agarbatti manufacturing business Must Read and Make Money

Hello Friends अगर आप कम बजट मे बेहतर आय वाला व्यापार करना चाहते है और अगरबत्ती बनाने का Business बेहतरीन और अच्छा माना गया है,भारत मे अलग धर्मो मे अगरबत्ती को पवित्र और शुद्ध माना गया है और शायद आपको जान कर आश्चर्य होगा की भारत मे 4000 करोड़ के अगरबत्ती का आयात दूसरे देशों से होता है जबकि इसे हम अपने घर से तैयार कर सकते है इसके लिए न ही ज्यादा खर्च आएगा और न ही अधिक जगह की जरूरत होगी, भारत सरकार भी अगरबत्ती उद्योग को बढ़ावा देने का एलान की है ।

अगरबत्ती का बिज़नस 

कम खर्च बेहतर मुनाफा 

business of Incense Sticks

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा Ministry of Micro, Small & Medium Enterprises (MSME)  मंत्री नितिन गडकरी ने भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के राष्ट्रीय सम्मेलन शुक्रवार को में कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्योग (एमएसएमई) क्षेत्र में कॉरपोरेट एवं निजी कंपनियों के प्रवेश पर प्रतिबंध हटा दिया गया है। इससे 700 MSME क्लस्टर के निर्माण का रास्ता साफ होगा और आयात पर निर्भरता कम होगी। साथ ही रोजगार भी बढ़ेगा।

उन्होंने कहा कि उदाहरण के लिए हम 4,000 करोड़ रुपये की अगरबत्तियों का आयात करते हैं जबकि उन्हें यहीं बनाया जा सकता है। इसके लिए निर्यात संवर्धन करने की जरूरत है और यह एमएसएमई क्षेत्र को आगे बढ़ाने में मदद कर सकता है।

ये बिज़नस दिखने और सुनने मे काफि छोटा और कम मुनाफा वाला लगता है लेकिन ये भी जान लें की इसका भविष्य कभी खत्म नहीं होगा भविष्य मे धार्मिक और अन्य कार्यों के लिए लोग अगरबत्ती का उपयोग ज्यादा करेंगे । 

आइये जानते है कैसे करे अगरबत्ती के कारोबार की शुरुआत 


शुरुआत करने के लिए आपको अगरबत्ती बनाने के मशीन खरीदनी होगी जिसकी कीमत 35000 से 175000 रुपए तक होती है जिसमे एक मिनट मे 150 से 200 अगरबत्ती बनाई जा सकती है।

अगरबत्ती बनाने के लिए Mixture machine,Dryer Machine और Production Machine की जरूरत होती है जिसमे Mixture Machine के द्वारा कच्चे माल को अच्छे मिलकर एक पेस्ट तैयार की जाती है और Production Machine के द्वारा इसे बांस के स्टिक मे लपेटकर तैयार की जाती है फिर उसे Dryer machine के द्वारा सुखाया जाता है

अगरबत्ती बनाने की मशीन सेमी और पूरी ऑटोमेटिक भी होती है। अगरबत्ती बनाने वाली ऑटोमैटिक मशीन से काम स्टार्ट करें क्योंकि ये बहुत तेजी से अगरबत्ती बनाती है। ऑटोमैटिक मशीन की कीमत 90000 से 175000 रुपए तक है। एक ऑटोमैटिक मशीन एक दिन में 100 kg अगरबत्ती बन जाती है। मशीन का चुनाव करने के बाद इंस्टॉलेशन के बजट के हिसाब से मशीनों के सप्लायर से डील करें और इंस्टॉलेशन करवाएं. मशीनों पर काम करने की ट्रेनिंग लेना भी आवश्यक है।


अगरबत्ती बनाने के लिए किन किन समीग्रियों की जरूरत पड़ेगी 

अगरबत्ती बनाने के लिए सामग्री में गम पाउडर, चारकोल पाउडर, बांस, नर्गिस पाउडर, खुशबूदार तेल, पानी, सेंट, फूलों की पंखुडिय़ां, चंदन की लड़की, जिलेटिन पेपर, शॉ डस्ट, पैकिंग मटीरियल आदि शामिल हैं।


कहाँ से खरीदे ये सारे सामिग्री ?

ऊपर बताए गए सभी सामग्री को खरीदने के लिए आप किसी अच्छे स्प्लायर से संपर्क करें।अच्छे सप्लायरों की लिस्ट निकालने के लिए आप किसी अगरबत्ती उद्योग में पहले से बिजनेस करने वाले लोगों से मदद ले सकते हैं। कच्चा माल हमेशा जरूरत से थोड़ा ज्यादा मंगाए क्योंकि इसका कुछ हिस्सा वेस्टेज में भी जाता है।


कितना खर्च आयेगा इस कारोबार की शुरुआत मे ?

जिस प्रकार ऊपर बताया गया की इसके मशीन की कम से कम कीमत 35000 से 175000 रुपए तक है । लेकिन इसे आप सिर्फ मात्र 13000 मे भी शुरुआत कर सकते है जिसमे घरेलू तौर पर हाथ से अगरबत्ती निर्माण की जाएगी जिसमे समय एवं कर्मचारी अधिक खर्च होगा और अगरबत्ती का निर्माण कम होगा ।

अगर आप कम समय मे ज्यादा प्रॉडक्शन करना चाहते है तो आपको औटोमेटिक मशीन लेनी होगी जो 10 मिनट मे 100 से 150 अगरबत्ती बनाकर देगी और इसमे कर्मचारी की लागत मे भी बचत होगी ।


अगर आप औटोमेटिक मशीन लगा कर इस कारोबार की शुरुआत करना चाहते है तो मशीन ,कच्चा माल आदि का खर्च मिलकर कम से कम 5 लाख रुपए लगाने होंगे ।

कच्चे माल मे कितना खर्च आएगा आप इसका अनुमान कुछ इस प्रकार लगा सकते है यहाँ प्रति किलोग्राम कच्चे माल की दरें दी गई है


हाथ के मशीन के द्वारा अगरबत्ती बनाती महिला 

चारकोल डस्ट 1 किलो ग्राम 13 रुपये,जिगात पाउडर 1 किलो ग्राम 60 रुपए,सफ़ेद चिप्स पाउडर 1 किलो ग्राम 22 रुपए,चन्दन पाउडर 1 किलो ग्राम 35 रुपए,बांस स्टिक 1 किलो ग्राम 116 रुपए,परफ्यूम 1 पीस 400 रुपए,डीईपी 1 लीटर 135 रुपए,पेपर बॉक्स 1 दर्जन 75 रुपए,रैपिंग पेपर 1 पैकेट 35 रुपए औरकुप्पम डस्ट 1 किलो ग्राम 85 रुपए है।


आप अपने बजट और जरूरत के अनुसार इसे खरीद सकते है


Get Buyers of Raw Materials - Buy Now 

पैकिंग कैसे करेंa

अगरबत्ती धार्मिक कार्यों मे उपयोग होने वाली चीज है इसलिए आपको धार्मिक आस्था को ध्यान मे रखते हुये पैकिंग तैयार करनी होगी जो लोगों को पसंद आए और आपकी अगरबत्ती घर घर तक पहुचें
तैयार अगरबत्ती 

कैसे होगा मुनाफा

इस कारोबार मे अगर आप सालाना 30 लाख का कारोबार करते है तो आपको कम से कम 10 प्रतिशत का मुनाफा होगा जो तकरीबन 3 लाख रुपए है आपको 25 से 30 प्रतिशत का मुनाफा हो सकता है इसके लिए आपको अगरबत्ती के सुगंध पर विशेष ध्यान देना होगा क्यूंकि सुगंधित अगरबत्ती ही बाज़ारों मे ज्यादा चलती है ।

अधिक जानकारी के लिए नीचे दिये गए वीडियो पे क्लिक करें । 








आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.

Share:

How to create Facebook profile frame in Hindi



How to create Facebook profile frame template

Agar aap Facebook ke regular user hai to aksar apne apne friends ke Profile Photo ko ek khas design ke Frame ke andar dekha hoga.

kya aap jante hai kaise bante hai Facebook profile frame

Share:

adsense alternatives Puts Adgebra ad

adsense alternatives for new websites

adsense alternatives for new websites

Hello Friends अगर आप Internet के जरिये पैसे कमाना चाहते है तो Google Adsense के बारे मे जरूर जानते है इसके आलवे दूसरी Advertisement Service Provider है जिसका नाम है Adgebra जिसके तहत आप अपने website पे Adgebra के Add लगा के Earning कर सकते है ।

आइये जानते है कैसे आप अपने Blogger पे Adgebra के Add लगा सकते है ? 
How to setup Adgebra Add on Blogger? 
lets Start
सबसे पहले आपको Adgebra के Official Website पे जाकर कुछ Form fill करने होंगे
Website - https://www.adgebra.in/

यहाँ पे मैं आपको कुछ Snapshot दिये जा रहे है जो आपको Adgebra Registration मे मदद करेगा ।

1. Official Website पे आपको Publisher ऑप्शन Select करने के बाद Signup करना होगा 
 



2.इस लिंक पे Click करके आप Direct Signup पेज पे जा सकते है 
https://login.adgebra.in/AdgebraUI/pubsignup.do




3. इसके बाद आपको दिये गए Application फॉर्म को भर कर Submit करना होगा । 

4. Submit करने के कुछ 24 या 48 घंटे के बाद आपको Approval का Email आएगा जिसके बाद आप login करके अपने Website के detail submit करेंगे । 


5. उसके बाद प्राप्त HTML code को आप अपने Blogger Website के </body> सेक्शन के नीचे Paste करते ही आपको आपके Website पे Adgebra के Add आने लगेंगे   । 


दोस्तो google addsense के तरह Adgebra भी अच्छी ख़ासी earning देती है ।  आप अपने website पर दोनों Advertisement Services का इस्त्माल कर सकते है ।  

अगर आपके website पे  Adgebra के add नहीं आ रहे है या फिर Blogger पे Html code सेव नहीं हो रहा हो तो नीचे दिये गए लिंक पे Click करे और जाने कैसे आप Blogger पे Adgebra के Html Code डाल सकते है । 






Share:

Best mehndi Design for All Occasion and all indian festival occasion like teej ,Ganesh chaturthi etc

Best Mehndi Design 

ईद ,तीज , रक्षाबंधन सावन जैसे कई त्योहारों के खूबसूरत मौके पर महिलाओं मे मेहंदी लगाने की होड़ लगी रहती है हर त्योहारों और शादियों के मौके पर महिलाएं मेहंदी लगती है तो आइये मेहंदी के कुछ खास और खूबसूरत डिज़ाइन को अपने हाथों मे चार चाँद लगा दे ।

Best Mehndi Design
Share:

Esay way yo Fix your Pen Drive



अगर आपके पास Pen drive है तो आप इसका उपयोग अपने महत्वपूर्ण डाटा को सुरक्षित रखने और कभी कभी अपने media Player मे Music सुनने के लिए करते होंगे । लेकिन दोस्तों कुछ Pen drive ने अक्सर Errors आते रहते है तो आइये जानते है कैसे करे इसको Fix

How to Fix Pen drive Error

अगर आपके  भी Pen drive मे Data Transfer या Music Player मे Play करने के दौरान Error आता है तो आप नीचे बताए गए Steps को Follow करके Solve कर सकते है ।

Step 1

Plugin your Pen Drive

Step 2

Press Windows Button+R

Step 3

Type CMD

Step 4

Type Diskpart

Step 5

Type List Disk

Step 6

For Choose Your Pen drive Type select disk 1 or 0

(यहाँ 1 या 0 या कोई भी अंक आपको ये दिखाएगा की आपका Pen drive आपके PC या Laptop मे लगा है आप सबसे छोटे Size वाले यानि जितनी आपके Pen drive की Size होगी उस डिस्क को Choose करे लें । )

Step 7

Type Clean

Step 8

Type Create Partition Primary

Step 9

Type Select Partition 1

Step 10

Type Active

Step 11

Type Format fs=fat32 quick

इसके बाद 100 Percent पूरे होने तक Wait करे और Type करें Exit

इस तरह आप अपने Pen drive को सफलता पूर्वक उपयोग मे ला पाएंगे । 

और बेहतर समझने के लिए आप नीचे दिये गए Image की मदद ले सकते है ।



 

 

 

 

Must Read ⇩


हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in

Share:

History of Whatsaap A True Leader of Messenger Apps Some interesting abouts in whatsapp


WhatsApp: A True Leader of Messenger Apps

 Hello Friends वर्तमान मे Social Media दुनिया के हर कोने मे अपनी जगह बना चुका है, हर Generation के लोग अपने दैनिक जीवन मे Social Media से घिरे रहते है।

Social Media के कई सारे Platform है जैसे Facebook, Twitter, YouTube Whatsapp,Telegram, Snapchat etc जैसे कैसे सारे Platform इंसान के जीवन का हिस्सा बन चुकी है। इनमे से जो सबे ज्यादा चलन है वो है Whatsaap का और आज हम बात करेंगे इसी के बारे मे जनेगे कैसे हुई Whatsaap की शुरुआत और भी बहुत कुछ ।

ये Article हमारे Knowledge Panel के चाहिते पाठक Mr Ajit Yadav जी ने भेजा है जिन्हे Social Media के अलावे नए नए विचारों को Blogging के जरिये हम सब तक पहुंचाने का शौक रखते है तो आइये पढ़ते है Whatsaap के बारे मे कुछ रोचक और महत्वपूर्ण जानकारी ।

visit ajit kumar's blog - Blog :- https://downloadstatus.xyz

What is WhatsApp

आज के दिन WhatsApp एक ऐसा नाम है जो शायद ही किसी ने ना सुना हो। WhatsApp एक ऑनलाइन Messenger App है जो इंटरनेट की सहायता से हमारे मैसेज का आदान प्रदान करती है। वैसे तो इंटरनेट की दुनिया ऐसी बहुत सारी Apps हैं जैसे की Hike, Facebook messenger, Instagram, Line, इत्यादि परन्तु WhatsApp इनसे कहीं ज्यादा फेमस और ज्यादा प्रयोग की जाने वाली App है। यह App कई सारे ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेटफार्म के लिए उपलब्ध है जैसे की Android, IOS, Symbian, इत्यादि। आप व्हाट्सप्प को Windows OS पर ब्राउज़र में भी चला सकते हैं इसके लिए आपको अपने ब्राउज़र में web.whatsapp.com खोलना है और अपने व्हाट्सप्प अकाउंट से उसे कनेक्ट करना है।

 The Origin of the WhatsApp

व्हाट्सप्प का आविष्कार सन 2009 में Mr. Jam Koum ने किया। उस वक़्त यह अपने आप में एक अनोखी App थी। उस वक़्त लोगों के लिए SMS ही messaging का एकमात्र तरीका था और इसके लिए लोगो को pay करना पड़ता था। उस वक़्त मोबाइल कम्पनीज का SMS चार्ज भी बहुत ज्यादा हुआ करता था। इसलिए लोग जब बहुत जरूरी हुआ करता था तभी मैसेज किया करते थे। व्हाट्सप्प के आने से मैसेज करने का तरीका आसान और फ्री हुआ , इसके लिए लोगों को सिर्फ डाटा पैक की जरुरत पड़ती थी। इसलिए व्हाट्सप्प ने बहुत कम समय में बहुत सारा market acquire कर लिया और इसके users की संख्या दिन ब दिन बढ़ती गयी। आज की तारीख में व्हाट्सप्प के 2 बिलियन users हैं और अभी भी दिन ब दिन इनमे इज़ाफ़ा हो रहा है।

 Facebook Deal

अगर हम ये कहें की व्हाट्सप्प ने messenger App के एरिया में एकक्षत्र राज कर लिया है , तो ये कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। आज की तारीख में अकेले व्हाट्सप्प ने इस मार्किट का लगभग 70% एरिया acquire कर रखा है। बाकी के 30% में और सभी messenger Apps आते हैं जैसे कि Hike, Facebook messenger, Instagram, WeChat, इत्यादि।

व्हाट्सप्प की बढ़ती लोकप्रियता देख कर Facebook के मालिक Mark Zuckerberg ने Mr. Jam Koum को व्हाट्सप्प खरीदने का ऑफर दिया और यह डील 1.5 billion $ में फाइनल हुई। अब यह डील किसके लिए फायदेमंद साबित हुई यही नहीं कहा जा सकता। क्योंकि 1.5 billion $ बहुत बड़ी रकम होती है । लेकिन अगर व्हाट्सप्प की लोकप्रियता और users का ग्राफ देखें तो हम ये भी कह सकते हैं की Mark Zuckerberg के लिए ये डील फायदेमंद ही रही।

WhatsApp Features

2009 में जब व्हाट्सप्प पहली बार market में आया तब यह एक सिंपल messenger Apps था जो मैसेज के आदान प्रदान के लिए प्रयोग होता था। मगर समय के साथ साथ इसमें कई सरे फीचर्स ऐड किये गए जैसे की इमेज शेयरिंग , वीडियो शेयरिंग , व्हाट्सप्प स्टेटस अपलोड , एप्लीकेशन शेयरिंग इत्यादि। आइये आपको वाहट्सएप्प के फीचर्स के बारे में विस्तार में समझते हैं।

1.    इमेज और वीडियो शेयरिंग : व्हाट्सप्प पर आप अपने कांटेक्ट से इमेज या वीडियो शेयर कर सकते हैं। इस फीचर की सहायता से आप अपने फ़ोन में सेव इमेज या वीडियो शेयर कर सकते हैं या फिर डायरेक्ट फोटो खींच कर या वीडियो बना कर शेयर कर सकते हैं। 

2.    whatsaap status : व्हाट्सप्प स्टेटस एक ऐसा फीचर है जिसकी सहायता से आप अपनी फीलिंग्स लिख कर या इमेज और वीडियो अपलोड करके एक्सप्रेस कर सकते हैं। जब भी आप अपना स्टेटस अपडेट करते हैं तो आपके सारे कॉन्टेक्ट्स उसे देख सकते हैं और ये स्टेटस 24 घंटे तक आपके व्हाट्सप्प स्टेटस पर रहता है। अगर आप चाहते हैं की आपका स्टेटस कोई पर्टिकुलर कांटेक्ट देखे या पर्टिकुलर कांटेक्ट ना देखे तो आप अपनी स्टेटस सेटिंग्स में जाकर ये सेट कर सकते हैं।

3.    App शेयरिंग : अप्प शेयरिंग की सहायता से आप अपने फोन में इनस्टॉल किसी भी App की APK व्हाट्सप्प पर शेयर कर सकते हैं।

4.    WhatsApp Pay: WhatsApp Pay व्हाट्सप्प का सबसे लेटेस्ट फीचर्स है। इस फीचर की सहायता से आप कैशलेस ट्रांसक्शन बड़ी आसानी से कर सकते हैं। WhatsApp Pay use करने के लिए आपको सिर्फ अपना बैंक अकाउंट इसमें ऐड करना है और अपनी UPI ID बनानी है।

5.    वर्तमान मे Whatsaap अपनी Privacy Facebook के साथ Share कर रही है और अपने Users को एक notification भी दे रही है जिसे Accept करना बेहद सुरक्षित है ।

Final Words:

ये सब पढ़ने के बाद हम ये तो जरूर कह सकते हैं की messenger App के मार्किट में व्हाट्सप्प का और messenger App से कोई कम्पटीशन नहीं है। व्हाट्सप्प इन सब अप्प से बहुत आगे निकल चुका है और इसकी वजह है इसका टाइम तो टाइम अपडेट होना और नए नए फीचर्स introduce करना। तो अगर अपने अब तक व्हाट्सप्प use नहीं किया है तो अभी जाइये और फ्री messaging और फ्री Cashless Transaction का फायदा व्हाट्सप्प के साथ उठाइये।

Presented By - Knowledge Panel

Written By :- Ajit Yadav

Blog :- https://downloadstatus.xyz

Social Media :- https://www.facebook.com/jeet.yadav.127/ 

Twitter :- https://twitter.com/ajit4u1989


हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in


Share:

Who is the person Behind the Railways Stations Announcements


दोस्तो आप Knowledge Panel मे आज आप जानेंगे एक ऐसे Indians के बारे मे जिसके बारे मे आपको इंटरनेट पे बहुत कम ही जानकारी मिलेगी ।
अपमे से बहुत से लोगों ने भारतीय रेल(Indian Rail),मेट्रो ट्रेन (Indian Metro) से सफर अवश्य ही किया होगा और इस दौरान जब भी आप रेलवे स्टेशन या मेट्रो स्टेशन पे गए होंगे तो आपको आपके ट्रेन के स्थिति बताने के लिए स्टेशन मे बहुत ही मधुर आवाज मे आकाशवाणी (Announcements ) होती है—
In Hindi – यात्रीगण कृपया ध्यान दे गाड़ी संख्या 12431 राजधानी एक्सप्रेस प्लेटफॉर्म न 1 पर आ रही है, धन्यवाद
In English - May I have your Attention Please Train No 12431 rajdhani Express is arrived on Platform No 1, thank you

जिसे सुनकर आप जान पाते है की आपकी ट्रेन की वर्तमान स्थिति क्या है और दोस्तो ये आवाज इतनी सुरीली होती है की हर कोई इसे सुनने वाला ये जानना चाहता है की इतनी मधुर आवाज के पीछे कौन है ।

आज Knowledge Panel आपको बताएगा इस सुरीली आवाज के पीछे कौन है ।
दोस्तो हमारे देश मे 1853 से रेल यातायात(Railway Traffic System) की शुरुआत हुई और उसके बाद समय के साथ भारतीय रेल की सूरत बदलती गई। इन्ही बदलाओ मे एक था Automatic Announcement System जो समय के साथ इसकी तकनीक बदलती ।  
दोस्तो हम चर्चा कर रहे है एक ऐसे सख्स के बारे मे जिनकी मधुर आवाज आज भी सुनते है ।
Sarla Coudhary
Sarla Choudhary
इनकी आवाज का चुनाव सेंट्रल रेलवे ने 1982 मे किया उसके बाद 1986 मे इन्हे परमानेंट Voice Announcer के रूप मे रख लिया गया और 1991 मे इनके recorded वॉइस System मे नियुक्त कर लिया गया जिसे को हम सब ने 20 साल तक Railway Stations मे सुना, करीब 12 साल पहले इनहोने ने परिवारिक कारणो से railway को छोर दिया लेकिन आज भी हम इनकी मधुर आवाज को सेंट्रल रेलवे मे सुनते है ।  

आजकल ये आवाज Train Management System (TMS) के द्वारा अलग अलग तरीके से Computer द्वारा मिक्स करके Announcement की जाती है । 

दोस्तो अगर अपने कभी मेट्रो ट्रेन पर सफर किया होगा हो तो ये जरूर सुना होगा –
the Next Station Is Rajeev Chowk doors will open on the left Please mind the gap.
अगला स्टेशन राजीव चौक है दरवाजे बाई तरफ खुलेगी कृपया दरवाजे से हट कर खड़े हो । 
Female Voice मे ये मधुर आवाज की मल्लिका है Rini Simon Khanna 
Rini Simon Khanna
ये कोई और नहीं दूरदर्शन(Doordarshan) की वरिष्ठ एंकर है पूरी दिल्ली मेट्रो मे अग्रेजी भाषा मे इनकी मधुर आवाज गूँजती है दिल्ली मेट्रो ने जब 2002 मे ये सर्विस स्टार्ट किया । इन्होने ने अपने केरियर की शुरुवात दूरदर्शन से की दूरदर्शन पर ये दिव्यंगों के लिए समाचार पढ़ती थी इसके अलावा आप इनकी आवाज गणतन्त्र दिवस (Republic Day ) स्वतन्त्रता दिवस ( Independence Day ) पर भी सुन सकते है । 

Shammi Narang
दूसरी एक दमदार आवाज Male Voice मे Shammi Narang का है जो की दूरदर्शन के जानेमने एंकर है। इन्हे भारतीय Broadcast का Walter Cronkite भी कहा जाता जो दुनिया के सबसे चर्चित Broadcast Journalist है इन्होने 19 साल की उम्र मे Indian Institute of Technology से डिग्री हासिल कर ली और इन्हे United States of Information Service मे sound director की नियुक्ति भी मिल गई और इन्होने समूचे वॉइस ऑफ अमेरिका(Voice Of America) मे हिन्दी भाषा का परचम लहराया और 1982 मे इनको दूरदर्शन(Doordarshan) के साथ जुड़ गए 20 साल तक करार साइन किया । 


तो अगली बार जब आप ट्रेन मे सफर कर तो Announcement पे ध्यान जरूर दीजिएगा ।
So the next time you travel on Delhi metro, you now know who the two amazing individuals behind the Announcement are! 
ऐसे ही और भी Knowledgeable Thought and News के लिए Subscribe जरूर करे। subscribe करने के लिए Subscribe Box मे अपने Email ID डाले। Friends if want to get exciting News and Thought Please Subscribe,Share and Like my post



Share:

What is E way Bill System?

What is E way Bill System?

दोस्तो GST के बाद सरकार ने देश मे नया बिल लागू किया है जिसे E- Way Bill का नाम दिया गया है आइये आज हम चर्चा करेंगे की क्या है ये E-Way Bill

दोस्तो Knowledge Panel समय समय पर आपको कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण जानकारी देता रहता है इसलिए आप सभी से अनुरोध है की हमारे हर लेख पर अपना सुझाव जरूर दे ताकि हम आपके लिए बेहतर जानकारी ला सकें । 

दोस्तो E-Way Bill System पूरे भारत के कुछ राज्यो मे 1 अप्रेल से लागू हो गया है तो आइये जानते है इसकी पूरी बारीकी को-



E-Way Bill System क्या है?

अगर कोई व्यापारी या अन्य व्यक्ति 50000 ( पचास हजार ) से अधिक के कीमत के समान का सप्लाई दूसरे या अपने ही राज्यो मे करता है तो उसे E–way Bill बनाना होगा ।

दोस्तो समझने वाली वाली बात ये है की आपका समान चाहे वो जीएसटी के दायरे मे आए या ना आए अगर कीमत 50000 से ज्यादा है तो E – Way Bill की जरूरत जरूर पड़ेगी ।




कब से और कहाँ कहाँ लागू होगी E-Way Bill ?

शुरुआत मे ये भारत के 5 राज्यो मे लागू की गई है जिसमे आंध्र प्रदेश, गुजरात, केरल, तेलंगाना और उत्त5र प्रदेश मे इंट्रा-स्टेट (Intra State) ई-वे बिल सिस्टतम लागू हो गया है। अब इन राज्यों में 50 हजार रुपए से अधिक कीमत के Goods (समान) की सप्लाई राज्य के अंदर भी करने पर ई-वे बिल बनाना होगा अभी तक इंट्रा-स्टे ट ई-वे बिल सिस्टम केवल कर्नाटक में लागू था।


क्या है इंटर स्टेट (Inter State) और इंट्रा स्टेट (Intra State) ई-वे बिल ?

राज्य के अंदर ही स्टॉक ट्रांसपोर्ट करने के लिए इंट्रा स्टेट ई-वे बिल बनेगा, जबकि एक राज्य से दूसरे राज्य में स्टॉक भेजने या मंगाने के लिए इंटर स्टेट ई-वे बिल बनेगा।

सरकार ने बिल जेनरेशन आसान हो उसके लिए इंटर स्टेट और इंट्रा स्टेट बिल बनाने के फार्मेट में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है। कारोबारी को केवल इंट्रा स्टेट बिल बनाते समय केवल दूरी को बदलना होगा। इसके पहले इंटर स्टेट ई-वे बिल एक अप्रैल 2018 से सरकार लागू कर चुकी है।

इंट्रा स्टेट( Intra State) ई-वे बिल किसे है बनाना?

इंट्रा स्टेट ई-वे बिल 50 हजार रुपए से ज्यासदा का सामान ले जाने वाले अनरजिस्टर्ड कारोबारी, रजिस्टर्ड कारोबारी, डीलर्स और ट्रांसपोर्टर्स को जेनरेट करना होगा।

कहाँ करे E –way Bill का registration ?

आंध्र प्रदेश, गुजरात, केरल, तेलंगाना और उत्त?र प्रदेश राज्योंा के कारोबारी, डीलर, इंडस्ट्री  और ट्रान्स्पोर्टर्स के लिए इंट्रा स्टेट ई-वे बिल के तहत रजिस्ट्रे शन की प्रोसेस शुरू हो चुका है। वे ई-वे बिल पोर्टल https://www.ewaybillgst.gov.in पर जाकर रजिस्ट्रे शन या इनरॉलमेंट करा सकते हैं।

ई-वे बिल की वेबसाइट https://www.ewaybillgst.gov.in पर ही इंट्रा स्टेट ई-वे बिल जेनरेट होगा। इंट्रा स्टेट ई-वे बिल के लिए वही फॉर्म भरना होगा जो इंटर स्टेट ई-वे बिल के लिए भरते हैं। बस डेस्टिनेशन की दूरी और पहुंचाने का टाइम पीरियड कम हो जाएगा। ई-वे बिल जेनरेट करने का तरीका इंटर स्टेट ई-वे बिल की ही तरह होगा। इंटर स्टेट ई-वे बिल की तरह इंट्रा स्टेट ई-वे बिल में इन्वॉइस जेनरेट करने के बाद ट्रांसपोर्ट बिल और फिर ई-वे बिल बनाना होगा।


Unregistered Business Man को भी करना होगा Registration,कैसे? 

जिन कारोबारियों का टर्नओवर 20 लाख रुपए से कम है और जिन्होंने जीएसटी में रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है। अगर वह 50 हजार रुपए से अधिक के गुड्स को राज्य के अंदर सप्लाई करते हैं तो उन्हें भी ई-वे बिल बनाना होगा। इंट्रा स्टेट ई-वे बिल में अनरजिस्टर्ड डीलर को एनरॉलमेंट फॉर्म भरना होगा जिसके बाद उनका रजिस्ट्रेशन होगा। ये फॉर्म ई-वे बिल की वेबसाइट पर है और उन्हें रजिस्ट्रेशन के दौरान ये फॉर्म भरना होगा।


कितनी अवधि के लिए वैलिड होता है यह E – Way Bill ?

यह बिल बनने के बाद कितने दिनों के लिए वैलिड होता है, यह भी निर्धारित है। अगर किसी गुड्स (वस्तु) का मूवमेंट 100 किलोमीटर तक होता है तो यह बिल सिर्फ एक दिन के लिए वैलिड (वैध) होता है।
अगर इसका मूवमेंट 100 से 300 किलोमीटर के बीच होता है तो बिल 3 दिन, 300 से 500 किलोमीटर के लिए 5 दिन, 500 से 1000 किलोमीटर के लिए 10 दिन और 1000 से ज्यादा किलोमीटर के मूवमेंट पर 15 दिन के लिए मान्य होगा।

E-Way-Bill को दरअसल, जीसटी पोर्टल पर पर GST INS-1 Form के रूप में जारी किया जाता है। इसके बाद इसकी जानकारी माल के Supplier, उसके Transporter और Receiver को हो जाएगी



दोस्तो अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो Like, Comment, Subscribe और share करना न भूले इससे हमे और भी बेहतर आर्टिक्ल लिखने की प्रेरणा मिलेगी । 


Share:

Featured Post

Demonetization Most Painful moments of Every Indians

Demonetization most Painful moments of our life   आज पूरे चार बीत गए साल 2016 के नवंबर महीने का वो घटना भारत के इतिहास को बदल क...

Translate