Diwali Quotes in Hindi and English- Happy Diwali 2021

Hello Friends दिवाली आने वाली है हर तरफ रोशनी और खुशियों का माहौल होने वाला है । दिवाली भारत का सबसे प्रमुख त्यौहारों मे से एक है,वर्ष के अंतिम महीने सितम्बर से दिसम्बर के बीच ये त्यौहार बरे धूम धाम से पूरे भारतवर्ष मे मनाया जाता है ।


Diwali Quotes in Hindi and English- Happy Diwali 2019

 

Happy Diwali


दिवाली के शुभ मौके पर यहाँ आपके लिए कुछ बेहतरीन Quotes दिये जा रहे है आप इन्हे Copy करें Share करें और WhatsApp, Facebook, और अन्य तरीकों से आप अपने दोस्तों और करीबी रिस्तेदारों को भेज सकते है ।
Share:

Mushroom Farming Business in Bihar

mushroom farming project cost

Hello Friends भारत शुरुआत से ही किसानो का देश माना गया है प्राचीन काल से ही देश के अधिकतर लोग अपने जीवन यापन के लिए धान,बाजरा,मकई,गेहूं आदि की खेती करते आ रहे है और अच्छी ख़ासी कमाई कर रहे है लेकिन वर्तमान के देश के किसानो की स्थिति पहले जैसे नहीं रही अब वे पहले की तरह मुनाफा नहीं कमा पाते लेकिन अगर दूसरे पहलू को देखें तो वर्तमान मे खेती करने का दायरा बढ़ा है यानि खेती के अत्याधुनिक मशीनें और तकनीक ने किसानो को Hi-tech बना दिया है।
Share:

Google Knowledge Panel and Knowledge Graph kya hai

What is Google Knowledge Panel and Knowledge Graph
Hello दोस्तों, Knowledge यानि जानकारी आज की दुनिया मे हर कोई पाना चाहता है और Knowledge पाने का सबसे सरल व आसान तरीका है Internet और जब Internet की बात आती है तो Google Search Engine का नाम सबसे आगे होता है । हमे Google पर हर वो जानकारी उपलब्ध हो जाती है जो हम Internet पर Search करते है । Google अपने Users को जानकारी देने के लिए कई तरह के तरीकों का उपयोग करता है जिससे Users को एक ही जगह वो सारी Knowledge प्राप्त हो जाए जो वो Search कर रहा है । इसलिए Google ने 2012 मे Google Knowledge Panel (KP) की शुरुआत की ।
Share:

Navratri Quotes in Hindi Happy Navratri wishes

Hello friends नवरात्र प्रारम्भ होने जा रहा है इस पवित्र नौ दिन मे हिन्दू धर्म मानने वाले लोग बारे धूम धाम से माता रानी की पुजा अर्चना करते है और भक्ति भाव से नौ दिन तक माँ दुर्गा की उपासना करते है। आइये जानते है नवरात्र मे माँ दुर्गा की उपासना कैसे करें । -



Share:

Teachers day Quotes in hindi and english Happy Teachers Day 2021

Teachers day Quotes


Hello Friends 5 September का दिन पूरे भारत देश मे शिक्षक दिवस यानि Teacher's Day के रूप मनाया जाता है आज से तकरीबन 131 वर्ष पहले 5 September 1888 को भारत के दूसरे President Dr  Sarvepalli Radhakrishnan का जन्म हुआ था और इन्ही के जन्मदिवस पर हम 1962 से पूरे भारत मे शिक्षक दिवस के रूप मे मनाया जाता है इस दिन सभी छात्र अपने प्रिय Teacher को  उपहार स्वरूप भेंट देते है और उंसके आशीर्वाद लेते है । उन सभी शिक्षक और शिक्षिका को समर्पित है ये आर्टिक्ल जिसने देश को शिक्षित बनाया । 
Share:

agarbatti manufacturing business Must Read and Make Money

Hello Friends अगर आप कम बजट मे बेहतर आय वाला व्यापार करना चाहते है और अगरबत्ती बनाने का Business बेहतरीन और अच्छा माना गया है,भारत मे अलग धर्मो मे अगरबत्ती को पवित्र और शुद्ध माना गया है और शायद आपको जान कर आश्चर्य होगा की भारत मे 4000 करोड़ के अगरबत्ती का आयात दूसरे देशों से होता है जबकि इसे हम अपने घर से तैयार कर सकते है इसके लिए न ही ज्यादा खर्च आएगा और न ही अधिक जगह की जरूरत होगी, भारत सरकार भी अगरबत्ती उद्योग को बढ़ावा देने का एलान की है ।

अगरबत्ती का बिज़नस 

कम खर्च बेहतर मुनाफा 

business of Incense Sticks

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा Ministry of Micro, Small & Medium Enterprises (MSME)  मंत्री नितिन गडकरी ने भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के राष्ट्रीय सम्मेलन शुक्रवार को में कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्योग (एमएसएमई) क्षेत्र में कॉरपोरेट एवं निजी कंपनियों के प्रवेश पर प्रतिबंध हटा दिया गया है। इससे 700 MSME क्लस्टर के निर्माण का रास्ता साफ होगा और आयात पर निर्भरता कम होगी। साथ ही रोजगार भी बढ़ेगा।

उन्होंने कहा कि उदाहरण के लिए हम 4,000 करोड़ रुपये की अगरबत्तियों का आयात करते हैं जबकि उन्हें यहीं बनाया जा सकता है। इसके लिए निर्यात संवर्धन करने की जरूरत है और यह एमएसएमई क्षेत्र को आगे बढ़ाने में मदद कर सकता है।

ये बिज़नस दिखने और सुनने मे काफि छोटा और कम मुनाफा वाला लगता है लेकिन ये भी जान लें की इसका भविष्य कभी खत्म नहीं होगा भविष्य मे धार्मिक और अन्य कार्यों के लिए लोग अगरबत्ती का उपयोग ज्यादा करेंगे । 

आइये जानते है कैसे करे अगरबत्ती के कारोबार की शुरुआत 


शुरुआत करने के लिए आपको अगरबत्ती बनाने के मशीन खरीदनी होगी जिसकी कीमत 35000 से 175000 रुपए तक होती है जिसमे एक मिनट मे 150 से 200 अगरबत्ती बनाई जा सकती है।

अगरबत्ती बनाने के लिए Mixture machine,Dryer Machine और Production Machine की जरूरत होती है जिसमे Mixture Machine के द्वारा कच्चे माल को अच्छे मिलकर एक पेस्ट तैयार की जाती है और Production Machine के द्वारा इसे बांस के स्टिक मे लपेटकर तैयार की जाती है फिर उसे Dryer machine के द्वारा सुखाया जाता है

अगरबत्ती बनाने की मशीन सेमी और पूरी ऑटोमेटिक भी होती है। अगरबत्ती बनाने वाली ऑटोमैटिक मशीन से काम स्टार्ट करें क्योंकि ये बहुत तेजी से अगरबत्ती बनाती है। ऑटोमैटिक मशीन की कीमत 90000 से 175000 रुपए तक है। एक ऑटोमैटिक मशीन एक दिन में 100 kg अगरबत्ती बन जाती है। मशीन का चुनाव करने के बाद इंस्टॉलेशन के बजट के हिसाब से मशीनों के सप्लायर से डील करें और इंस्टॉलेशन करवाएं. मशीनों पर काम करने की ट्रेनिंग लेना भी आवश्यक है।


अगरबत्ती बनाने के लिए किन किन समीग्रियों की जरूरत पड़ेगी 

अगरबत्ती बनाने के लिए सामग्री में गम पाउडर, चारकोल पाउडर, बांस, नर्गिस पाउडर, खुशबूदार तेल, पानी, सेंट, फूलों की पंखुडिय़ां, चंदन की लड़की, जिलेटिन पेपर, शॉ डस्ट, पैकिंग मटीरियल आदि शामिल हैं।


कहाँ से खरीदे ये सारे सामिग्री ?

ऊपर बताए गए सभी सामग्री को खरीदने के लिए आप किसी अच्छे स्प्लायर से संपर्क करें।अच्छे सप्लायरों की लिस्ट निकालने के लिए आप किसी अगरबत्ती उद्योग में पहले से बिजनेस करने वाले लोगों से मदद ले सकते हैं। कच्चा माल हमेशा जरूरत से थोड़ा ज्यादा मंगाए क्योंकि इसका कुछ हिस्सा वेस्टेज में भी जाता है।


कितना खर्च आयेगा इस कारोबार की शुरुआत मे ?

जिस प्रकार ऊपर बताया गया की इसके मशीन की कम से कम कीमत 35000 से 175000 रुपए तक है । लेकिन इसे आप सिर्फ मात्र 13000 मे भी शुरुआत कर सकते है जिसमे घरेलू तौर पर हाथ से अगरबत्ती निर्माण की जाएगी जिसमे समय एवं कर्मचारी अधिक खर्च होगा और अगरबत्ती का निर्माण कम होगा ।

अगर आप कम समय मे ज्यादा प्रॉडक्शन करना चाहते है तो आपको औटोमेटिक मशीन लेनी होगी जो 10 मिनट मे 100 से 150 अगरबत्ती बनाकर देगी और इसमे कर्मचारी की लागत मे भी बचत होगी ।


अगर आप औटोमेटिक मशीन लगा कर इस कारोबार की शुरुआत करना चाहते है तो मशीन ,कच्चा माल आदि का खर्च मिलकर कम से कम 5 लाख रुपए लगाने होंगे ।

कच्चे माल मे कितना खर्च आएगा आप इसका अनुमान कुछ इस प्रकार लगा सकते है यहाँ प्रति किलोग्राम कच्चे माल की दरें दी गई है


हाथ के मशीन के द्वारा अगरबत्ती बनाती महिला 

चारकोल डस्ट 1 किलो ग्राम 13 रुपये,जिगात पाउडर 1 किलो ग्राम 60 रुपए,सफ़ेद चिप्स पाउडर 1 किलो ग्राम 22 रुपए,चन्दन पाउडर 1 किलो ग्राम 35 रुपए,बांस स्टिक 1 किलो ग्राम 116 रुपए,परफ्यूम 1 पीस 400 रुपए,डीईपी 1 लीटर 135 रुपए,पेपर बॉक्स 1 दर्जन 75 रुपए,रैपिंग पेपर 1 पैकेट 35 रुपए औरकुप्पम डस्ट 1 किलो ग्राम 85 रुपए है।


आप अपने बजट और जरूरत के अनुसार इसे खरीद सकते है


Get Buyers of Raw Materials - Buy Now 

पैकिंग कैसे करेंa

अगरबत्ती धार्मिक कार्यों मे उपयोग होने वाली चीज है इसलिए आपको धार्मिक आस्था को ध्यान मे रखते हुये पैकिंग तैयार करनी होगी जो लोगों को पसंद आए और आपकी अगरबत्ती घर घर तक पहुचें
तैयार अगरबत्ती 

कैसे होगा मुनाफा

इस कारोबार मे अगर आप सालाना 30 लाख का कारोबार करते है तो आपको कम से कम 10 प्रतिशत का मुनाफा होगा जो तकरीबन 3 लाख रुपए है आपको 25 से 30 प्रतिशत का मुनाफा हो सकता है इसके लिए आपको अगरबत्ती के सुगंध पर विशेष ध्यान देना होगा क्यूंकि सुगंधित अगरबत्ती ही बाज़ारों मे ज्यादा चलती है ।

अधिक जानकारी के लिए नीचे दिये गए वीडियो पे क्लिक करें । 








आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.

Share:

History of Whatsaap A True Leader of Messenger Apps Some interesting abouts in whatsapp


WhatsApp: A True Leader of Messenger Apps

 Hello Friends वर्तमान मे Social Media दुनिया के हर कोने मे अपनी जगह बना चुका है, हर Generation के लोग अपने दैनिक जीवन मे Social Media से घिरे रहते है।

Social Media के कई सारे Platform है जैसे Facebook, Twitter, YouTube Whatsapp,Telegram, Snapchat etc जैसे कैसे सारे Platform इंसान के जीवन का हिस्सा बन चुकी है। इनमे से जो सबे ज्यादा चलन है वो है Whatsaap का और आज हम बात करेंगे इसी के बारे मे जनेगे कैसे हुई Whatsaap की शुरुआत और भी बहुत कुछ ।

ये Article हमारे Knowledge Panel के चाहिते पाठक Mr Ajit Yadav जी ने भेजा है जिन्हे Social Media के अलावे नए नए विचारों को Blogging के जरिये हम सब तक पहुंचाने का शौक रखते है तो आइये पढ़ते है Whatsaap के बारे मे कुछ रोचक और महत्वपूर्ण जानकारी ।

visit ajit kumar's blog - Blog :- https://downloadstatus.xyz

What is WhatsApp

आज के दिन WhatsApp एक ऐसा नाम है जो शायद ही किसी ने ना सुना हो। WhatsApp एक ऑनलाइन Messenger App है जो इंटरनेट की सहायता से हमारे मैसेज का आदान प्रदान करती है। वैसे तो इंटरनेट की दुनिया ऐसी बहुत सारी Apps हैं जैसे की Hike, Facebook messenger, Instagram, Line, इत्यादि परन्तु WhatsApp इनसे कहीं ज्यादा फेमस और ज्यादा प्रयोग की जाने वाली App है। यह App कई सारे ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेटफार्म के लिए उपलब्ध है जैसे की Android, IOS, Symbian, इत्यादि। आप व्हाट्सप्प को Windows OS पर ब्राउज़र में भी चला सकते हैं इसके लिए आपको अपने ब्राउज़र में web.whatsapp.com खोलना है और अपने व्हाट्सप्प अकाउंट से उसे कनेक्ट करना है।

 The Origin of the WhatsApp

व्हाट्सप्प का आविष्कार सन 2009 में Mr. Jam Koum ने किया। उस वक़्त यह अपने आप में एक अनोखी App थी। उस वक़्त लोगों के लिए SMS ही messaging का एकमात्र तरीका था और इसके लिए लोगो को pay करना पड़ता था। उस वक़्त मोबाइल कम्पनीज का SMS चार्ज भी बहुत ज्यादा हुआ करता था। इसलिए लोग जब बहुत जरूरी हुआ करता था तभी मैसेज किया करते थे। व्हाट्सप्प के आने से मैसेज करने का तरीका आसान और फ्री हुआ , इसके लिए लोगों को सिर्फ डाटा पैक की जरुरत पड़ती थी। इसलिए व्हाट्सप्प ने बहुत कम समय में बहुत सारा market acquire कर लिया और इसके users की संख्या दिन ब दिन बढ़ती गयी। आज की तारीख में व्हाट्सप्प के 2 बिलियन users हैं और अभी भी दिन ब दिन इनमे इज़ाफ़ा हो रहा है।

 Facebook Deal

अगर हम ये कहें की व्हाट्सप्प ने messenger App के एरिया में एकक्षत्र राज कर लिया है , तो ये कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। आज की तारीख में अकेले व्हाट्सप्प ने इस मार्किट का लगभग 70% एरिया acquire कर रखा है। बाकी के 30% में और सभी messenger Apps आते हैं जैसे कि Hike, Facebook messenger, Instagram, WeChat, इत्यादि।

व्हाट्सप्प की बढ़ती लोकप्रियता देख कर Facebook के मालिक Mark Zuckerberg ने Mr. Jam Koum को व्हाट्सप्प खरीदने का ऑफर दिया और यह डील 1.5 billion $ में फाइनल हुई। अब यह डील किसके लिए फायदेमंद साबित हुई यही नहीं कहा जा सकता। क्योंकि 1.5 billion $ बहुत बड़ी रकम होती है । लेकिन अगर व्हाट्सप्प की लोकप्रियता और users का ग्राफ देखें तो हम ये भी कह सकते हैं की Mark Zuckerberg के लिए ये डील फायदेमंद ही रही।

WhatsApp Features

2009 में जब व्हाट्सप्प पहली बार market में आया तब यह एक सिंपल messenger Apps था जो मैसेज के आदान प्रदान के लिए प्रयोग होता था। मगर समय के साथ साथ इसमें कई सरे फीचर्स ऐड किये गए जैसे की इमेज शेयरिंग , वीडियो शेयरिंग , व्हाट्सप्प स्टेटस अपलोड , एप्लीकेशन शेयरिंग इत्यादि। आइये आपको वाहट्सएप्प के फीचर्स के बारे में विस्तार में समझते हैं।

1.    इमेज और वीडियो शेयरिंग : व्हाट्सप्प पर आप अपने कांटेक्ट से इमेज या वीडियो शेयर कर सकते हैं। इस फीचर की सहायता से आप अपने फ़ोन में सेव इमेज या वीडियो शेयर कर सकते हैं या फिर डायरेक्ट फोटो खींच कर या वीडियो बना कर शेयर कर सकते हैं। 

2.    whatsaap status : व्हाट्सप्प स्टेटस एक ऐसा फीचर है जिसकी सहायता से आप अपनी फीलिंग्स लिख कर या इमेज और वीडियो अपलोड करके एक्सप्रेस कर सकते हैं। जब भी आप अपना स्टेटस अपडेट करते हैं तो आपके सारे कॉन्टेक्ट्स उसे देख सकते हैं और ये स्टेटस 24 घंटे तक आपके व्हाट्सप्प स्टेटस पर रहता है। अगर आप चाहते हैं की आपका स्टेटस कोई पर्टिकुलर कांटेक्ट देखे या पर्टिकुलर कांटेक्ट ना देखे तो आप अपनी स्टेटस सेटिंग्स में जाकर ये सेट कर सकते हैं।

3.    App शेयरिंग : अप्प शेयरिंग की सहायता से आप अपने फोन में इनस्टॉल किसी भी App की APK व्हाट्सप्प पर शेयर कर सकते हैं।

4.    WhatsApp Pay: WhatsApp Pay व्हाट्सप्प का सबसे लेटेस्ट फीचर्स है। इस फीचर की सहायता से आप कैशलेस ट्रांसक्शन बड़ी आसानी से कर सकते हैं। WhatsApp Pay use करने के लिए आपको सिर्फ अपना बैंक अकाउंट इसमें ऐड करना है और अपनी UPI ID बनानी है।

5.    वर्तमान मे Whatsaap अपनी Privacy Facebook के साथ Share कर रही है और अपने Users को एक notification भी दे रही है जिसे Accept करना बेहद सुरक्षित है ।

Final Words:

ये सब पढ़ने के बाद हम ये तो जरूर कह सकते हैं की messenger App के मार्किट में व्हाट्सप्प का और messenger App से कोई कम्पटीशन नहीं है। व्हाट्सप्प इन सब अप्प से बहुत आगे निकल चुका है और इसकी वजह है इसका टाइम तो टाइम अपडेट होना और नए नए फीचर्स introduce करना। तो अगर अपने अब तक व्हाट्सप्प use नहीं किया है तो अभी जाइये और फ्री messaging और फ्री Cashless Transaction का फायदा व्हाट्सप्प के साथ उठाइये।

Presented By - Knowledge Panel

Written By :- Ajit Yadav

Blog :- https://downloadstatus.xyz

Social Media :- https://www.facebook.com/jeet.yadav.127/ 

Twitter :- https://twitter.com/ajit4u1989


हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in


Share:

What is E way Bill System?

What is E way Bill System?

दोस्तो GST के बाद सरकार ने देश मे नया बिल लागू किया है जिसे E- Way Bill का नाम दिया गया है आइये आज हम चर्चा करेंगे की क्या है ये E-Way Bill

दोस्तो Knowledge Panel समय समय पर आपको कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण जानकारी देता रहता है इसलिए आप सभी से अनुरोध है की हमारे हर लेख पर अपना सुझाव जरूर दे ताकि हम आपके लिए बेहतर जानकारी ला सकें । 

दोस्तो E-Way Bill System पूरे भारत के कुछ राज्यो मे 1 अप्रेल से लागू हो गया है तो आइये जानते है इसकी पूरी बारीकी को-



E-Way Bill System क्या है?

अगर कोई व्यापारी या अन्य व्यक्ति 50000 ( पचास हजार ) से अधिक के कीमत के समान का सप्लाई दूसरे या अपने ही राज्यो मे करता है तो उसे E–way Bill बनाना होगा ।

दोस्तो समझने वाली वाली बात ये है की आपका समान चाहे वो जीएसटी के दायरे मे आए या ना आए अगर कीमत 50000 से ज्यादा है तो E – Way Bill की जरूरत जरूर पड़ेगी ।




कब से और कहाँ कहाँ लागू होगी E-Way Bill ?

शुरुआत मे ये भारत के 5 राज्यो मे लागू की गई है जिसमे आंध्र प्रदेश, गुजरात, केरल, तेलंगाना और उत्त5र प्रदेश मे इंट्रा-स्टेट (Intra State) ई-वे बिल सिस्टतम लागू हो गया है। अब इन राज्यों में 50 हजार रुपए से अधिक कीमत के Goods (समान) की सप्लाई राज्य के अंदर भी करने पर ई-वे बिल बनाना होगा अभी तक इंट्रा-स्टे ट ई-वे बिल सिस्टम केवल कर्नाटक में लागू था।


क्या है इंटर स्टेट (Inter State) और इंट्रा स्टेट (Intra State) ई-वे बिल ?

राज्य के अंदर ही स्टॉक ट्रांसपोर्ट करने के लिए इंट्रा स्टेट ई-वे बिल बनेगा, जबकि एक राज्य से दूसरे राज्य में स्टॉक भेजने या मंगाने के लिए इंटर स्टेट ई-वे बिल बनेगा।

सरकार ने बिल जेनरेशन आसान हो उसके लिए इंटर स्टेट और इंट्रा स्टेट बिल बनाने के फार्मेट में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है। कारोबारी को केवल इंट्रा स्टेट बिल बनाते समय केवल दूरी को बदलना होगा। इसके पहले इंटर स्टेट ई-वे बिल एक अप्रैल 2018 से सरकार लागू कर चुकी है।

इंट्रा स्टेट( Intra State) ई-वे बिल किसे है बनाना?

इंट्रा स्टेट ई-वे बिल 50 हजार रुपए से ज्यासदा का सामान ले जाने वाले अनरजिस्टर्ड कारोबारी, रजिस्टर्ड कारोबारी, डीलर्स और ट्रांसपोर्टर्स को जेनरेट करना होगा।

कहाँ करे E –way Bill का registration ?

आंध्र प्रदेश, गुजरात, केरल, तेलंगाना और उत्त?र प्रदेश राज्योंा के कारोबारी, डीलर, इंडस्ट्री  और ट्रान्स्पोर्टर्स के लिए इंट्रा स्टेट ई-वे बिल के तहत रजिस्ट्रे शन की प्रोसेस शुरू हो चुका है। वे ई-वे बिल पोर्टल https://www.ewaybillgst.gov.in पर जाकर रजिस्ट्रे शन या इनरॉलमेंट करा सकते हैं।

ई-वे बिल की वेबसाइट https://www.ewaybillgst.gov.in पर ही इंट्रा स्टेट ई-वे बिल जेनरेट होगा। इंट्रा स्टेट ई-वे बिल के लिए वही फॉर्म भरना होगा जो इंटर स्टेट ई-वे बिल के लिए भरते हैं। बस डेस्टिनेशन की दूरी और पहुंचाने का टाइम पीरियड कम हो जाएगा। ई-वे बिल जेनरेट करने का तरीका इंटर स्टेट ई-वे बिल की ही तरह होगा। इंटर स्टेट ई-वे बिल की तरह इंट्रा स्टेट ई-वे बिल में इन्वॉइस जेनरेट करने के बाद ट्रांसपोर्ट बिल और फिर ई-वे बिल बनाना होगा।


Unregistered Business Man को भी करना होगा Registration,कैसे? 

जिन कारोबारियों का टर्नओवर 20 लाख रुपए से कम है और जिन्होंने जीएसटी में रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है। अगर वह 50 हजार रुपए से अधिक के गुड्स को राज्य के अंदर सप्लाई करते हैं तो उन्हें भी ई-वे बिल बनाना होगा। इंट्रा स्टेट ई-वे बिल में अनरजिस्टर्ड डीलर को एनरॉलमेंट फॉर्म भरना होगा जिसके बाद उनका रजिस्ट्रेशन होगा। ये फॉर्म ई-वे बिल की वेबसाइट पर है और उन्हें रजिस्ट्रेशन के दौरान ये फॉर्म भरना होगा।


कितनी अवधि के लिए वैलिड होता है यह E – Way Bill ?

यह बिल बनने के बाद कितने दिनों के लिए वैलिड होता है, यह भी निर्धारित है। अगर किसी गुड्स (वस्तु) का मूवमेंट 100 किलोमीटर तक होता है तो यह बिल सिर्फ एक दिन के लिए वैलिड (वैध) होता है।
अगर इसका मूवमेंट 100 से 300 किलोमीटर के बीच होता है तो बिल 3 दिन, 300 से 500 किलोमीटर के लिए 5 दिन, 500 से 1000 किलोमीटर के लिए 10 दिन और 1000 से ज्यादा किलोमीटर के मूवमेंट पर 15 दिन के लिए मान्य होगा।

E-Way-Bill को दरअसल, जीसटी पोर्टल पर पर GST INS-1 Form के रूप में जारी किया जाता है। इसके बाद इसकी जानकारी माल के Supplier, उसके Transporter और Receiver को हो जाएगी



दोस्तो अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो Like, Comment, Subscribe और share करना न भूले इससे हमे और भी बेहतर आर्टिक्ल लिखने की प्रेरणा मिलेगी । 


Share:

Featured Post

Who is the person Behind the Railways Stations Announcements

दोस्तो आप Knowledge Panel  मे आज आप जानेंगे एक ऐसे Indians के बारे मे जिसके बारे मे आपको इंटरनेट पे बहुत कम ही जानकारी मिलेगी । ...

Translate