उसे कभी भुला नहीं पायेगा देश का हर नागरिक उनका मुरीद था ।
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का 16 अगस्त शाम को निधन हो गया। वह दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती थे। 94 साल के अटल जी की हालत पिछले 2 दिनों से गंभीर बनी हुई थी और उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था।

अटल जी एक अच्छे राजनेता के साथ-साथ धुरंधर वक्ता भी थे। उन्होंने नेशनल से लेकर इंटरनेशनल मंचों पर हर बार अपने वक्तव्यों का लोहा मनवाया। उनके ऐसे कई Quotes हैं, जो इंसान को सोचने पर मजबूर कर देते हैं, साथ ही निराशा में प्रेरणा का काम करते हैं। आइए आपको बताते हैं अटल बिहारी वाजपेयी के ऐसे ही 5 प्रेरणादायक Quotes-
  • 1.     छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता
  • 2.     हम यूं ही अपने कीमती संसाधनों को युद्धों में बर्बाद कर रहे हैं, अगर युद्ध करना ही है तो बेरोजगारी, बीमारी, गरीबी और पिछड़ेपन से करना चाहिए
  • 3.     आप मित्र बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं'
  • 4.     हमारी परेशानी कोई बंदूक नहीं बल्कि केवल भाईचारा ही खत्म कर सकता है .
  • 5.     कठिन परिश्रम कभी थकान नहीं लाता,वह संतोष लाता है

भारत रत्न अटल जी भले ही हमारे बीच नहीं रहें लेकिन उनके द्वारा लिखी कविता और भारतीय राजनीति में उनका योगदान हमेशा याद रहेगा 

अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा लिखी कुछ बेहतरीन कविता 

राह कौन सी जाऊँ मैं?

चौराहे पर लुटता चीर
प्यादे से पिट गया वजीर
चलूँ आखिरी चाल कि बाजी छोड़ विरक्ति सजाऊँ?
राह कौन सी जाऊँ मैं?

सपना जन्मा और मर गया
मधु ऋतु में ही बाग झर गया
तिनके टूटे हुये बटोरूँ या नवसृष्टि सजाऊँ मैं?
राह कौन सी जाऊँ मैं?

दो दिन मिले उधार में
घाटों के व्यापार में
क्षण-क्षण का हिसाब लूँ या निधि शेष लुटाऊँ मैं?

राह कौन सी जाऊँ मैं ?


दूध में दरार पड़ गई

ख़ून क्यों सफ़ेद हो गया?
भेद में अभेद खो गया।
बँट गये शहीद, गीत कट गए,
कलेजे में कटार दड़ गई।
दूध में दरार पड़ गई।

खेतों में बारूदी गंध,
टूट गये नानक के छंद
सतलुज सहम उठी, व्यथित सी बितस्ता है।
वसंत से बहार झड़ गई
दूध में दरार पड़ गई।


आओ फिर से दिया जलाएँ

अपनी ही छाया से बैर,
गले लगने लगे हैं ग़ैर,
ख़ुदकुशी का रास्ता, तुम्हें वतन का वास्ता।
बात बनाएँ, बिगड़ गई।

दूध में दरार पड़ गई।

आओ फिर से दिया जलाएँ
भरी दुपहरी में अँधियारा
सूरज परछाई से हारा
अंतरतम का नेह निचोड़ें-
बुझी हुई बाती सुलगाएँ।
आओ फिर से दिया जलाएँ

हम पड़ाव को समझे मंज़िल
लक्ष्य हुआ आँखों से ओझल
वर्त्तमान के मोहजाल में-
आने वाला कल न भुलाएँ।
आओ फिर से दिया जलाएँ।

आहुति बाकी यज्ञ अधूरा
अपनों के विघ्नों ने घेरा
अंतिम जय का वज़्र बनाने-
नव दधीचि हड्डियाँ गलाएँ।

आओ फिर से दिया जलाएँ

गीत नया गाता हूँ।

गीत नया गाता हूँ
टूटे हुए तारों से फूटे बासंती स्वर ,
पत्थर की छाती में उग आया नव अंकुर,
झरे सब पीले पात,
कोयल की कूक रात,
प्राची में अरुणिमा की रेख देख पाता हूं।
गीत नया गाता हूँ।
टूटे हुए सपनों की सुने कौन सिसकी?
अंतर को चीर व्यथा पलकों पर ठिठकी।
हार नहीं मानूँगा,
रार नहीं ठानूँगा,
काल के कपाल पर लिखता मिटाता हूँ।

गीत नया गाता हूँ।

गीत नहीं गाता हूँ।

गीत नहीं गाता हूँ
बेनकाब चेहरे हैं,
दाग बड़े गहरे है,
टूटता तिलस्म , आज सच से भय खाता हूँ।
गीत नहीं गाता हूँ।
लगी कुछ ऐसी नज़र,
बिखरा शीशे सा शहर,
अपनों के मेले में मीत नहीं पाता हूँ।
गीत नहीं गाता हूँ।
पीठ में छुरी सा चाँद,
राहु गया रेख फाँद,
मुक्ति के क्षणों में बार बार बंध जाता हूँ।

गीत नहीं गाता हूँ।

Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here

Like our Entertainment Page -  Thik HaiClick Here

Our Job Panel - Job Panel - Click Here

आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in


Share on whatsapp
Share:

Article 371 in Hindi What is Article 371 ?

Article 371 in Hindi
Hello friends आप तो जानते ही है की भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 और अनुच्छेद 35A को निरस्त कर दिया है ,ऐसे मे अब अगर आप जम्मू कश्मीर मे खुद की जमीन खरीदना चाह रहे है तो अब ये मुमकिन है की आप अपना आशियाना वहाँ बना सकते है जबकि धारा 370 के लागू होने के बाद भारत का कोई भी नागरिक जम्मू कश्मीर मे जमीन नहीं ले सकता था ।

लेकिन भारत मे अब भी कैसे ऐसे राज्य है जहां धारा 370 लागू नहीं है लेकिन फिर भी देश का कोई भी नागरिक इन राज्यों मे खुद की जमीन नहीं खरीद सकता है और ऐसा इसलिए है क्यूंकि इन राज्यों को विशेष राज्य का दर्जा हासिल है और यहाँ धारा 371 लागू है ।

तो आइए जानते है ऐसे कौन कौन से राज्य है? और क्या होता है विशेष राज्य का दर्जा? और जानिए क्या है धारा 371(अनुच्छेद 371) ?

Knowledge panel पे विस्तृत रूप से ये सारी जानकारी आपको दी जाएंगी अगर आपके पास इससे जुड़े कोई सवाल या सुझाव है तो comment बॉक्स मे हमे बताएं ।

धारा 371 क्या है ?
What is Article 371 ?

भारत मे कई ऐसे राज्य है जिन्हे कई विशेष अधिकार प्राप्त है जिसके तहत केंद्र सरकार उन राज्यों के विकास,सुरक्षा एवं सेवाओ आदि के लिए विशेष पैकेज एवं अनुदान देती रहती है दूसरी शब्दो मे यूं कहे की ये राज्य,केंद्र सरकार के विशेष संरक्षण मे रहती है और केंद्र सरकार ये सभी दायित्वों को भारत की सविधान के 21वें भाग मे अस्थाई रूप से लिखित अनुच्छेद 371 के तहत करती है । 


किन राज्यों मे लागू है अनुच्छेद 371 ?

भारत के 11 राज्यों मे ये धारा लागू की गई है जिसे 11 अलग अलग भागों मे बांटा गया है जिसमे अनुच्छेद 371 ,371A, 371B, 371C, 371D, 371E, 371F, 371G, 371H, 371I, 371J शामिल है । और इन राज्यों जैसे महाराष्ट्र और गुजरात नागालैंड असम आंध्र प्रदेश और तेलंगाना सिक्किम मिजोरम अरुणाचल प्रदेश गोवा कर्नाटक मे ये लागू की गई है । 


जानिए इन सभी भागों की विस्तृत जानकारी 

अनुच्छेद 371 

संविधान का अनुच्छेद 371 महाराष्ट्र और गुजरात (Maharashtrya and Gujrat) राज्य के लिए है। इसके मुताबिक इन राज्यों के राज्यपाल की यह जिम्मेदारी है कि महाराष्ट्र में विदर्भ, मराठवाडा और शेष महाराष्ट्र के लिए और गुजरात में सौराष्ट्र और कच्छ के इलाके के लिए अलग Development Board (विकास बोर्ड) बनाए जाएंगे,इन बोर्डों का काम इन इलाकों के Developments के लिए एक समान राजस्व का वितरण होगा।  साथ ही राज्य सरकार के अंतर्गत technical education (तकनीकी शिक्षा), रोजगारपरक शिक्षा और रोजगार के मौके प्रदान करने की जिम्मेदारी भी इन बोर्ड के ऊपर ही होगी। 


Click Here - जानिए क्या है अनुच्छेद 370 और 35 A 

अनुच्छेद 371A

ये अनुच्छेद भारत के नागालैंड (Nagaland) राज्य मे लागू है जिसके अनुसार नागालैंड के जमीन पर नागा वासियों का मालिकाना हक हैऔर इससे जुड़े कानून पर केंद्र सरकार का कोई हक नहीं है इसके अलावा नागालैंड के पारंपरिक नियमों ,सामाजिक और धार्मिक रीतिरिवाज,फ़ौजदारी और दीवानी न्याय व्यवस्था पर केंद्र सरकारी कोई कानून नहीं ला सकती जब तक नागालैंड के विधानसभा सदन इस पर फैसला ना सुना दे । इसी अनुच्छेद के तहत नागालैंड के तुएनसांग जिले को भी विशेष दर्जा मिला है, नागालैंड सरकार में तुएनसांग जिले के लिए एक अलग मंत्री भी बनाया जाता है,साथ ही इस जिले के लिए एक 35 सदस्यों वाली स्थानीय काउंसिल बनाई जाती है। 


अनुच्छेद 371 B 

यह अनुच्छेद असम (Assam) के लिए है,इसके मुताबिक भारत के राष्ट्रपति राज्य विधानसभा की आदिवासी इलाकों से चुन कर आए विधानसभा सदस्य समितियों के गठन कर वहाँ विकास कार्यो मे प्रेरित करेंगे जो कार्यों का सारा लेखा जोखा राष्ट्रपति को देंगे । 


अनुच्छेद 371 C

यह अनुच्छेद मणिपुर (Manipur )के लिए है, इसके मुताबिक भारत के राष्ट्रपति विधानसभा में राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों से निर्वाचित सदस्यों की एक समिति का गठन और कार्य करने की शक्ति प्रदान कर सकते हैं, और इसके काम को सुनिश्चित करने के लिए राज्यपाल को विशेष जिम्मेदारी सौंप सकते हैं। राज्यपाल को इस विषय पर हर साल एक रिपोर्ट राष्ट्रपति के पास भेजनी होती है। 


अनुच्छेद 371 D 

इस अनुच्छेद को 32वें संशोधन के बाद 1973 में जोड़ा गया जो पहले सिर्फ आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh )के लिए था, लेकिन 2014 में आंध्र प्रदेश के दो हिस्से करने के बाद ये अनुच्छेद आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के लिए लागू हुआ। इसके अंतर्गत इन राज्यों के लिए राष्ट्रपति के पास यह अधिकार होता है कि वह राज्य सरकार को आदेश दे कि किस नियुक्ति मे किस वर्ग के लोगों को नौकरी दी जाय , इसी तरह शिक्षण संस्थानों में भी राज्य के लोगों को बराबर हिस्सेदारी या आरक्षण मिलता है,राष्ट्रपति नागरिक सेवाओं से जुड़े पदों पर नियुक्ति से संबंधित मामलों को निपटाने के लिए हाईकोर्ट से अलग ट्रिब्यूनल बना सकते हैं। 


अनुच्छेद 371 E 

इसके तहत तहत केंद्र सरकार संसद में कानून बनाकर आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh ) में एक केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना करेगी। ये अनुच्छेद समय के साथ अप्रसांगिक हो गया है यानि इसे हटा दिया गया । 


अनुच्छेद 371 F 

इस अनुच्छेद को संविधान में 36वें संशोधन के बाद 1975 में जोड़ा गया  जो सिक्किम (Sikkim) राज्य के लिए लागू की गई जिसके तहत राज्य के विधानसभा के प्रतिनिधि मिलकर एक ऐसा प्रतिनिधि चुन सकते हैं जो राज्य के विभिन्न वर्गों के लोगों के अधिकारों और रुचियों का ख्याल रखेंगे,संसद विधानसभा में कुछ सीटें तय कर सकता है, जिसमें विभिन्न वर्गों के ही लोग चुनकर आएंगे,राज्यपाल के पास विशेष अधिकार होते हैं जिसके तहत वे सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए बराबर व्यवस्थाएं किए जा सकें,साथ ही राज्य के विभिन्न वर्गों के विकास के लिए प्रयास करेंगे,राज्यपाल के फैसले पर किसी भी कोर्ट में अपील नहीं की जा सकेगी। इसके अलावा भारत के सभी कानून भी सिक्किम में लागू होंगे। 


अनुच्छेद 371 G 

1986 में किए गए संविधान के 53वें संशोधन के बाद मिजोरम (Mijoram )के लिए अनुच्छेद 371 G को जोड़ा गया जिसके अंतर्गत भारतीय संसद मिजोरम विधानसभा के अनुमति के बगैर मिजोरम मे कोई भी कानून पास नहीं करवा सकती । 


अनुच्छेद 371 H 

1986 में 55वें संविधान संशोधन के बाद अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh ) के लिए यह अनुच्छेद जोड़ा गया। जिसके अनुसार अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल के पास कानून व्यवस्था से जुड़े मसलों पर मंत्रिमंडल से चर्चा करने के बाद अपने विवेकानुसार फैसले लेने का अधिकार होगा,अगर कानून व्यवस्था के किसी मुद्दे पर राज्यपाल और सरकार में मतभेद होंगे तो राज्यपाल का निर्णय ही मान्य होगा। 


अनुच्छेद 371 I 

यह अनुच्छेद गोवा (Goa) राज्य के लिए बनाया गया कानून था। गोवा आकार में बेहद छोटा था इसलिए इस अनुच्छेद के मुताबिक गोवा की विधानसभा को कम से कम 30 सदस्यों की विधानसभा बनाने का नियम बनाया गया, हालांकि ये भी समय के साथ निरस्त हो गया है।


अनुच्छेद 371 J 

2012 में संविधान में किए गए 98वें संशोधन के बाद कर्नाटक (Karnataka )के लिए यह अनुच्छेद बनाया गया। यह अनुच्छेद 371 से मिलता जुलता नियम है,इसके मुताबिक कर्नाटक में हैदराबाद-कर्नाटक के इलाके के लिए एक अलग विकास बोर्ड बनेगा जो हर साल राज्य विधानसभा को अपनी रिपोर्ट देगा। साथ ही यह विकास बोर्ड इलाके के विकास के लिए मिलने वाले राजस्व का वितरण भी समान तौर पर करेगा।  साथ ही इलाके के लोगों के लिए शिक्षा और रोजगार के समान मौके प्रदान करेगा। यह बोर्ड किसी भी सरकारी नौकरी में इस इलाके के लोगों के लिए एक अनुपात में आरक्षण की मांग भी कर सकता है और यह व्यवस्था इस इलाके में पैदा हुए लोगों के लिए ही होगी। 


Click Here - जानिए क्या हुआ कश्मीर का हाल अनुच्छेद 371 हटने के बाद  

उपर्युक्त सभी अनुच्छेद मे बताए गए कुछ नियमो को समय के साथ कुछ बदलाव भी किए गए है लेकिन भारत के उत्तर पूर्व राज्यों मे पारंपरिक रीतिरिवाजों के लिए बनाए गए नियम आज भी लागू है जहां आप वहाँ रहने वाले जनजातियों के संपत्ति और उनके अधिकारों के खिलाफ नहीं जा सकते । 

दूसरे शब्दों मे ये कहा जा सकता है की अगर आप इन राज्यों मे रहने का ख्याल बना रहें है तो आपको इन अनुच्छेदों का पालन करना होगा और आपको किराए के मकान मे ही रहना होगा क्योंकि इनमे से किसी राज्यों मे आपको जमीन नहीं मिलेगी । 


आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.



Share:

What will happen after the withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.

What will happen after the withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.

Hello friends बीते कुछ दिनों से एक मुद्दा को काफी चर्चित है वो है भारत सरकार के द्वारा जम्मू और कश्मीर से धारा 370 और 35A को हटा दिये जाने का । knowledge Panel की पिछली आर्टिक्ल मे अपने धारा 370 और 35 A के बारे मे पढ़ा होगा नहीं पढ़ा तो नीचे दिये लिंक के द्वारा आप उस पोस्ट तक जा सकते है -

इस आर्टिक्ल मे आप जानेंगे की कश्मीर से 370 और 35A के हट जाने के बाद क्या होगा। हमे उम्मीद है आप इसे पूरा जरूर पढ़ेंगे ।

भारत मे कुल 29 राज्य है और 7 केंद्रशासित राज्य है इन राज्यों मे कुछ राज्य अत्यंत पिछड़े है तो कुछ अत्यंत विकसित है । भारत के इन सभी राज्यों को विकसित बनाने के लिए भारतीय संविधान मे कई सारे नियम और कानून बनाए गए है ।


अगर वर्तमान स्थिति की बात करें तो वर्तमान मे भारत सरकार ने भारत के सबसे खूबसूरत हिस्सा जम्मू और कश्मीर मे धारा 370 हटा कर उसे पूर्णत भारत मे शामिल करने का फैसला कर लिया है और इसे केंद्रशासित राज्य बनाने की घोषणा की गई है और साथ ही साथ लद्दाख जो पहले जम्मू और कश्मीर का हिस्सा था उसे एक अलग राज्य का दर्जा देने की भी घोषणा की गई है ,इस प्रकार भारत के अब 29 राज्य और 8 केंद्रशासित राज्य हो गए है ।


जम्मू और कश्मीर से धारा 370 और 35A के हट जाने के बाद क्या होगा।
What will happen after the withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.



  • 370 को हटा कर कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलने के साथ ही भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान अब कश्मीर को अपना हिस्सा नहीं कह पाएगा। 
  • कोई special powers (खास अधिकार ) प्राप्त नहीं होंगे 
  • कश्मीर का अपना झण्डा नहीं होगा 
  • कश्मीर मे रहने वाले नागरिकों को दोहरी नागरिकता प्राप्त नहीं होगी वो अब सिर्फ भारतीय कहलाएंगे । 
  • भारत को कोई भी नागरिक अब कश्मीर मे अपनी जमीन खरीद पाएगा 
  • हिन्दू और सिखों के लिए 16% का आरक्षण लागू होगा । 
  • RTI (सूचना का अधिकार) कानून लागू होगा जिसके तहत J&K (जम्मू और कश्मीर )के नागरिक को कोई भी सरकारी और गैर सरकारी सूचना पाने का अधिकार होगा । 
  • जम्मू कश्मीर की महिला अब देश के किसी भी राज्य मे शादी कर पाएंगे । 
  • RTE (शिक्षा लेने का अधिकार) कानून लागू जिसके तहत अब J&K के बच्चे और नौजवान कहीं भी शिक्षा ले पाएंगे । 
  • पंचायत को फैसला करने का पूरा अधिकार प्राप्त होगा । 
  • देश के बढ़े निवेशक J&K मे निवेश कर सकेंगे जिससे प्रदेश का विकास होगा । 
  • विधानसभा का कार्यकाल 5 वर्षो का होगा । 
  • धारा 370 हटाने के बाद अब कश्‍मीर के लोग सिर्फ भारतीय नागरिक हैं. अगर कोई पाकिस्‍तानी भारतीय नागरिकता लेना चाहता है तो उसे पूरी प्रक्रिया से गुजरना होगा। 
  • अब जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख में भी भारत के उच्चतम न्यायालय के आदेश मान्‍य होंगे । 
withdrawal of Act 370 and 35A for Jammu and Kashmir.

आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.



Share:

Featured Post

How Create Copy Box in Blogger Post

Hello Friends अगर आप एक Blogger है तो जाहीर सी बात है आप हर रोज Post लिखते होंगे ऐसे मे कभी कभी आप अपने Readers को कुछ दिखाना चाहते होंगे जो...

Translate