Motivated Management tricks By Lord Hanuman

अगर आप एक सफल Businessman है या बनना चाहते है तो बजरंगबली को बनाए अपना Management गुरु और प्राचीन काल मे बजरंगबली के द्वारा अपनाए सूझ बुझ को अपने जीवन मे उतारे,सफलता और प्रसिद्धि दोनों आपके पास होगी ।




बजरंगबली से सीखे Management के ट्रिक्स 


 

Business Management By Lord Hanuman


बजरंगबली जिन्हे हम सब कभी बजरंगी तो कभी हनुमान के नाम से पुकारते है ऐसे ही अनेकों नाम भारतीय हिन्दू संस्कृति मे प्रचलित है । शक्ति और बुद्धि दोनों के महारथी हनुमान जी भारतीय पुराण शास्‍त्र के ऐसे देवता हैं, जो सदियों से लोगों को अपनी ओर खींचते रहे हैं। उनका आकर्षण 21वीं सदी में भी कम नहीं हुआ है।

दरअसल इस दौर में प्रभावशाली बनने के लिए Skill और Power ये 2 चीजें सबसे ज्‍यादा जरूरी हैं। भारतीय मैथॉलोजी में हनुमान जी इन दोनों चीजों के Source हैं। यही कारण है कि वह हर आयुवर्ग के लोगों को अपनी ओर खींचते हैं। क्‍योंकि किसी भी उम्र के मोड़ पर और किसी भी पेशे में आपको दोनों में से किसी ने किसी Skill की जरूरत पड़ती है।

अगर आपको अपने बिज़नस मे सफल होना है तो आपको Management और Skill इन दोनों की जरूरत पड़ेगी इन दोनों मे अगर थोड़ी भी कमी होती है तो आप एक सफल Businessman नहीं बन पाएंगे ।

हुनमान जी से आप यह Management Skill सीख सकते हैं। अपने Personal Management की बदौलत ही वह संकट मोचन कहलाते हैं। World bank की Disaster Management and Climate Change Unit के कन्‍सल्‍टेंट राजीव झा ने अपने LinkedIn Page पर हुनमान जी की मैनेजमेंट स्किल से जुड़े कुछ रोचक फैक्‍ट्स लिखे हैं।

राजीव के मुताबिक, बेस्‍ट मैनेजर बनने के लिए आपमें Command ,Competency and Communication यानी 3C और Discipline and Loyalty  यानि 1 DL का होना बहुत जरूरी है।


आइये जानते है कैसे महावीर बजरंगबली से यह फॉर्मूला सीख सकते हैं।

1. Competency

दुनिया के सबसे बड़े निवेशक वॉरेन बफे के मुताबिक, अगर आप सफलता चाहते हैं तो आपमें Circle of Competence का होना जरूरी है। बिजनेस में बाजीगर बनने का यह पहला फंडा है। जब तक आप में यह भावना नहीं होगी आप अपने Rivals यानि प्रतिद्वंदी को पीछे नहीं छोड़ पाएंगे। इसके लिए जरूरी होता है कि आप आगे बढ़कर खुद Ownership  और अपने काम को एक टाइम फ्रेम में पूरा करें। 


बजरंगबली है क्षमता के सबसे बड़े उदाहरण 

लक्ष्‍मण के लिए संजीवनी बूटी लाने की बात थी तो सबसे पहले हनुमान जी आगे आए। यही नहीं इसे लाने के लिए सिर्फ रात भर का मौका था। उन्‍होंने इस टाइम फ्रेम में यह करके दिखाया और लक्ष्मण जीवित हो गए । 


2. Communication

Microsoft के founder,Bil Gates कई मौके पर अक्सर कहते है की बिज़नस मे सफल होने के लिए आपको एक बेहतर Communicator होना जरूरी है यानि आप अपनी बातों को दूसरों तक पहुचाने मे माहिर हो यानि आपकी Communication Skill इतनी बेहतरीन हो की लोग आपके बात को आसानी से समझ कर भरोसा कर सके ।


बजरंगबली से सीखें Communication के ट्रिक्स

हनुमान जी अशोक वाटिका में माता सीता का पता लगाने गए। यहां उन्‍हें सीता माता को रामजी का संदेश देना था। हनुमान जी वहां गए और राम का संदेश देने में कामयाब रहे। अपने संदेश की प्रमाणिकता के लिए वह राम की ओर से दी गई अंगूठी भी साथ ले गए। वास्‍तव में यह Good Communication की निशानी है।




3 . Command

अगर आपको आपके काम पर कमांड नहीं है तो आप सफलता हासिल नहीं कर पाओगे,ऐसे लोग ही सुपर सक्‍सेसफुल बनते हैं, जिनकी अपने काम पर कमांड होती है।

बजरंगबली कैसे करते थे कमांड का इस्त्माल

एक कहावत है अगर आपको लंका जलानी है तो अपनी पूंछ में आज जरूर लगानी होगी। माता सीता का पता लगाने के बाद हनुमान की पूंछ में आग लगा दी गई। उन्‍होंने इसी पूंछ से लंका में आग लगा दी। लेकिन इस दौरान विभीषण का घर बचा रहा और खुद को कोई क्षति नहीं पहुंची। यही तभी संभव होता है जब आपका अपने वर्क पर कमांड हो। यह घटना Risk Management को टैकल करने का भी अच्‍छा उदाहरण है।

4. Discipline 

वॉरेन बफे के मुताबिक, इन्‍वेस्‍टमेंट में डिसिप्‍लिन ने ही उनको सफलता के इस मुकाम पर पहुंचाया। खुद की भूमिका को पहचान कर हमेशा उसके नक्शे कदम पर चलना ही सफलता है । 


बजरंगबली मे थी इसके सारे गुण 

हनुमान जी लंका गए, सीता का पता लगाया और रामजी का संदेश दिया। हालांकि उनके पास Power और competency (क्षमता) थी कि वह सीता को लेकर वापस अकेले आ सकते थे,लेकिन उन्‍होंने ऐसा नहीं किया और बस संदेशवाहक के तौर पर अपने काम को पूरे Discipline  के साथ अंजाम दिया। वास्‍तव में Powerful होने के बाद भी अपने ताकत नहीं दिखाना ही अनुशासन का सबसे बेहतरीन उदाहरण है। 

5 . Loyalty

किसी कंपनी की सफलता इस बात में निर्भर करती है कि वह अपने ग्राहकों के प्रति कितनी लॉयल है। अपने ग्राहक और कंपनी से जुड़े सभी क्लिएंट्स सजगता एवं पारदर्शिता ही बिज़नस मे सफल बना सकता है । 


बजरंगबली के व्यक्तित्व ही उनकी लोयल्टी है 

यह बात हनुमान जी के पूरे कैरेटक्‍टर से सीख सकते हैं। भगवान राम के प्रति अपनी Loyalty यानि ईमानदारी के चलते ही वह आज हिंदुओं के बीच पूजे जाते हैं। उन्‍हें सबसे बड़े भक्‍त का खिताब मिला। 

उनके कैरेटक्‍टर से आम सैनिक और Different Organisations के Professionals भी सीख सकते हैं कि किस तरह कोई किसी बड़े ओहदे पर पहुंचे बिना ही कोई कैसे नाम, सम्‍मान और प्रसिद्धि हासिल कर सकता है। जरूरी नहीं है कि वह CEO या MD बनेे। 

तो अगर आप एक सफल Businessman या फिर जीवन मे कुछ हासिल करना चाहते है तो भगवान राम के सबसे बड़े भक्त बजरंगबली के नक्शे कदम पर चले सफलता आपके साथ परछाई की तरह रहेगी । 
आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.


Share:

OnePlus 7 pro Launch in India

OnePlus 7 Pro

OnePlus 7 Pro

Hello Friends अगर आप OnePlus Brand के Smartphone के शौकीन है तो आपका इंतजार अब खत्म होने वाला है क्यूकि Company अब तक का सबसे Best OnePlus Smartphone , OnePlus 7 Pro14 May को India मे लॉंच करने वाली है ।


OnePlus 7 pro

आइये जानते है इसके Features,Price और सबकुछ जो आप जानना चाहते है ।

OnePlus 7 Pro  के Features कुछ इस प्रकार है

  • QHD+ notch-less display with a 90Hz refresh rate
  • Popup Selfie Camera
  • Triple Front Camera 48 + 16 + 8 MP Triple Rear Cameras,16 MP Front Camera with 3x zoom lens
  • 4000mAh battery with 30W Warp Charge fast charging support
  • 3G 4G 5G supported .

भारत मे OnePlus 7 Pro के तीन Variant Launch होने वाले है


  • 6GB RAM 128 GB Storage जिसकी Price 49999 है ।
  • 8GB RAM 256 GB Storage जिसकी Price 52999 है ।
  • 12GB RAM  256 GB Storage जिसकी Price 57999 है ।
  • OnePlus 7 Pro तीन अगल अगल रंगो मे उपलब्ध होगा Nebula Blue,Mirror Grey,Almond

कंपनी की ओर से कहा गया है कि यह सभी Flagship Smartphone से बेहतर होगा ।


Click Here- More Details Click This Link - OnePlus 7 Pro


आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.


Click Here - List of Best Smartphone Under 15000/-

Buy Now- OnePlus 7  Pro


Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here


Like our Entertainment Page -  Thik HaiClick Here


Our Job Panel - Job Panel - Click Here



MI Mobile Phone -MI Mobile Phones

Certified Refurbished Mobiles- Buy Old Smartphones  

High Quality Products at Low Price Best Product you never missed

Mobile Accessories at Low PriceLow price mobile accessories


Share:

What is Nipah Virus? Read and Get the Full Details in Hindi


Hello Friends आज हम एक चर्चा करेंगे आपके स्वास्थ्य के बारे मे बीते कई दिनों से हमारे देश मे एक अजीब Virus की चर्चा हो रही है और ये भी बताया जा रहा है की ये Virus जानलेवा और संक्रामक है जिसका इलाज संभव नहीं है । 

हम चर्चा कर रहे है Nipah Virus (निपाह वायरस) की आइये जानते है इसके बारे मे –



What is Nipah Virus? निपाह वायरस क्या है ?


निपाह वायरस एक ऐसा वायरस है जो जानवरों से इंसानों में फैल सकता है। यह जानवरों और इंसानों दोनों में गंभीर बीमारियों की वजह बन सकता है। इस वायरस का मुख्यय स्रोत चमगादड़ है जो फल खाते हैं। ऐसे चमगादड़ों को फ्लाइंग फोक्स के नाम से भी जाना जाता है। इस वायरस को NIV भी कहाँ जाता है । 

दक्षिण भारत के राज्य केरल के कोझिकोड़ जिले में निपाह वायरस (NIV) से लोगों के बीच डर का माहौल बना हुआ है । 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (W H O) ने चेतावनी दी है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया में निपाह वायरस ( Nipah Virus) के फैलने का सबसे अधिक खतरा है। केरल में मामले सामने आने के बाद देश में खतरे की घंटी बज चुकी है। यह बीमारी लाइलाज है। संक्रमण के बाद बीमारी को बढ़ने से नहीं रोका गया तो 24 से 48 घंटे में मरीज कोमा में जा सकता है और उसकी मौत हो सकती है। 


कैसे फैलता है संक्रमण ?


यह  संक्रमण चमगादड़ और सुअर से फैलता है। फल और सब्जी खाने वाले चमगादड़ और सुअर के जरिये निपाह वायरस तेजी से फैलता है। इसका संक्रमण जानवरों और इंसानों में एक दूसरे के बीच तेजी से फैलता है।





क्या है इसके लक्षण ?



  • धुंधला दिखना
  • चक्कर आना
  • सिर में लगातार दर्द रहना
  • सांस में तकलीफ
  • तेज बुखार

मलेशिया में इसके कारण करीब 50 फीसदी मरीजों की मौत तक हो गई थी।


कैसे करें बचाव ?



  • पेड़ से गिरे हुए फल न खाएं।
  • जानवरों के खाए जाने के निशान हों तो ऐसी सब्जियां न खरीदें।
  • जहां चमगादड़ अधिक रहते हों वहां खजूर खाने से परहेज करें।
  • संक्रमित रोगी, जानवरों के पास न जाएं।
  • मनुष्यों में, निपाह वायरस ठीक करने का एक मात्र तरीका है सही देखभाल।

क्या यह पहली बार निपाह वायरस का मामला सामने आया हैं ?

नहीं इसके पहले भी निपाह वायरस के प्रकोप कई मामले सामने आ चुके हैं। भारत, बांग्लादेश, थाईलैंड, कंबोडिया, फिलीपिन्स, मलेशिया से ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। 1998 में मलेशिया के कांपुंग सुंगई निपाह गांव के लोग पहली बार इस संक्रमण से पीड़ित हुए थे। इसलिए इसका नाम निपाह वायरस पड़ा। संक्रमित होने वाले ग्रामीण सुअर पालते थे। उसके बाद 2004 में बांग्लादेश में आया था।


NIV का इसका इलाज


रिबावायरिन (Ribayarin) नामक दवाई इस वायरस के खिलाफ प्रभावी साबित हुई है। लेकिन डॉक्टर का कहना है की इस बीमारी के लिए कोई टीका या दवा बाजार में उपलब्ध नहीं। 


दोस्तो उम्मीद है आप सही जानकारी से अवगत हो गए है इसलिए खुद को और अपने परिवारों सुरक्षित रखे। इस जानलेवा Virus से खुद को दूर रखे सतर्क रहे । 



Share:

Election commission of India 2019 Most expensive Election of the world

General Election 2019

Hello Friends भारत मे Election का माहौल है हर तरफ चुनाव की चर्चा है ये माहौल हर 5 साल मे एक बार आती है जब देश मे सभी  Voters ,Political Leaders , Political Parties , Indian Election Commission एक साथ Busy हो जाते है -

आइये जानते है कैसे होता है दुनिया के सबसे बड़े लोकतान्त्रिक देश भारत मे General Election


भारत मे कुल 90 करोड़ मतदाता है जो इस बार Loksabha Election 2019 मे शामिल होंगे जो 11 April से शुरू होकर 19 May तक कुल 6 चरणो मे 543  सीटों के लिए Election होगा और अंत मे 23 May को ये घोषित होगा कि Indians voters ने किसे दुनिया के सबसे बड़े Democratic देश का शासक चुना है - 

आइये जनके है देश मे कब और कहाँ होंगे General Election 2019 



भारत का सविधान तकरीबन 70 साल पुराना है तो दुनिया के सबसे बड़े Democratic Country,India  मे

कैसे होता है Election का आयोजन ? कितना होता है खर्च ? आइये जानते है पूरी Information - 


तकरीबन 90 करोड़ मतदाता 2019 मे होने वाले General Election मे शामिल होंगे जो 2014 मे हुए Election से ज्यादा है जाहीर है अधिक मतदाता है तो खर्च भी ज्यादा होगा । 2014 मे हुये Election को अब तक का सबड़े महंगा Election माना जाता है । जहां 1951 से 1977 तक हुये Loksabha Election का खर्च 1 रूपये से भी कम था वही 2014 मे ये बढ़ कर 46 रुपए से भी ज्यादा हो गया । 

Times of India मे छपी एक खबर के अनुसार भारत मे देश मे सबसे सस्ता Election 1957 मे हुआ जिसमे सिर्फ 10 करोड़ रुपए खर्च हुये ये देश का दूसरा Loksabha Election था । 2014 मे  हुये Election को सबसे महंगा चुनाव माना जाता है जिसमे कुल 3870 करोड़ खर्च हुये । 


अब आप सोचोगे OMG इतना खर्चा ? 


हाँ ये भी जानिए कैसे होता है इतना खर्च इस खर्च में Poling booth (मतदान केंद्र) की स्थापना, Poling Booth के कर्मचारियों और Votes की Counting करने वाले लोगों का Payments, मतदान केंद्र और मतगणना केंद्र पर लगने वाले अस्थायी टेलीफोन फैसिलिटी लगाने, पक्की स्याही और अमोनिया पेपर खरीदने का खर्च शामिल है।

अब तक चुनावों में इतना रहा है खर्च
वर्ष, खर्च (करोड़ रुपए में)
Year  Expanxes in Cr. 
1951-52 10.45
1957 5.9
1962 7.32
1967 10.8
1971 11.62
1977 23.04
1980 54.77
1984 81.51
1989 154.22
1991 359.1
1996 597.34
1998 666.22
1999 947.68
2004 1016.09
2009 1114.38
2014 3870.35


कैसे बढ़ता है Voting का खर्च ?

जैसे-जैसे आबादी बढ़ती है और वोट करने वाले लोगों की संख्या में इजाफा होता है, Election Commission को ज्यादा मतदान और मतगणना केंद्र स्थापित करने पड़ते हैं। यहां अधिक लोगों को तैनात किया जाता है। अधिक वोटिंग मशीनें व स्याही खरीदनी पड़ती है। ऐसे में Election Commission पर खर्च बढ़ता है। इन सब खर्चों को कुल मतदाताओं में बांटने पर प्रति वोटर खर्च आता है। देश में इस साल 90 करोड़ मतदाता (Voters) मतदान करेंगे। यह आंकड़ा अमेरिका, ब्राजील और इंडोनशिया की कुल आबादी से भी ज्यादा है। यह देश दुनिया के तीसरे, चौथे और पांचवे सबसे ज्यादा आबादी वाले देश हैं।

प्रति वोटर खर्च
वर्ष, खर्च   (रुपए में)
Year Rate Per Voter
1951 52, 0.6
1957 0.3
1962 0.34
1967 0.43
1971 0.42
1977 0.72
1980 1.54
1984 2.04
1989 3.09
1991 7.02
1996 10.08
1998 11
1999 15.3
2004 15.13
2009 15.54
2014 46.4

तो डालिए Vote और हिस्सा बनिए दुनिया के सबसे बड़ी लोकसभा चुनाव का 

is page ko English me padhne ke liye web page pe kahi bhi right Click kare aur choose kare Translate to English and Read to your Own Language

आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment के द्वारा जरूर बताए उम्मीद है आप तक सही जानकारी पहुच पाई । Knowledge Panel से जुड़े रहने के लिए हमारे Facebook Page को Like करे और हमारे YouTube Channel को Subscribe करे । 


Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here

Like our Entertainment Page -  Thik HaiClick Here

Our Job Panel - Job Panel - Click Here

MI Mobile Phone -MI Mobile Phones

Certified Refurbished Mobiles- Buy Old Smartphones  

High Quality Products at Low Price Best Product you never missed


Mobile Accessories at Low PriceLow price mobile accessories







Share:

Demonetization Most Painful moments of Every Indians

Demonetization Most Painful moments of Every Indians



साल 2016 के नवंबर महीने का वो घटना भारत के इतिहास को बदल कर रख दिया जिसने भारत को पूरे विश्व मे एक अलग पहचान दी । 

जी हाँ दोस्तो आज हम बात कर रहे है नोटबंदी  की,आप अपने जीवन मे कभी ये नहीं भूल पाएंगे की साल 8 नवंबर 2016 की वो रात कुछ देर के लिए ही सही आप पूरी तरह कंगाल हो गए थे । वो पल अब सायद ही कोई महसूस कर पाएगा ।

दोस्तो जरा अपने दिलो दिमाग को उस दिन की तरफ लेकर जाइए क्या कभी अपने सोचा की शाम को जो अपने पैसे कमाये वो रात को किसी काम का नहीं होगा ? 

जेब मे रखा पैसा मानो अपनी अंतिम साँसे गिन रहा हो और आपसे ये कह रहा हो की – मुझे माफ करना भाई मेरे जाने का वक़्त आ गया है। वक़्त भी इतनी दर्दनाक की आप चाह कर भी उसे आगे नहीं बढ़ा सकते । 


दोस्तो शायद हमे उस दिन ये एहसास हो गया की जेब मे रखी ये कागज का टुकड़ा कितना कीमती है। और हम ये सोचने मे मजबूर हो गए की – 

कास की इसे संभाल के सही जगह इस्त्माल किया होता तो आज ये मुझसे दूर ना जा रहा होता,

कास अगर इन कागज के टुकड़े को रिस्वत समझ कर न दिया होता तो आज ये मेरे पास होता ,

कास की इस कागज के टुकड़े को बेवजह जबर्दस्ती अपने पास न रखा होता तो आज ये मेरे पास होता ,

कास की इस कागज के टुकड़े को जमा करने के बजाए दान दे दिया होता तो आज ये मेरे पास होता ,

कास की इस कागज के टुकड़े को खर्च कर कुछ ले ही लेता तो आज ये मेरे पास होता,कम से कम दूर तो न जाता । 

दोस्तो वो दिन किसी के लिए दर्द तो किसी के लिए खुशिया लेकर आया ना लोग समझ पाये की जाऊ कहाँ और ना वो कागज का वो टुकड़ा समझ पाया की कहाँ जाऊ किस किस के पास जाऊ , जो खुद अगले ही पल अपनी खत्म होने वाला है वो क्या करे भला । वो कागज का टुकड़ा जिसे इंसान अपने सीने से लगाए रखा उसे पैसे का नाम दिया,उसे वर्षो संभाल कर रखा,प्यार दिया और आज उसे ही दूर करने मे लगा है ।

दोस्तो भारत सरकार का ये एतिहासिक फैसला किस हद तक सही था इस सवाल का सटीक उत्तर आज तक कोई नहीं दे पाया । लेकिन “ कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है “ इस कहावत को मान कर लोगो ने इस फैसले का स्वागत किया । 


नोटबंदी से फायदा हुआ या नुकसान आइये एक चर्चा करे Knowledge Panel नोटबंदी पर अपनी विचार रखेगी उम्मीद है इस पर आपके विचार जरूर आएंगे । 

दोस्तो भारत के बहुत छोटे लेकिन बहुत बड़े इकाई द्वारा मैं अपनी बात आप तक पहुंचा रहा हूँ इससे किसी को फर्क तो नहीं पड़ेगा लेकिन दोस्तो मिल कर बात करने मे मज़ा जरूर आएगा ।

दोस्तो अगर नोटबंदी से हुए फायदे की बात करे तो इसका फायदा उन लोगो को हुआ जिसने पैसे को जमा तो किया लेकिन समय रहते ही उसे खर्च कर दिया और जब नोटबंदी का वक़्त आया तो पैसे के छोटे से हिस्से को बदल कर अपना जीवन खुशियो से जीने लगे । इसके आलवे फायदा उन लोगो को भी हुआ जो नोट बंदी के बाद बैंक से पैसे बदलवाने के प्रक्रिया को अपने कमाई का जरिया बना लिए,बैंक से हजार के नोट बदलवाने के लिए गरीब और असहाय लोगो से सौ-सौ रुपया ज्यादा लेने लगे । फायदा यही नहीं रुका दोस्तो नोटबंदी मे तो बैंक कर्मचारी की भी चाँदी हो गई जो कर्मचारी महीने मे 10- 20 हजार कमाते थे वो हर रोज 10-20 हजार कमाने लगे । दोस्तो सिर्फ बैंक को ही फायदा नहीं हुआ बैंक के बाहर मेला सा लग गया जिसमे छोटे छोटे व्यापारी अपना व्यापार करने लगे कोई छोले-भटूरे की दुकान लगा ली तो कोई भुजे की दुकान। शायद दोस्तो सरकार का मकसद पूरा हो गया । फायदे तो और भी हुये दोस्तो लेकिन इससे भ्रस्टाचार खत्म नहीं हुआ आज भी लोग घुस दे रहे है ले रहे थे 100 रुपए घुस देकर भी लोग हजार रुपए बदलवा रहे थे । 


दोस्तो अब अगर बात करे नुकसान की तो नुकसान उन लोगो को हुआ जो पैसे जमा तो किए लेकिन इतना जमा कर लिए की उसे खर्च ही ना कर पाये और अंत मे वो पूरी खर्च हो गई वो जहां करोड़ो मे खेल रहे थे नोटबंदी मे 1000 निकालने के लिए बैंक बैंक भटक रहे है। बैंक कर्मचारी जो 8 घंटे काम करते थे वे अब अपना काम 12 घंटे मे भी खत्म ना कर पाये।

दोस्तो अगर हम बात करे नोटबंदी मे सरकार के मकसद की तो सरकार का एक ही मकसद था वो था भ्रस्टाचार जो शायद कम नहीं हुआ।

आखिर कैसे रोका जाए भ्रस्टाचार को ? 

दोस्तो आइये कुछ बिन्दु पर ध्यान दे । 

क्यो ना खाने पीने की छीजो की तरह ही नए नोट की भी Expiry Date तय की जाए ताकि तय समय सीमा के बाद नोट खुदबख़ुद बंद हो जाए जिससे लोग उसे वर्षो जमा करके ना रख पाये और सरकार को दुबारा ऐसा फैसला ना लेना पड़े ।

सरकार को भ्रस्टाचार रोकने के लिए सेना के जवानो जैसे एक टीम बनानी चाहिए जो सिर्फ देश के लिए अपना जीवन जीते है ।

हर विभाग जहां भ्रस्टाचार होने के संभावना ज्यादा है वो CCTV camera से लैस होनी चाहिए और उसका visual जनता के सामने होना चाहिए ।


सरकार को भारत की शिक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान देना चाहिए ताकि लोग ये समझ सके की भ्रस्टाचार को रोका कैसे जाए और कैसे इसके अर्थ को समझे ।

दोस्तो भ्रस्टाचार रोकने के उपाए तो बहुत है लेकिन इसपर अमल करना भारत सरकार की ही नहीं हम सब की भी है ।

लेकिन दोस्तो शायद इसे रोकने का इक ही उपाए मुझे लगता है वो है – नोट बदलो देश बदलेगा ,नोट की भी validity होनी चाहिए ताकि वो एक जगह ना रह पाये , देश को लोगो को Digital इंडिया को अपनाना होगा,सरकार को नई Technology विकसित करनी होगी ताकि लोग ये समझ सके की नोट ना हो तो भी लोग पैसे कमा सकते है पैसे बचा सकते है । 

Written By 


Angesh Upadhyay





दोस्तो अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो Like, Comment, Subscribe और share करना न भूले इससे हमे और भी बेहतर आर्टिक्ल लिखने की प्रेरणा मिलेगी । दोस्तो अगर आपके पास भी है कुछ रोचक कहानी , कोई मुद्दा और जरूरी जानकारी तो हमे बताए हमारी टीम आपके नाम के साथ Knowledge Panel मे Published करेगी। हमे अपना लेख ईमेल- knowledgepanel123@gmail.com


Share:

Happy Mothers Day, Mother's Day quotes

Happy Mother's Day 


दोस्तो दुनिया मे भगवान ईश्वर अल्लाह इन सबसे भी ज्यादा बड़ा दर्जा अगर किन्ही का है तो वो माँ का है।
हमारे पूरे जीवन मे उनका स्थान कोई नहीं ले सकता माँ का प्यार उनकी ममता के बदले आप चाह कर भी कुछ नहीं दे सकते है क्यू की दोस्तो उनके प्यार और ममता के बराबर दुनिया मे कोई दूसरी चीज बनी ही नहीं,जीवन मे उनका दिया ज्ञान कभी खाली नहीं जाता दोस्तो
Share:

Mother's Day kiyu Manate hai. Mother's Day Celebration

International Mother's Day 12 may

Hello friends इस खूबसूरत धरती पर ईश्वर द्वारा बनाई गई सबसे बेहतरीन बनावट मे माँ का स्थान सबसे ऊपर है क्यूंकि माँ ही इस प्रकृति का आधार है इस Nature की बनावट की शिल्पकार अगर कोई है तो वो माँ है । आइये उस माँ के सम्मान मे इस Mother's Day अपना आदर समर्पित करें धरती के शिल्पकर को ।


जानिए क्यूँ मनाते है Mother's Day

When we Celebrate Mother's Day

Mothers Day Quotes & Facts



Mother's Day धरती के हर माँ के सम्मान और पारिवारिक संबंध को मजबूत करने के पूरे दुनिया मे माया जाता है  Mother's Day दुनिया के हर देशो मे अलग अलग Date मे मनाया जाता है ज़्यादातर ये March से May के बीच मनाया जाता है ।

Mother's Day falls on different dates depending on the countries where it is celebrated. It is held on the second Sunday of May in many countries.

माना जाता है की इसकी शुरुआत पुराने ग्रीस युग मे हुई थी उस वक्त Cybele जो ग्रीक देवताओं की माँ थी उनके सम्मान के लिए उनकी पुजा अर्चना की जाती थी उस वक्त से ही मातृ पुजा और मातृ दिवस की शुरुआत हुई ।

प्राचीन रोम वासी मे भी ऐसे कई प्रथा प्रचलित थी जिसमे माताओं को उपहार दी जाती थी ।Europe और Britain जैसे देशों मे कई प्रचलित परम्पराएं हैं जहां एक Special Sunday को Motherhood and Mothers को सम्मानित किया जाता हैं जिसे Mothering Sunday कहा जाता था। Mothering Sunday लितुर्गिकल कैलेंडर का हिस्सा है, जो कई ईसाई उपाधियों और कैथोलिक कैलेंडर में लेतारे सन्डे, चौथे रविवार लेंट में वर्जिन मेरी और "Mother Church" को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता हैं।

परम्परानुसार इस दिन प्रतीकात्मक उपहार देने तथा कुछ परम्परागत महिला कार्य जैसे अन्य सदस्यों के लिए खाना बनाने और सफाई करने को प्रशंसा के संकेत के रूप में चिह्नित किया गया था।  Mother's Day कई देशों मे International Woman's Day के रूप मे 8 March को भी मनाया जाता है ।

America मे सबसे पहले 1870 मे Julia Ward Howe द्वारा उनके द्वारा लिखी पुस्तक "Mother's Day Proclamation" मे America civil War मे के दौरान युद्ध मे शांति बनाए रखने की अपील की साथ ही उन्होने समाज के राजनीति स्तर पर महिलाओं को विशेष स्थान देने की भी अपील की इसी दौरान सर्वप्रथम Mother's Day मनाया गया ।

1912 मे Anna Jarvis ने "Second Sunday in May, Mother's Day" को Trademark बनाया और Mother's Day International Association की स्थापना की ।

Mother's Day दुनिया भर मे अगल अलग तारीख मे मनय जाता है Google के अनुसार British परंपरा के मे इसे May के दूसरे और चौथे Sunday को मनाया जाता है ।

बाद में यह Dates कुछ इस तरह बदली कि वि‍भिन्न देशों में प्रचलित धर्मों की देवी के जन्मदिन या पुण्य दिवस को इस रूप में मनाया जाने लगा। जैसे Catholic countries  में Virgin Mary Day और Islamic Countries में पैगंबर मुहम्मद की बेटी फातिमा के जन्मदिन की तारीखों से इस दिन को बदल लिया गया।

अधिकांश देशों में, Mother's Day हाल ही में पालन की गयी Holidays है जो North America और Europe में विकसित हुई है। जब यह अन्य देशों और संस्कृतियों के द्वारा अपनाया गया था तब इसे दूसरा अर्थ दिया गया, जो अलग घटनाओं (धार्मिक, ऐतिहासिक या पौराणिक) से जुड़े थे और अलग-अलग तारीख या तारीखों पर मनाये जाते थे।

कुछ देशों में पहले से ही मातृत्व का सम्मान करने के लिए समारोह का आयोजन किया जाता था और उन्होंने समारोह का पालन करने के लिए अपनी स्वयं की मां को गुलनार फूल और अन्य उपहार देने के लिए छुट्टियाँ मनाई जाती थी।

इस समारोह को मनाने का अपना-अपना तौर-तरीका हैं। कुछ देशों में अगर Mother's Day के उपलक्ष्य पर अपनी मां को सम्मानित नहीं किया गया तो यह अपराध माना जाता हैं।

कुछ देशों में, यह एक छोटे से प्रसिद्ध त्योहार के रूप में मनाया जाता हैं, जो अप्रवासियों या मीडिया के अनुसार विदेशी संस्कृति (वैसे ही जैसे कि ब्रिटेन और अमेरिका में दिवाली का त्यौहार) की देन हैं।
International Mother's Day 12th May 2019

Mother's Day मनाने का धार्मिक प्रथा

Hindu धर्म मे इसे इसे "माता तीर्थ औंशी" या "Mother Pilgrimage fortnight" कहा जाता हैं हिन्दू राष्ट्र जैसे नेपाल मे इसे विशेष रूप से मनाया जाता है । 

Islam धर्म मे खासकर ईरान मे इस दिन को पैगंबर मोहम्मद की बेटी Fatima Zahar के जन्मदिवस के दिन मनाया जाता है । 

Catholic धर्म मे ये  Virgin Mary को श्रद्धांजली के रूप मे मनाया जाता है 

बौद्ध धर्म मे Mothers Day के उपलक्ष मे Ullambana (उल्लांबना) नाम का Festival मनाया जाता है जिसमे मौदगल्यायन और उसकी माँ को याद किया जाता है 


अलग अलग देशों मे किस तारीख मे मनाई जाती है Mother's Day 

Mother's Day Celebrated in Different Countries ,held on different dates. 


भारत (India)
वर्तमान मे भारत मे भी Mother's Day का चलन हो गया है जो पहले के मुक़ाबले बढ़ा है जो हर साल May के दूसरे Sunday को मनाया जाता है भारतीय इसे किसी Festivals की तरह नहीं मानते लेकिन भारत के शहरी क्षेत्रों मे कुछ राज्यों मे Mother's Day मनाया जाता है । 

नेपाल (Nepal)
Mata Tirtha Aunsi  "माता तीर्थ औंशी", जिसका अनुवाद है "मदर पिल्ग्रिमेज फोर्टनाईट" ("Mother Pilgrimage New Moon") जो बैशाख के महीने के कृष्ण पक्ष में पड़ता हैं। यह त्यौहार अमावस्या के दिन होता है, इसलिए इसे "माता तीर्थ औंशी" कहते हैं। यह शब्द "माता" अर्थात् मां और "तीर्थ" अर्थात् तीर्थयात्रा शब्द से व्युत्पन्न हुआ हैं। यह त्यौहार जीवित और स्वर्गीय माताओं के स्मरणोत्सव और सम्मान में मनाया जाता है, जिसमें जीवित माताओं को उपहार दिया जाता हैं तथा स्वर्गीय माताओं का स्मरण किया जाता हैं। नेपाल की परंपरा में माता तीर्थ की तीर्थयात्रा पर जाना प्रचलित हैं जो काठमांडू घाटी के माता तीर्थ ग्राम विकास समिति की परिधि के पूर्व में स्थित हैं।

इस तीर्थ यात्रा के संबंध में एक किंवदंती हैं। " प्राचीन समय में भगवान श्री कृष्ण की मां देवकी प्राकृतिक दृश्य देखने के लिए घर से बाहर निकल गयी। उन्होंने कई स्थानों का दौरा किया और घर लौटने में बहुत देर कर दी। भगवान कृष्ण अपनी मां के न लौटने पर दुखी हो गए। वे अपनी मां की तलाश में कई स्थानों पर घूमते रहे परन्तु उन्हें सफलता नहीं मिली। अंत में, जब वह "माता तीर्थ कुंड" पहुंचे तो उन्होंने देखा कि उनकी मां तालाब के फुहार में नहा रही हैं। भगवान कृष्ण अपनी मां को देख कर बहुत खुश हुए और अपनी समस्त शोकपूर्ण घटना जो उनकी माता की अनुपस्थिति में हुई थी उनके आगे कहने लगे। मां देवकी ने कृष्ण भगवान से कहा कि "ओह!बेटा कृष्णा फिर तो इस स्थान को बच्चों की उनकी स्वर्गीय माताओं से मिलने का पवित्र स्थल ही रहने दिया जाये".तब से यह किंवदंती है कि यह स्थान एक पवित्र तीर्थयात्रा बन गया हैं जहां श्रद्धालु एवं भक्तगण अपनी स्वर्गीय माताओं को श्रद्धा अर्पण करने आते हैं। साथ ही यह भी किंवदंती हैं कि एक भक्त ने अपनी मां की छवि को तालाब में देखा और उसके अंदर गिर कर उसकी मृत्यु हो गई। आज भी वहां एक छोटे से तालाब को चरों तरफ से लोहे की सिकल से बांध दिया गया हैं। पूजा करने के पश्चात तीर्थयात्री वहां पूरे दिन गाने-बजाने का संपूर्ण आनद उठाते हैं। इस किंवदंती को साबित करने का ऐसा कोई भी सबूत नहीं है। "

Bolivia 
central South America मे स्थित ये देश मे Mothers Day 27 मई को मनाया जाता हैं। इसे कोरोनिल्ला युद्ध को स्मरण करने के लिए 8 नवम्बर 1927 को कानून पारित किया गया। यह युद्ध 27 मई 1812 को उस जगह हुआ था जो अब कोचाबाम्बा का शहर कहलाता है। इस लड़ाई में, उन महिलाओं का स्पेनिश सेना द्वारा सरेआम कत्ल कर दिया गया जो देश की आजादी के लिए लड़ रही थी।

China (चीन)
चीन मे Mother's Day के चलन पूरे दुनिया मे प्रसिद्ध है जिसमे लोग अपनी माँ को Carnations (गुलनार) के फूल उपहार देते है  ये दिन गरीब माताओं के मदद करने के लिए 1997 मे तय की गई थी खासतौर पे ऐसे माताएँ जो ग्रामीण इलाकों मे रहती है । 

हाल ही के कुछ सालों में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य Li Hanqiu ने मातृ दिवस को Meng Mu , जो  Mèng Zǐ की मां थीं, की याद में कानूनी मान्यता देने के लिए हिमायत की और 100 Confucian scholars and lecturers of ethics की मदद से non-governmental organization बनाया जिसका नाम Chinese Mothers' Festival Promotion Society (चाइनिज मदर फेस्टिवल प्रोमोशन सोसाइटी) है। उन्होंने पश्चिमी उपहार Carnations (गुलनार) के बदले White Lilies देने के लिए कहा जो प्राचीन समय में चीनी महिलाओं द्वारा तब लगाया जाता था जब उनके बच्चे अपना घर छोड़कर जाते थे। अब सिर्फ कुछ छोटे शहरों के अलावा, यह एक अनौपचारिक त्यौहार रह गया है।

थाईलैंड (Thailand)
थाईलैंड में मातृत्व दिवस थाइलैंड की रानी के जन्मदिन पर मनाया जाता है।

रूस (Russia )
यहाँ Public Holiday के रूप मे Mother's Day 8 मार्च को International Women's Day के रूप मे मनाया जाता है । 

Click Here - Why we Celebrate International Women's Day

इस प्रकार ज़्यादातर देशों मे Mother's Day साल के May महीने मे दूसरे Sunday को मनाया जाता है इस साल 2019 मे भी May के Second Sunday 12 May को मनाया जा रहा है । 

इस Mother's Day आइये पढ़ते है कुछ कविता Written by Angesh Upadhyay Author of Knowledge Panel 

“  माँ,अक्सर जब दिल रहता है उदास तो अचानक होता है कुछ प्यारा सा एहसास

क्या वो एहसास तुम हो ?

जीवन मे अगर कही भटक जाऊ तो याद आती है माँ की वो बातें

जब वो प्यार से कहती थी – बेटा न करना ऐसा काम की जीवन मे भटकना पड़े

माँ की बात को काट कर उस राह पे चला जाता और अचानक गिर जाता

लेकिन तभी अचानक एक हाथ मेरे कंधे पर आता और पीछे से आवाज आती-

बेटा माना किया था न इधर मत आना । 

क्यूँ किया तूने ऐसे काम क्या तुझे नहीं आया अपनी माँ का ख्याल ,उठ बेटा चल देख तेरी माँ तेरे लिए क्या लाई है ,

तभी माँ अपने आंचल मे छुपा लेती है और कहती है बेटा यहाँ तुझे कुछ नहीं होगा "





Happy Mother's Day to You

Mother's Day Spacial Article Must Read

Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.

Like us on Facebook -  Facebook 

Subscribe on YouTube -  YouTube - 


Like our Entertainment Page -  Thik Hai



Share:

How to disable right click in blogger. Right Click kaise disable kare.

how to disable right click in blog,

Hello friends अगर आप एक Blogger है तो अपने ब्लॉग को हमेसा Protect करना चाहेंगे तो इसी Segments मे आज हम चर्चा करेंगे कैसे आप अपने Blog के Web Page मे Mouse के right Click को Disable कर सकते है । 


How to disable right click in blog

आइये कुछ Snapshot के द्वारा जानते है कैसे Disable करे Right Click को 

 Blogger  मे Layout menu मे Add Gadget मे HTML/JavaScript Choose करें । 




Choose HTML/JavaScript






Paste HTML Code given Below and Save 


<script language=javascript>
<!--
//edit by Knowledgepanel.in
var message="Please Don't Do this,Plz";
///////////////////////////////////
function clickIE4(){
if (event.button==2){
alert(message);
return false;
}
}
function clickNS4(e){
if (document.layers||document.getElementById&&!document.all){
if (e.which==2||e.which==3){
alert(message);
return false;
}
}
}
if (document.layers){
document.captureEvents(Event.MOUSEDOWN);
document.onmousedown=clickNS4;
}
else if (document.all&&!document.getElementById){
document.onmousedown=clickIE4;
}
document.oncontextmenu=new Function("alert(message);return false")
// -->
</script>

आप "Please Don't Do this,Plz"; के जगह खुद के अनुसार Message लिख सकते है 

Click and Download HTML Code 





Save करने के बाद अपने Blogging Website open करे और Right Click करे ! अपने देखा होगा Right Click करते ही web Page पे एक Pop up दिखता होगा जिसमे आपके द्वारा डाला गया Message दिखता होगा । 

आपको ये Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in


Is Process se Copy Option Hide nahi hoga so if you want to hide Copy Option Click Below this Link


Click Here - How to Disable Copying Text On Blogger Blogs




Like us on Facebook -  Facebook Click Here

Subscribe on YouTube -  YouTube - Click Here


Like our Entertainment Page -  Thik HaiClick Here


Our Job Panel - Job Panel - Click Here



MI Mobile Phone -MI Mobile Phones

Certified Refurbished Mobiles- Buy Old Smartphones  

High Quality Products at Low Price Best Product you never missed

Mobile Accessories at Low Price- Low price mobile accessories




Share:

Featured Post

How Create Copy Box in Blogger Post

Hello Friends अगर आप एक Blogger है तो जाहीर सी बात है आप हर रोज Post लिखते होंगे ऐसे मे कभी कभी आप अपने Readers को कुछ दिखाना चाहते होंगे जो...

Translate